आर्टपार्क के रोबोटिक्‍स चैलेंज का समापन, भारत की 134 से ज्‍यादा टीमों ने हिस्‍सा लिया

 

◆ इस चुनौती के तहत टीमों ने प्रेरक प्रदर्शन किये और स्‍थानीय आधार पर डिजाइन किये गये अपने रोबोट्स से वाशरूम में वाचमैन का काम आसानी से पूरा करवाया

◆ चुनौती रोबोटिक्‍स के एक परितंत्र को सहयोग और बढ़ावा देने और उसके सह-निर्माण के लिये आर्टपार्क के मिशन का हिस्‍सा है, ताकि भारत रोबोटिक्‍स प्‍लेटफॉर्म्‍स और टेक्‍नोलॉजीस में वैश्विक अग्रणी बन सके

शब्दवाणी समाचार, मंगलवार 17 मई 2022, बेंगलुरू। बेंगलुरू में स्थित लाभ-निरपेक्ष फाउंडेशन, एआई एंड रोबोटिक्‍स टेक्‍नोलॉजी पार्क (आर्टपार्क) ने आज जेएन टाटा ऑडिटोरियम, आईआईएससी कैम्‍पस, बेंगलुरू में रोबोटिक्‍स चैलेंज का समापन किया। इस चुनौती में रोबोट्स को वाचमैन जैसे वह काम करके दिखाने थे, जो आमतौर पर वाशरूम में होते हैं। देशभर से मिले 134 आवेदनों में से टॉप चार टीमें - सर्बरस, ग्रिफिंडोर्स, गिगा रोबोटिक्‍स और रोबो ज्‍योथियांस ने फाइनल में अपनी जगह बनाई और अभिनव रोबोट्स का इस्‍तेमाल कर वाशरूम में चौकीदार जैसे कामों का प्रदर्शन किया। ग्रिफिंडोर्स को इस प्रतियोगिता का विजेता घोषित किया गया, जबकि टीम गिगा रोबोटिक्‍स और सर्बरस उपविजेता रहीं।

फिनाले में उद्योग की अग्रणी हस्तियाँ मौजूद थीं, जिनमें विशाल धुपर (एमडी-एशिया साउथ, एनविडिया), संदीप दीक्षित (हेड न्यू टेक्नोलॉजी, अदाणी पावर), प्रणव सक्‍सेना (मुख्‍य प्रौद्योगिकी एवं उत्‍पाद अधिकारी, फ्लिपकार्ट हेल्‍थटेक), प्रोफेसर प्रदीप्‍त विश्वास (सेंटर फॉर प्रोडक्‍ट डिजाइन एंड मैन्‍युफैक्‍चरिंग, आईआईएससी), उमाकांत सोनी (आर्टपार्क के को-फाउंडर एवं सीईओ) और प्रोफेसर भारद्वाज अमृतुर (आर्टपार्क के शोध प्रमुख एवं निदेशक) शामिल हैं।

Comments

Popular posts from this blog

सरकारी योजनाओं से संबंधित डाटा ढूंढना होगा अब आसान

शब्दवाणी समाचार पाठक संघ के सदस्यों का भव्य स्वागत हुआ और अब सबको मिलेगी एक समान शिक्षा का लांच

रेलवे स्पोर्ट्स प्रमोशन बोर्ड ने प्रशिक्षण शिविर के लिए चयन समिति का गठन किया