किआ इंडिया ने 3 साल से भी कम समय में किया 5 लाख कारों की बिक्री

• यह उपलब्धि हासिल करने वाली सबसे तेजी से बढ़ती कार निर्माता बनी (हेडलाइन 2, 3 और 5 के मामले में)

• कारेन्स ने किआ को मात्र 4.5 महीनों में सबसे तेजी से 1 लाख कारों की बिक्री के लिए प्रेरित किया, कारेन्स की लॉन्चिंग के बाद से 30,953 यूनिट्स की बिक्री हुई है

• किआ इंडिया अब किआ की वैश्विक बिक्री में 6% का योगदान कर रही है

• सेल्टोस भारत की सबसे लोकप्रिय किआ बनी हुई है, कंपनी की कुल बिक्री में सेल्टोस का योगदान 59% है

• कंपनी का कुल डिस्पैच (निर्यात सहित) 6,34,224 यूनिट तक पहुंच गया है

शब्दवाणी समाचार, वीरवार 21 जुलाई 2022, नई दिल्ली। देश में सबसे तेजी से बढ़ती कार निर्माताओं में से एक किआ इंडिया, ने एक और मुकाम हासिल कर लिया है। किआ ने केवल 3 वर्षों में 5,00,000 घरेलू बिक्री का मील का पत्थर हासिल कर लिया है। इसकी साथ किआ भारत में सबसे तेजी से बढ़ती कार निर्माता कंपनी बन गई है। निर्यात को मिलाकर, किआ इंडिया की अनंतपुर मैन्युफैक्चरिंग यूनिट से कुल डिस्पैच बढ़कर 6,34,224 यूनिट पहुंच गया है। कारेन्स के दमदार प्रदर्शन के दम पर कंपनी ने अपनी आखिरी 1 लाख कारों की बिक्री महज 4.5 महीनों में हासिल की है। भारतीय बाजार में अपने मजबूत प्रदर्शन के साथ, कंपनी अब किआ कॉर्पोरेशन की वैश्विक बिक्री में 6% से अधिक का योगदान कर रही है।

भारत में सेल्टोस किआ इंडिया का फ्लैगशिप मॉडल बना हुआ है। कंपनी की कुल बिक्री में इसका प्रमुख स्थान है। भारत में यह मॉडल किआ इंडिया की कुल बिक्री में 59% का योगदान करता है, इसके बाद 32% से अधिक के योगदान के साथ सोनेट दूसरे स्थान पर है। जबर्दस्त बिक्री के साथ, कारेन्स ने लॉन्च के केवल 5 महीनों में कंपनी की घरेलू बिक्री में लगभग 6.5% का योगदान दिया है। किआ जिस सेगमेंट में अपनी कारें पेश करती है, उसमें मिड-एसयूवी सेगमेंट में सेल्टोस अपनी मजबूत पकड़ बनाए हुए है, और अपनी कैटेगरी में वाहनों की सेल्स में 40% से अधिक का योगदान दे रही है। जहां कॉम्पैक्ट एसयूवी सेगमेंट में सॉनेट 15% हिस्सेदारी के साथ बेहतरीन पर्फोर्मेंस दे रही है, वहीं कारेन्स भी अपने सेगमेंट में 18% से अधिक की हिस्सेदारी केे साथ बेहतर प्रदर्शन कर रही है। विशेष रूप से, कैलेंडर ईयर 22 में, कारेन्स अपनी श्रेणी में दूसरी सबसे ज्यादा बिकने वाली कार बन गई है। इसके अलावा कार्निवल भी हर महीने औसतन 400 वाहनों की बिक्री के साथ बाजार में मजबूत उपस्थिति दर्ज करा रही है।

इस उपलब्धि पर टिप्पणी करते हुए, किआ इंडिया के चीफ सेल्स ऑफिसर, म्युंग-सिक सोहन ने कहा, “भारत में 3 वर्षों की छोटी सी अवधि में, हमने न केवल खुद को अग्रणी और प्रेरक ब्रांड के रूप में स्थापित किया है, बल्कि नई तकनीकों को अपनाने में भी महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है। मैं किआ इंडिया की सफलता का श्रेय उन सभी को देना चाहता हूं जो इस ईकोसिस्टम का हिस्सा हैं और बन रहे हैं। सबसे महत्वपूर्ण बात यह है कि, मैं अपने उन ग्राहकों के प्रति अपनी गहरी कृतज्ञता व्यक्त करना चाहता हूं जिन्होंने ग्लोबल सप्लाई चेन जैसी समस्याओं के चलते पैदा हुई प्रतिकूल परिस्थितियों में भी ब्रांड पर अपना विश्वास बनाए रखा है। मैं आज गर्व से कहता हूं कि हमने भारतीय उपभोक्ताओं के दिलों में जगह बना ली है और यही हमारी सबसे बड़ी उपलब्धि है।

उन्होंने आगे कहा, "भारत किआ के लिए एक प्राथमिकता वाला बाजार है, और इसलिए देश में हमारे 5 में से 3 प्रोडक्ट न केवल स्थानीय रूप से निर्मित होते हैं बल्कि विभिन्न वैश्विक बाजारों में भी निर्यात किए जाते हैं। हाल ही में, हमने EV6 के लॉन्च और 150kWh के सबसे तेज यात्री वाहन चार्जर को स्थापित करने के साथ भारत में 'सस्टेनेबल मोबिलिटी सॉल्यूशंस प्रोवाइडर' ब्रांड बनने के अपने दृष्टिकोण को साकार किया है। हमारी फोकस एप्रोच के कारण, अब हम किआ की वैश्विक बिक्री में 6% से अधिक का योगदान कर रहे हैं। भारत एक विशाल क्षमता वाला देश है, और हमारा लक्ष्य है कि हम अपने विश्व स्तरीय उत्पादों और तकनीकों को पेश कर भारत में मैन्युफैक्चरिंग के विकास में योगदान देना आगे भी जारी रखें।

Comments

Popular posts from this blog

सरकारी योजनाओं से संबंधित डाटा ढूंढना होगा अब आसान

शब्दवाणी समाचार पाठक संघ के सदस्यों का भव्य स्वागत हुआ और अब सबको मिलेगी एक समान शिक्षा का लांच

रेलवे स्पोर्ट्स प्रमोशन बोर्ड ने प्रशिक्षण शिविर के लिए चयन समिति का गठन किया