गोवा के डेकोरेशन प्रोजेक्ट स्वीट्स तथा स्नैक्स की रही धूम

◆ एनआईआरडीपीआर ने सरस मेले की महिला कामगारों को उत्कृष्ट उघमी बनाने के लिए किया प्रेरित

शब्दवाणी समाचार, वीरवार 10 मार्च 2022, (ऐ के लाल) गौतम बुध नगर। केंद्रीय ग्रामीण विकास मंत्रालय द्वारा सेक्टर 33ए नोएडा हाट में आयोजित सरस आजीविका मेले में सभी महिला कामगारों को उत्कृष्ट उघमी बनाने के लिए प्रेरित किया गया। उसके लिए राष्ट्रीय ग्रामीण विकास एवं पंचायती राज संस्थान नें एक कार्यशाला का आयोजन किया। कार्यशाला में सभी राज्यों के स्वयं सहायता समूहों को बलिनी मिल्क प्रोड्यूसर कंपनी लिमिटेड झांसी के सीईओ डॉ ओम प्रकाश सिंह ने संबोधित किया। उन्होंने कहा कि आज से ढाई वर्ष पहले इस कंपनी की शुरुआत हुई थी, और आज इस क्षेत्र में 35000 महिला कामगार दीदियां जुड़ी है। इसी तर्ज पर सभी समूहों को अपने उत्पादों में गुणवत्ता सुधारते हुए आगे बढ़ना है। 

आप यदि व्यक्तिगत हित को हटा कर सर्वहित की बात करेंगे तो आपके समूहों से और भी महिलाएं जुड़ेंगी और आपका काम आगे बढ़ेगा। सरकार आपके साथ खड़ी है। आपको नोएडा लाने का मतलब है कि आप दुनिया को देख सकें। राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका एवं राज्य ग्रामीण आजीविका मिशन आपको सभी सुविधाएं मुहैया करा रहा है। इस अवसर पर एनडीडीबी डेरी सर्विसेज नई दिल्ली के प्रैक्टिस हेड प्लानिंग डॉ रघु मल्लेगौऱा ने कहा कि डेयरी उत्पाद में महिलाओं की अधिक भागीदारी महिला सशक्तिकरण का ही उदाहरण है। इसी तरह हमारे सभी राज्यों के समूह की महिलाएं आत्मनिर्भर बनते हुए अपने उत्पादों के स्तर को बढ़ाएं। यहां एनआईआरडीपीआर के सहायक निदेशक चिरंजी लाल कटारिया, शोध अधिकारी सुधीर कुमार सिंह, धर्मेंद्र सिंह रामगोपाल तथा सुरेश प्रसाद समेत अन्य अधिकारी व कर्मचारी उपस्थित थे।

सरस मेले में गोवा के डेकोरेशन प्रोडक्ट, स्वीट्स तथा स्नैक्स नोएडा वासियों को खूब पसंद आ रहे हैं। गोवा की स्टेट कोऑर्डिनेटर दर्शना बिलिये ने बताया कि अन्य राज्यों की ही तरह गोवा के भी अलग-अलग उत्पाद हैं। पेरनेम ब्लॉक की समीक्षा ओम सांई स्वयं सहायता समूह का संचालन करती हैं। इनके उत्पादों में डेकोर मुख्य है। जिनमें होम डेकोरेशन के विभिन्न उत्पाद शामिल हैं। हरवालेन बिचोलिक गोवा की स्मित शबन बेरेकर श्री शैर्यवन स्वयं सहायता समूह का संचालन करती हैं। इनके सभी उत्पाद सेलावुड फ्लावर्स के हैं। वही पैरनेम की ही दीपशिखा देव ब्राह्मण रस्तौली स्वयं सहायता समूह का संचालन करती हैं। 

इनके उत्पादों में गोवा की स्वीटस तथा स्नैक्स शामिल हैं। दर्शना ने बताया कि यह गोवा का चूरमा स्पेशल है। सरस मेले मैं देशभर के करीब 25 राज्यों के अलग-अलग जिलों से स्वयं सहायता समूहों का संचालन करने वाली महिलाएं पिछले लगभग 14 दिनों से अपने अपने क्षेत्र के प्रसिद्ध उत्पादों का प्रदर्शन कर रही हैं। इनके साथ ही 18 राज्यों के स्थानीय व प्रसिद्ध व्यंजनों के स्टॉल भी यहां लगे हुए हैं। जिनमें अनेकों प्रकार के व्यंजनों का लुत्फ नोएडा वासी ले रहे हैं। सरस आजीविका मेला 2022, 13 मार्च तक चलेगा।

Comments

Popular posts from this blog

सरकारी योजनाओं से संबंधित डाटा ढूंढना होगा अब आसान

रेलवे स्पोर्ट्स प्रमोशन बोर्ड ने प्रशिक्षण शिविर के लिए चयन समिति का गठन किया

शब्दवाणी समाचार पाठक संघ के सदस्यों का भव्य स्वागत हुआ और अब सबको मिलेगी एक समान शिक्षा का लांच