एमजी मोटर इंडिया की बीपीसीएल के साथ साझेदारी

 

◆ ईवी चार्जिंग इकोसिस्टम को मजबूत करने के लिए आए साथ

शब्दवाणी समाचार बुधवार 27 अप्रैल 2022, मुंबई। एमजी मोटर इंडिया ने संवहनीयता और हरित परिवहन को लेकर अपनी प्रतिबद्धता जारी रखते हुए, “महारत्न” फोर्ब्स ग्लोबल 2000 और फॉर्च्यून ग्लोबल 500 कंपनी भारत पेट्रोलियम कॉरपोरेशन लिमिटेड (बीपीसीएल) के साथ साझेदारी की है। इससे देश में इलेक्ट्रिक वाहनों (ईवी) के चार्जिंग इंफ्रास्ट्रक्चर को बढ़ावा मिलेगा। इसके साथ ही एमजी मोटर इंडिया पहली यात्री कार बनाने वाली कंपनी बन गई है, जिसने ‘हरित परिवहन’ को अपनाने को तेजी से बढ़ावा देने के लिए बीपीसीएल के साथ साझेदारी की है। जो आप बदल सकते हैं, उसे बदल दीजिए” (चेंज व्हाट यू कैन) के अपने विजन के अनुरूप, यह भारत में इलेक्ट्रिक वाहनों को तेजी से अपनाने की दिशा में एमजी का अगला कदम है।

बीपीसीएल के साथ यह साझेदारी लोगों के इलेक्ट्रिक वाहनों को अपनाने में और तेजी आएगी। इससे इलेक्ट्रिक वाहनों को इस्तेमाल करने वाले लोगों के लिए अवसर बढ़ेंगे और एक शहर से दूसरे शहर के बीच इन वाहनों से यात्रा करने के लिए सुविधाएं बढ़ेंगी। यह दोनों कंपनियां राजमार्गो पर और शहरों के भीतर ईवी चार्जर्स लगाएंगी। बीपीसीएल के उपभोक्ताओं के बड़े नेटवर्क और संचालन और एमजी की ईवी क्षेत्र में प्रगति के साथ यह दोनों कंपनियां चार्जिंग साइट्स की रणनीतिक रूप से पहचान, उपभोक्ताओं की मांगों और जरूरतों को जानने और समझने, लॉयल्टी प्रोग्राम बनाने और चार्जिंग सिस्टम का प्रबंधन करने की अपनी विशेषज्ञता का तालमेल कर सकती हैं।

एमजी मोटर इंडिया के प्रेसिडेंट और प्रबंध निदेशक राजीव छाबा ने कहा, "आवागमन के साधनों के लिए इलेक्ट्रिक वाहनों को अपनाने में सफलता हासिल करने के लिए बड़ी जरूरत इलेक्ट्रिक वाहनों का मजबूत इकोसिस्टम बनाने की है। 2020 में जेडएस ईवी की पेशकश के बाद से ही एमजी ईवी का इकोसिस्टम मजबूत बनाने के लिए अग्रिम मोर्चे पर काम कर रहा है। अपने इकोसिस्टम साझीदारों के साथ काम करने के अलावा हम ईवी चार्जिंग स्टेशन का विशाल नेटवर्क बनाने की दिशा में काम कर रहे हैं। इसके अलावा हम बैटरी की रि-साइक्लिंग भी कर रहे हैं और बैटरी को नई दूसरी जिंदगी देने के समाधानों पर काम कर रहे हैं, जिससे इलेक्ट्रिक वाहनों का प्रयोग करने वाले लोगों को कोई परेशानी न हो और उनके लिए एक सिरे से दूसरे सिरे तक पूर्ण रूप से स्थिरता बनी रहे। 

