भारत के 15 मिलियन छोटे व्यवसाय WhatsApp Business App पर

•  WhatsApp Business App के फीचर्स, जो छोटे व्यवसाय के हर मालिक को जानने चाहिए

शब्दवाणी समाचार, शनिवार 16 जुलाई 2022, नई दिल्ली। भारत के माईक्रो, स्मॉल एवं मध्यम उद्यम देश के सामाजिक और आर्थिक विकास की रीढ़ हैं, जो नौकरियों के सृजन एवं जीडपी में महत्वपूर्ण योगदान देते हैं। पिछले कुछ सालों में अनेक मुश्किलों के बावजूद छोटे व्यवसायों ने काफी दृढ़ता का प्रदर्शन किया है और अपना व्यवसाय बनाए रखने के लिए अभिनव व प्रभावशाली तरीके खोजने में निवेश किया है। इन व्यवसायों का एक मुख्य तत्व सरल प्रौद्योगिकी का इस्तेमाल है, जिससे उन्हें अपने कार्यों का डिजिटलीकरण करने में मदद मिली। कुछ साल पहले तक केवल मार्केटिंग और प्रमोशनल बजट वाले व्यवसाय ही डिजिटल दुनिया में कदम रख वेबसाईट, हैल्पडेस्क आदि का विकास कर पाते थे। 

आज व्यवसायों के लिए अपने कार्यों को डिजिटल बनाना, नए ग्राहक तलाशना और वेबसाईट बनाने और उसके रखरखाव पर खर्च किए बिना ग्राहकों को संलग्न रखना बहुत आसान हो गया है। ज्यादातर व्यवसायों के लिए WhatsApp उनका पहला डिजिटल गेटवे है। भारत में 15 मिलियन से ज्यादा व्यवसायों के लिए WhatsApp Business App सरल, सुरक्षित और इस्तेमाल में आसान टेक्नॉलॉजी है, जिसने उन्हें ऑनलाईन प्लेटफॉर्म पर अपनी जगह बनाने में मदद की है, ताकि वो अपने ग्राहकों के साथ आसानी से संपर्क कर सकें। WhatsApp Business App व्यवसाय के मालिकों के लिए एक प्रभावशाली टूल क्यों है? यदि आप एक छोटे व्यवसाय के मालिक हैं, तो नीचे WhatsApp Business App के कुछ लोकप्रिय फीचर्स दिए जा रहे हैं, जो भारत में छोटे व्यवसाय मालिकों के लिए बहुत उपयोगी हैं:

• अपने व्यवसाय का पेशेवर परिचय दें:  WhatsApp Business App डाउनलोड करने के बाद आप अपना बिज़नेस प्रोफाईल बना सकते हैं, जो आपके व्यवसाय, जैसे लोगो, विवरण, काम के घंटों, संपर्क की जानकारी, और आपके इंस्टाग्राम एवं फेसबुक पेज के लिंक का विवरण देता है।

• अपना उत्पद/सेवा कैटालोग बनाएं:  कैटालोग फीचर के साथ आप अपने उत्पादों व सेवाओं का प्रदर्शन करने के लिए एक निशुल्क मोबाईल स्टोरफ्रंट बना सकते हैं। इसके द्वारा ग्राहक उन चीजों को ब्राउज़ और खोज सकते हैं, जो वो खरीदना चाहते हैं। इसके द्वारा लोगों को लिंक को कॉपी कर कैटालोग या अपने द्वारा खोजा गया सामान WhatsApp पर अपने दोस्तों या परिवार के साथ साझा करना आसान हो जाता है। अच्छे चित्रों और उत्पाद की जानकारी वाला कैटालोग उपभोक्ताओं को यह अहसास प्रदान करता है कि वो एक पेशेवर व्यवसाय से व्यवहार कर रहे हैं। भारत में 3 मिलियन से ज्यादा लोग WhatsApp पर मासिक व्यवसाय कैटालोग देखते हैं।

• कस्टम वैलकम मैसेज भेजें: जब कोई ग्राहक आप तक पहुंचता है, तो आप उसे ऑटोमैटिक रूप से एक कस्टम वैलकम मैसेज भेज सकते हैं। ऑनलाईन ग्राहक नए व्यवसाय से तत्काल उत्तर प्राप्त करने की अपेक्षा रखते हैं, इसलिए अभिवादन का ऑटोमैटिक संदेश न केवल व्यापारिक वार्ता शुरू करता है, बल्कि ग्राहक का अनुभव बेहतर भी बनाता है। एक व्यवसाय मालिक के रूप में आप अपने ग्राहकों के साथ चैट करने और संबंध का विकास करने में समर्थ होते हैं और अपने व्यवसाय में उनका स्वागत कर सकते हैं। इसी प्रकार, ‘क्विक रिप्लाईज़’ फीचर द्वारा आप अक्सर पूछे जाने वाले सवालों को आसानी से संबोधित कर सकते हैं, और ‘अवे संदेश’ ग्राहकों को सूचित करते हैं कि वो उत्तर की अपेक्षा कब कर सकते हैं।

• लीड का नियोजन करें:  व्यवसाय अपने ग्राहकों के संवादों का विभिन्न श्रेणियों, जैसे ‘नए ग्राहक’ या ‘लंबित ऑर्डर’ में वर्गीकरण करने और नियोजित करने के लिए ‘लेबल’ का इस्तेमाल कर सकते हैं। इससे चैट्स और संदेशों को आसानी से खोजने व नियोजित करने में मदद मिलती है।

• ग्राहकों को एक क्लिक में आप तक पहुंचने में समर्थ बनाएं:  फेसबुक और इंस्टाग्राम पर संभावित ग्राहकों को आपके व्यवसाय की WhatsApp चैट में भेजकर अपनी पहुंच बढ़ाएं। फेसबुक और इंस्टाग्राम पर आपके WhatsApp Business अकाउंट में ले जाने वाले विज्ञापनों द्वारा आप अपने व्यवसाय के लिए नए ग्राहक तलाश सकते हैं और WhatsApp पर उनसे संपर्क स्थापित कर सकते हैं।

WhatsApp Business App अनेक फीचर्स के साथ बना है, जो भारत में छोटे व्यवसाय मालिकों की जरूरतों को ध्यान में रखकर बनाए गए हैं। दुनिया में 50 मिलियन से ज्यादा छोटे व्यवसाय WhatsApp Business App का इस्तेमाल अपने व्यवसाय की ऑनलाईन पहुंच सबसे आसान तरीके से स्थापित करने के लिए कर रहे हैं। इससे वो नए ग्राहकों और नए बाजारों की खोज करने में भी समर्थ बनेंगे।

Comments

Popular posts from this blog

सरकारी योजनाओं से संबंधित डाटा ढूंढना होगा अब आसान

शब्दवाणी समाचार पाठक संघ के सदस्यों का भव्य स्वागत हुआ और अब सबको मिलेगी एक समान शिक्षा का लांच

उप श्रम आयुक्त द्वारा लिखित में मांगों पर सहमति दिए जाने के बाद ट्रेड यूनियनों ने समाप्त किया धरन : गंगेश्वर दत्त शर्मा