सैमसंग आरएंडडी इंस्टीट्यूट अब नोएडा-ग्रेटर नोएडा एक्सप्रेसवे पर

 

• 377,118 वर्ग फुट के एक नए आधुनिक कार्यालय में हुआ स्थानांतरित

• नया ऑफिस कैम्पस कैंडोर टेकस्पेस बिल्डिंग में 10 मंजिलों में फैला हुआ है

• यह कार्यस्थल हॉट डेस्किंग कॉन्सेप्ट के अनुरूप है, यह लोगों को बैठने के लिए मनचाही जगह चुनने और बेहतर तरीके से मेलजोल की सुविधा प्रदान करता है

• इस कैम्पस में एक सोशल हब, मल्टी-फोर्मेट एक्सपीरिएंशियल कैफेटेरिया, ट्रेनिंग हब, क्रेच, जिम्नेजियम, वेलनेस सेंटर, डेकेयर, बैंक/एटीएम, कैफे और रेस्टोरेंट भी हैं

शब्दवाणी समाचार शुक्रवार 29 अप्रैल 2022नोएडा। भारत के सबसे भरोसेमंद स्मार्टफोन और कंज्यूमर इलेक्ट्रॉनिक्स ब्रांड सैमसंग ने घोषणा की है कि सैमसंग आरएंडडी इंस्टीट्यूट, नोएडा (एसआरआई-एन) शहर के एक नए अत्याधुनिक कार्यालय में स्थानांतरित हो गया है। कंपनी का यह नया कार्यालय आईजीबीडी एलईईडी प्लेटिनम रेटेड कैम्पस में स्थित है। नया ऑफिस कैम्पस नोएडा-ग्रेटर नोएडा एक्सप्रेसवे पर कैंडोर टेकस्पेस बिल्डिंग की 10 मंजिलों में 377,118 वर्ग फुट जगह में फैला हुआ है। बिल्डिंग का डिजाइन इंडिया गेट से प्रेरित है। एसआरआई-एन का यह नया कार्यालय लोगों के जीवन को बेहतर बनाने वाले नए इनोवेशन और नए जमाने के समाधान पेश करने के लिए तैयार किया गया है यह नया कार्यस्थल अपने प्रभावशाली इनोवेशन के साथ युवा भारत की अगली पीढ़ी को सशक्त बनाने के सैमसंग के दृष्टिकोण #PoweringDigitalIndia के प्रति कंपनी की प्रतिबद्धता को और भी मजबूती प्रदान करता है।

श्री केवाई रू, मैनेजिंग डायरेक्टर, सैमसंग आरएंडडी इंस्टीट्यूट, नोएडा ने कहा, “हम सैमसंग आरएंडडी इंस्टीट्यूट, नोएडा के लिए नए स्थान की घोषणा करते हुए बेहद खुश हैं। नया कार्यालय एक सुरक्षित और सर्वसुविधायुक्त कार्यस्थल बनाने का एक प्रयास है जो प्रत्येक व्यक्ति को नया करने और नया निर्मित करने के लिए प्रेरित करता है। व्यक्ति, उत्कृष्टता और सह-समृद्धि के हमारे मूल सिद्धान्त को ध्यान में रखते हुए, नया कार्यालय नई पीढ़ी के उत्पादों और समाधानों प्रस्तुत करने के लिए एक सही वातावरण और अवसर प्रदान करेगा।

Comments

Popular posts from this blog

सरकारी योजनाओं से संबंधित डाटा ढूंढना होगा अब आसान

शब्दवाणी समाचार पाठक संघ के सदस्यों का भव्य स्वागत हुआ और अब सबको मिलेगी एक समान शिक्षा का लांच

उप श्रम आयुक्त द्वारा लिखित में मांगों पर सहमति दिए जाने के बाद ट्रेड यूनियनों ने समाप्त किया धरन : गंगेश्वर दत्त शर्मा