ताजमहल में भी शिवालय : आलोक सिंह

शब्दवाणी समाचार, वीरवार 2 जून 2022, नई दिल्ली। सुप्रतिष्ठित समाजसेवी एवम गरीबो के मसीहा माने जाने वाले आलोक सिंह ने ज्ञानवापी मंदिर प्रकरण पर कहा की ताजमहल में भी शिवालय था अब सबका दायित्व कि हमारा मौलिक स्वरूप हमें वापस मिले। आलोक सिंह ने कहा है कि आक्रांताओं द्वारा विकृत किए गए हमारे हिंदू देवस्थानों को वापस प्राप्त करना हमारा शाश्वत अधिकार है। एवम साथ ही कहा कि वोट देने वाले लोगों को सोचना चाहिए कि वे किस पार्टी को जिताते हैं। जिसको अपने वोट के अस्तित्व का बोध ही नहीं है तो क्या होगा।  गोहत्या होगी-होगी-होगी और गाय गरीबों का भोजन है, वह पार्टी यदि शासन करती है तो इसका अर्थ है कि जनता की दिशाहीनता की यहां पराकाष्ठा है। अजित सिंह ने कहा कि हिंदुत्व के शौर्य सनातन पर हो रहे दिन प्रतिदिन प्रतिघात आगामी भविष्य के लिए खतरा है।

Comments

Popular posts from this blog

शब्दवाणी समाचार पाठक संघ के सदस्यों का भव्य स्वागत हुआ और अब सबको मिलेगी एक समान शिक्षा का लांच

उप श्रम आयुक्त द्वारा लिखित में मांगों पर सहमति दिए जाने के बाद ट्रेड यूनियनों ने समाप्त किया धरन : गंगेश्वर दत्त शर्मा

बबीता फोगट WFI के खिलाफ आरोपों की जांच के लिए गठित ओवरसाइट कमेटी पैनल में शामिल