nurture.farm ने दुबई की कृषिरसायन कंपनी, एगफार्म के साथ विशेष साझेदारी की घोषणा किया

 

● nurture.farm की बी2बी की ई-कॉमर्स शाखा nurture.retail 

● nurture.retail प्लेटफॉर्म द्वारा 40 से ज्यादा एगफार्म उत्‍पादों की 13 भारतीय राज्यों में कृषि सामग्री बेचने वाले 70 हजार से ज्यादा रिटेलर्स और डीलरों को असाधारण रूप से प्रतिद्वंद्वी  बाजार कीमतों पर बिक्री की जाएगी

● इस साझेदारी से एगफार्म के पेटेंट कृषि उत्पादन बढ़ाने में मदद करने वाले उत्‍पाद भारत में कृषि के लिए जरूरी साजो-सामान बेचने वाले रिटेल कारोबारियों को बेहद किफायती कीमत पर मिलेंगे

शब्दवाणी समाचार, शुक्रवार 6 मई 2022बेंगलुरु। कृषि जगत को संपूर्ण कृषि पारितंत्र से जुड़े समाधान प्रदान करने वाले भारत के प्रमुख एगटेक स्टार्टअप, nurture.farm, ने अपने ऑनलाइन बी2बी प्लेटफॉर्म nurture.retail और दुबई की कृषिरसायन कंपनी एगफार्म के बीच विशिष्‍ट साझेदारी की घोषणा की है। शुरुआत में एगफार्म में 40 से ज्यादा उत्‍पादों को nurture.retail के प्लेटफॉर्म से खरीदा जा सकता है। इसमें फसल को हानिकारक पौधों, कीड़ों और फंगस से बचाने के लिए कई श्रेणी में कीटनाशक उपलब्ध हैं, जिनका छिड़काव तरह-तरह की फसलों पर किया जा सकता है। इसमें ग्लाइफोसेट, अमेमेक्टिन बेंजोनेट, थियामेथोक्‍जैम, प्रेटिलाक्लोर, पैक्लोबुट्राजोल जैसे कई ऐसे अणु हैं, जिन्हें लॉन्च किया गया है। इसके अलावा nurture.retail प्लेटफॉर्म एगफॉर्म द्वारा पेटेंट कराए गए अणुओं को भी लॉन्च कर रहा है, जो अलग-अलग कीट वर्गों पर लक्षित है। 

नए-नए और पेटेंट कराए उत्‍पादों को लॉन्च करने के साथ, इस साझेदारी से nurture.retail  की ऐप का प्रयोग करने वाले 70 हजार रिटेलर्स को बेहद प्रतिस्पर्धी कीमत पर कृषि संबंधी उत्‍पाद मिलेंगे। इसके नतीजे के तौर पर कम कीमत का लाभ किसानों को दिया जाएगा, जिससे फसल की लागत में कमी आएगी और किसानों को बेहतर और आधुनिक बायोकेमिस्ट्री तक पहुंच मिलेगी।

nurture.farm के बिजनेस हेड और सीओओ ध्रुव साहनी ने इस साझेदारी के संबंध में कहा, “हमारा लक्ष्य 70 हजार और लगातार बढ़ते हुए उन रिटेलर्स और डीलर्स, जो nurture.retail ऐप का प्रयोग करते हैं, को बेहतरीन गुणवत्‍ता के असली और प्रमाणिक कृषि उत्पाद उपलब्ध कराना है।  एगफार्म के साथ हमारी विशेष साझेदारी के माध्यम से प्रदान की गई उत्‍पादों की श्रृंखला से हमें किसानों की बहुत सी समस्याओं का समाधान करने में मदद मिलेगी। इन उत्‍पादों के जरिये वे  अपनी फसलों को नष्ट होने से बचाने से साथ ही रसायनों के दुष्‍प्रभावों से बचने में भी सक्षम हो पायेंगे।  इसके अलावा यह डिजिटल प्लेटफॉर्म रिटेलर्स और फिर किसानों को बेहद किफायती दाम पर कृषि संबंधी उत्‍पाद उपलब्ध कराएगा। हम फसलों की सेहत के संबंध में पूर्वानुमान या नष्ट होने की आशंका वाली फसलों के लिए एक खास मॉडल विकसित कर रहे हैं, जिससे हमें उन क्षेत्रों में  समय रहते फसलों को बचाने के लिए उपाय करने का अवसर मिलेगा, जहां कीट के हमले बहुत ज्यादा होते हैं और फसलों को बीमारी होने की आशंका रहती है।  इसके साथ हम किसानों की पैदावार बढ़ाने के लिए बेहतर परिणाम सुनिश्चित करने की इच्छा रखते हैं, जिससे उनकी फसल की लागत में कमी आए और उन्हें फसल के हतर दाम हासिल करने के लिए अच्छी पैदावार मिल सके।

एगफार्म के निदेशक वमन अलावधी ने इस विशेष साझेदारी पर टिप्पणी करते हुए कहा, “एगफार्म का लक्ष्य डिजिटलाइजेशन से कृषि समुदाय को सशक्त और मजबूत बनाना है। हमने काउंटर से बिकने वाले उत्‍पादों के पारंपरिक तरीके को बदलने का फैसला किया और इसकी जगह अपने उत्‍पादों की ऑनलाइन बिक्री का निर्णय लिया। बिचौलियों के इस नापाक कुचक्र को तोड़ने का यही तरीका था कि  हम कृषि संबंधी उत्पाद की डिजिटल खरीद और बिक्री करें।  इस प्रणाली ने डीलर्स और रिटलर्स को सीधे निर्माताओं तक पहुंच प्रदान की। इससे अंतिम रूप से किसानों को सेवा संबंधी लाभ पहुंच सके। उचित दाम पर असली, प्रामाणिक और गुणवत्तापूर्ण  कृषि उत्पादों की उपलब्धता से किसानों की फसल अच्छी हुई और वह बेहतर पैदावार हासिल करने में सफल रहे। भारत में nurture.retail कृषि उत्पादों को ऑनलाइन बेचने वाला सबसे बड़ा और सबसे पसंदीदा मार्केट प्लेस बन गया।  इस साझेदारी ने हमें उनके प्लेटफॉर्म के माध्यम से अपना लक्ष्य हासिल करने में काफी हद तक मदद मिलेगी। हम उनके साथ साझेदारी कर बेहद खुश हैं। इस साझेदारी से हम प्रत्यक्ष रूप से 70 हजार से ज्यादा रिटेलर्स और डीलर्स को अपनी सेवाए देंगे।

Comments

Popular posts from this blog

सरकारी योजनाओं से संबंधित डाटा ढूंढना होगा अब आसान

शब्दवाणी समाचार पाठक संघ के सदस्यों का भव्य स्वागत हुआ और अब सबको मिलेगी एक समान शिक्षा का लांच

उप श्रम आयुक्त द्वारा लिखित में मांगों पर सहमति दिए जाने के बाद ट्रेड यूनियनों ने समाप्त किया धरन : गंगेश्वर दत्त शर्मा