ह्वावे ने वॉकहार्ट फाउंडेशन और नवी मुंबई मुनिसिपल कॉर्पोरेशन के साथ गठबंधन

◆ मोबाईल मेडिकल क्लिनिक वैन चलाने के लिए 

शब्दवाणी समाचार, शनिवार 21 मई 2022, मुंबई। ह्वावे इंडिया ने मुंबई में जरूरतमंद लोगों को प्राथमिक स्वास्थ्य सेवा प्रदान करने के अपने सीएसआर अभियान के तहत एक मोबाईल मेडिकल क्लिनिक चलाने के लिए वॉकहार्ट फाउंडेशन और नवी मुंबई मुनिसिपल कॉर्पोरेशन (एनएमएमसी) के साथ गठबंधन किया है। उद्घाटन समारोह के अवसर पर श्री. संजय काकड़े, अपर. आयुक्त, एनएमएमसी, श्री. मनोजकुमार महाले, डीएमसी, एनएमएमसी, डॉ. रत्ना प्रभा चव्हाण, स्वास्थ्य विभाग और श्री हर्ष खुराना, हुआवेई इंडिया के कार्यकारी निदेशक फ्लैग-ऑफ समारोह में उपस्थित थे |

नवी मुंबई नगर निगम (एनएमएमसी) के कमिश्नर, श्री अभिजीत बांगड़ ने कहा, “हमारा दृढ़ विश्वास है कि समाज की बेहतरी के लिए एक प्रभावी और कुशल सेवा प्रदान करने के लिए हम सबका सामूहिक प्रयास जरूरी है। सामरिक सहयोग और साझेदारी सालों से एनएमएमसी की पहलों को सशक्त और सक्षम बनाते आ रहे हैं। ऐसा ही एक महत्वपूर्ण सहयोग ह्वावे इंडिया के साथ किया गया है। हमारा प्रयास है कि इस सहयोग के द्वारा ह्वावे की मोबाइल मेडिकल यूनिट का उपयोग करके हम कमजोर समुदायों को गुणवत्तापूर्ण स्वास्थ्य सेवा प्रदान कर सकें।

इस पहल पर टिप्पणी करते हुए ह्वावे इंडिया के सीईओ, डेविड ली ने कहा, "ह्वावे भारत के लोगों और समाज के लिए काम करने के लिए प्रतिबद्ध है। हाल में ही हमने एक वैश्विक महामारी का मिलकर सामना किया। इस मुश्किल दौर के बाद हमारे लिए यह जरूरी हो गया है कि हम अपने चिकित्सा जगत के बुनियादी ढांचे को ज्यादा से ज्यादा सुद्रढ़ करें। वॉकहाट के साथ इस पहल का उद्देश्य उन लोगों तक चिकित्सा सुविधाएं पहुंचाना है, जिन्हें इलाज की सुविधाएं मिलने में कठिनाई होती है। यह मोबाइल क्लिनिक नवीनतम चिकित्सा उपकरणों की मदद से जरूरतमंदों तक स्वास्थ्य सेवाएं पहुंचाने का एक सुनहरा अवसर है।

शुरुआत में वॉकहाट फाउंडेशन द्वारा संचालित किया जा रहा यह मोबाइल क्लीनिक वैन 2 महीने में 9600 मरीजों की सेवा कर सकता है, और इसे दैनिक आधार पर 200 रोगियों की सेवा करने के लिए डिजाइन किया गया है। जीपीएस ट्रैकिंग सिस्टम से लैस, इस मोबाइल क्लिनिक वैन को नवी मुंबई एवं वाशी क्षेत्र को कवर करने और स्थानीय लोगों के लिए मुफ्त ओपीडी / स्वास्थ्य जांच करने के लिए 1 डॉक्टर, 1 फार्मासिस्ट और 1 ड्राइवर की एक टीम द्वारा संचालित किया जाएगा। यह क्लिनिक मुफ्त बुनियादी स्वास्थ्य सेवाएं प्रदान करेगा, इसके साथ ही यह मोबाइल क्लीनिक वैन स्वच्छता, मां और बच्चे की स्वास्थ्य देखभाल, सुरक्षित पेयजल, टीकाकरण,

एनीमिया, डी-वर्मिंग, वेक्टर जनित रोग, एचआईवी, सांप के काटने, मधुमेह और ट्यूबरकुलोसिस के बारे में जागरूकता पैदा करने के लिए भी काम करेगा। इस मोबाइल क्लीनिक वैन की ऑन-बोर्ड सुविधाओं में मलेरिया, हेपेटाइटिस, डेंगू, टाइफाइड, रक्त शर्करा, रक्तचाप और अन्य बीमारियों के लिए निदान किट की सुविधा उपलब्ध होगी, जिसमें बेहद जटिल मामलों को विशेष अस्पतालों में ट्रांसफर करने का प्रावधान होगा। पिछले कुछ वर्षों में, ह्वावे ने सामाजिक और उद्योग कल्याण के लिए पहल की शुरुआत करने हेतु कई गैर सरकारी संगठनों के साथ भागीदारी की है जिनमें स्कूलों में स्वच्छता एवं डिजिटल सुविधाएं प्रदान करना, प्रमुख संस्थानों की अनुसंधान परियोजनाओं को वित्तपोषित करना, कोविड राहत पहल का समर्थन करना तथा आपदा राहत कोष में दान करना, आदि शामिल है। 

भारत में ह्वावे की सीएसआर पहल ने 94 स्कूलों में उचित स्वच्छता सुविधाओं के निर्माण के लिए वित्त प्रदान किया है, 50+ सरकारी और संबद्ध स्कूलों में 55,000 से अधिक छात्रों के लिए मध्याह्न भोजन का वित्त पोषण किया है और उत्तर प्रदेश, तेलंगाना, आंध्र प्रदेश राज्य में 101 स्कूलों में डिजिटल / स्मार्ट कक्षाओं का निर्माण किया है, जिससे लगभग 40,000 छात्रों को लाभ हुआ है। अपने सीएसआर कार्यक्रमों के दायरे का विस्तार करते हुए, ह्वावे ने उद्योग हितधारकों के सीएसआर फाउंडेशन के साथ उनकी पहल का समर्थन करने के लिए भागीदारी की है, जिसमें एक हेल्थ अकादमी की स्थापना, महाराष्ट्र और मध्य प्रदेश में किसानों के लिए कृषि के आईओटी समाधान प्रदान करना और बिहार तथा उत्तर प्रदेश में उत्कृष्टता केंद्र की स्थापना करना, जैसे विषय शामिल हैं।


Comments

Popular posts from this blog

सरकारी योजनाओं से संबंधित डाटा ढूंढना होगा अब आसान

शब्दवाणी समाचार पाठक संघ के सदस्यों का भव्य स्वागत हुआ और अब सबको मिलेगी एक समान शिक्षा का लांच

रेलवे स्पोर्ट्स प्रमोशन बोर्ड ने प्रशिक्षण शिविर के लिए चयन समिति का गठन किया