इसके अलावा हमारे उपभोक्ताओं को अनोखे छह तरफा चार्जिंग सिस्टम का पूरा लाभ भी मिलगा, जिससे इलेक्ट्रिक वाहनों को अपनाना दिन पर दिन आसान बनता जाएगा। बीपीसीएल के साथ हमारी साझेदारी भारत में ईवी चार्जिंग के इंफ्रास्ट्रक्चर को मजबूत करने की दिशा में अगला कदम है। इससे भारत में इलेक्ट्रिक वाहन इस्तेमाल करने के प्रति लोगों के आत्मविश्वास को मजबूती मिलेगी और इसे काफी ऊर्जा मिलेगी। बीपीसीएल की भारत में मजबूत मौजूदगी और विशाल नेटवर्क से यह भी सुनिश्चित होगा कि हमारे मौजूदा और संभावित उपभोक्ताओं को चार्जिंग समाधानों तक आसानी और सुविधाजनक तरीके से पहुंच मिले। हमारा उद्देश्य इलेक्ट्रिल वाहनों को चार्ज करने की सुविधा को और बढ़ाना है और इलेक्ट्रिक वाहनों के प्रयोग से पर्यावरण को होने वाले लाभों के संबंध में लोगों में जागरूकता बढ़ाना है।

बीपीसीएल के चेयरमैन और प्रबंध निदेशक अरुण कुमार सिंह ने कहा, “जैसे-जैसे हम बड़ी संख्या में इलेक्ट्रिक वाहनों को अपनाते जाएंगे तो वर्तमान और भविष्य में ईंधन की खपत में स्थिरता आएगी। अब जब हम त्वरित ऊर्जा अंतरण से आवागमन के लिए इलेक्ट्रिक वाहनों को अपनाने की दिशा में बढ़ रहे हैं तो ऐसे समय में बीपीसीएल इलेक्ट्रिक वाहनों के मालिकों की तीन बड़ी चिंताओं को दूर करने की दिशा में अग्रिम मोर्चे पर काम कर रहा है। इसमें रेंज की चिंता, समय की चिंता और खोज की चिंता शामिल है। इन चिंताओं के दूर होने से देश में इलेक्ट्रिक वाहनों को तेजी से अपनाने की दिशा में उपभोक्ताओं का आत्मविश्वास बढ़ेगा। बीपीसीएल प्रमुख राजमार्गों पर, एक-दूसरे से जुड़ने वाले प्रमुख शहरों और आर्थिक केंद्रों में तेजी से इलेक्ट्रिक वाहनों को चार्ज करने वाले कॉरिडोर की स्थापना कर रहा है। 

अगले 2-3 सालों में यह देश में आसानी से खोजे जाने वाले 7 हजार फास्ट चार्जिंग स्टेशनों का नेटवर्क स्थापित करेगा। देश में सर्वश्रेष्ठ ईवी चार्जिंग समाधानों के युग का सूत्रपात करने के लिए एमजी मोटर इंडिया जैसे नए-नए ब्रांड के साथ साझेदारी करेगा। एमजी मोटर इंडिया अपनी गाड़ियों से उपभोक्ताओं को तरह-तरह के अनुभव प्रदान करने के लिए मशहूर है। एमजी मोटर इंडिया के पास विशाल रेंज की इंटरनेट एयसूवी भी है और भारत में यह इलेक्ट्रिक वाहन बनाने वाली दिग्गज कंपनी है। हम इस साझेदारी के प्रति बेहद उत्सुक हैं। इससे देश भर में लोगों को इलेक्ट्रिक वाहनों को अपनाने के लिए बढ़ावा मिलेगा। इससे कंपनी भी उपभोक्ताओं को व्यक्तिगत रूप से आवागमन के क्षेत्र में नए-नए अवसर प्रदान कर सकेगी।

Comments

Popular posts from this blog

सरकारी योजनाओं से संबंधित डाटा ढूंढना होगा अब आसान

शब्दवाणी समाचार पाठक संघ के सदस्यों का भव्य स्वागत हुआ और अब सबको मिलेगी एक समान शिक्षा का लांच

उप श्रम आयुक्त द्वारा लिखित में मांगों पर सहमति दिए जाने के बाद ट्रेड यूनियनों ने समाप्त किया धरन : गंगेश्वर दत्त शर्मा