अमृत गाथा सहित अमृत बैठकों के लक्ष्य के साथ दिल्ली से होगी बिहार यात्रा

शब्दवाणी समाचार, शनिवार 28 मई 2022, नई दिल्ली। 30 मई हिंदी पत्रकारिता दिवस पर आरजेएस- टीजेएपीएस केबीएसके की दस दिवसीय दिल्ली से वाया उत्तर प्रदेश बिहार यात्रा प्रारंभ होगी।राम जानकी संस्थान,आरजेएस के राष्ट्रीय ऑब्जर्वर दीप चंद्र माथुर ने बताया की उदय मन्ना के नेतृत्व में सकारात्मक भारत आंदोलन की थीम "राष्ट्र प्रथम: भारत एक परिवार, विश्व एक घर" को जन जन तक पहुंचाने हेतु बिहार में आजादी की अमृत गाथा और बैठकें कुल मिलाकर 15 होंगी। बिहार पहुंचते ही संयुक्त राष्ट्र संघ द्वारा घोषित माता- पिता वैश्विक दिवस की पूर्व संध्या पर 31 मई 2022 को दो बैठकें निर्धारित हैं। पूर्व राष्ट्रपति डॉ. एपीजे अब्दुल कलाम और बिहार के पूर्व जिलाधिकारी स्व० श्री गुरु सहाय प्रसाद को श्रद्धांजलि देकर अशोक पुरी कॉलोनी पार्क में श्री राम जग सिंह अध्यक्ष अशोक पुरी हाउसिंग कोऑपरेटिव सोसायटी की अध्यक्षता में आजादी की अमृत गाथा का 71 वां अंक फिजिकल व वर्चुअल होगा इस अवसर पर मुख्य अतिथि राजयोगिनी ब्रह्मकुमारिज , मुख्य शाखा पटना की प्रभारी संगीता बहन का व्याख्यान होगा और स्वर्गीय गुरु सहाय प्रसाद के सुपुत्र रत्नाभ प्रसाद शिक्षक विशिष्ट अतिथि होंगे। 

श्री रत्नाभ प्रसाद के पिताजी की स्मृति में डा एपीजे अब्दुल कलाम के नाम का आरजेएस राष्ट्रीय सम्मान 2022 घोषित किया गया है। इससे पूर्व 31 मई को प्रातः मसौढ़ी स्थित सांढा गांव में आयोजित अमृत बैठक में शतक वीर स्व० जेहल महतो, समाजसेवी स्व० रामेश्वर प्रसाद और स्व० तेतरी देवी की मूर्ति का अनावरण होगा। बैठक के सह-आयोजक डॉ सत्येंद्र सिंह व श्रीमती इंदु सिंह ने बताया कि हमारे इन पूर्वजों की स्मृति में आरजेएस भारत-उदय संत कबीर राष्ट्रीय सम्मान 2022 घोषित किया गया है। तपसिल जाति आदिबासी प्रक्कटन्न सैनिक कृषि बिकाश शिल्पा केंद्र,गुंटेगिरी, हुगली पश्चिम बंगाल के सचिव सोमेन कोले ने बताया कि 29 मई को कंज्यूमर ऑनलाइन फाउंडेशन  के सहयोग से आयोजित डब्ल्यूएचओ विश्व तंबाकू निषेध दिवस वेबीनार में प्रतिभागियों द्वारा बिहार यात्रा की शुभकामनाएं भी दी जाएंगी। 

वहीं संपूर्णा संस्था दिल्ली के सहयोग से आजादी की अमृत गाथा का 73 वां अंक विश्व पर्यावरण दिवस पर 5 जून को "जल ही जीवन है" विषय पर आयोजित होगा। आरजेएस ऑब्जर्वर दीपचंद्र माथुर ने बताया कि पारिवारिक कार्यक्रमों के माध्यम से सकारात्मक संदेश देने हेतु पहली बार 4 और 5 जून को आरजेएस सकारात्मक सूचना केंद्र,पटना बिहार के प्रभारी डॉ. ओम प्रकाश झुनझुनवाला और श्रीमती कौशल्या देवी की शादी की 50वीं सालगिरह पर दो दिवसीय "राजस्थानी-मारवाड़ी संस्कृति" पर आजादी की अमृत गाथा का 72 वां अंक फिजिकल और वर्चुअल आयोजित किया जाएगा। कुल मिलाकर 15 बैठकों के साथ  8 जून को बिहार यात्रा संपन्न हो जाएगी।

Comments

Popular posts from this blog

सरकारी योजनाओं से संबंधित डाटा ढूंढना होगा अब आसान

शब्दवाणी समाचार पाठक संघ के सदस्यों का भव्य स्वागत हुआ और अब सबको मिलेगी एक समान शिक्षा का लांच

रेलवे स्पोर्ट्स प्रमोशन बोर्ड ने प्रशिक्षण शिविर के लिए चयन समिति का गठन किया