एम-अर्जेंसी ने ज़िकित्सा हैल्थ केयर लिमिटेड में अधिक संख्या में हिस्सेदारी किया हासिल

शब्दवाणी समाचार, रविवार 22 मई 2022मुंबई। भारत से बाहर यूएई और संयुक्त राष्ट्र अमेरिका में कायम किए गए विभिन्न व्यापारों पर मालिकाना हक़ रखने वाली कम्पनी एम-अर्जेंसी ग्रुप (इमरजेंसी के तौर पर उच्चारित) ने ज़िकित्सा हेल्थ केयर लिमिटेड में निवेशकों के एक दल के साथ निश्चित शेयर खरीद समझौते में प्रवेश कर लिया है, जो (अर्थात् जिकित्सा हेल्थ केयर लिमिटेड) भारत में अंशभागी बहुमत के लिए स्पष्ट मार्ग प्रदान करने के साथ आपातकालीन चिकित्सा प्रतिक्रिया और परिवहन (लाइफ सपोर्ट एम्बुलेंस सर्विस) क्षेत्र में एक अग्रणी निजी क्षेत्र की कंपनी है। 

लेन-देन, दस्तावेज़ीकरण और आवश्यक अनुमोदन की समाप्ति के बाद, एम-अर्जेंसी ग्रुप (https://www.murgency.com) ज़िकित्सा हेल्थ केयर लिमिटेड (https://zhl.org.in) के बोर्ड और प्रबंधन को अपने नियंत्रण में लेगा। श्री शफी माथर गैर-कार्यकारी अध्यक्ष के रूप में अपनी सेवाएं अंजाम देंगे जबकि सुश्री श्वेता मंगल संयुक्त एम-अर्जेंसी - ज़िकित्सा के समूह मुख्य कार्यकारी अधिकारी के रूप में कार्यभार संभालेंगी। एम-अर्जेंसी ग्रुप द्वारा बुधवार को जारी एक रीडआउट के माध्यम से यह जानकारी दी गई है कि ज़िकित्सा में मौजूदा प्रबंधन टीम में फिलहाल किसी तत्काल बदलाव की कोई उम्मीद नहीं है।

लेनदेन के इन प्रकरणों के पूरा होने के बाद, एम-अर्जेंसी ग्रुप, जिकित्सा हैल्थ केयर लिमिटेड के साथ मिलकर समूचे भारत में आपातकालीन चिकित्सा प्रतिक्रिया और परिवहन (जीवन समर्थक एंबुलेंस सेवा) के क्षेत्र में भारत के 28 राज्यों के भीतर क्रियाशील संचालन के माध्यम से अपनी मौजूदगी दर्ज कराएगा। इस उद्देश्य की पूर्ति के लिए राज्यों में हर दिन 15000 से अधिक रोगियों के चिकित्सा परिवहन संचालन के साथ 3600+ एम्बुलेंस और 12000+ कर्मचारियों की कार्यवाही अमल में लाई जाती है। ज़िकित्सा ने आश्चर्यजनक रूप से अब तक 50 मिलियन से अधिक रोगियों का परिवहन किया है। हाल में, ज़िकित्सा भारत और संयुक्त अरब अमीरात में एम्बुलेंस संचालित करवाती है। ज़िकित्सा अगले कुछ वर्षों में छह जीसीसी देशों (सऊदी अरब, कुवैत, बहरीन, ओमान, कतर और संयुक्त अरब अमीरात) में अपनी सेवाओं को विकसित करने की ओर अग्रसर है।

एम-अर्जेंसी और ज़िकित्सा के संस्थापक श्री शफ़ी माथेर ने कहा, “यह घोषणा एम-अर्जेंसी ग्रुप और ज़िकित्सा दोनों के लिए एशिया महाद्वीप में आपातकालीन चिकित्सा प्रतिक्रिया और परिवहन के कार्यक्षेत्र को जारी रखने और दोनो संगठनों की सम्बन्धित रणनीतियों को मंजरेआम पर लाने की दिशा में एक महत्वपूर्ण कदम की निशानदेही करता है। मानव प्रजाति के अस्तित्व की रक्षा के लिए जीवन को सुरक्षित रखना सबसे ज़्यादा ज़रूरी है। और इस दिशा में एम-अर्जेंसी और ज़िकित्सा की एकजुटता भारत और विदेश दोनों में आपातकालीन चिकित्सा प्रतिक्रिया और परिवहन को मजबूत करेगी और दुनिया के बहुत से लोगों की जान बचाने का अभूतपूर्व कारनामा अंजाम देगी।

Comments

Popular posts from this blog

सरकारी योजनाओं से संबंधित डाटा ढूंढना होगा अब आसान

शब्दवाणी समाचार पाठक संघ के सदस्यों का भव्य स्वागत हुआ और अब सबको मिलेगी एक समान शिक्षा का लांच

रेलवे स्पोर्ट्स प्रमोशन बोर्ड ने प्रशिक्षण शिविर के लिए चयन समिति का गठन किया