सैमसंग ने सॉल्व फॉर टुमॉरो इनोवेशन प्रतियोगिता के लिए युवाओं से आवेदन माँगा

 

बेंगलुरु के युवाओं का कहना है कि वे वेस्ट रिसाइकलिंग, ईंधन की बर्बादी, पानी की कमी और झुग्गी-झोपड़ी की समस्याओं को हल करना चाहते हैं

भाग कैसे लें : 

• कौन भाग ले सकता है: 16-22 वर्ष के छात्र, व्यक्तिगत रूप से या 3 छात्रों की टीम में

• आवेदन का विषय: शिक्षा, पर्यावरण, स्वास्थ्य और कृषि

• उन्हें क्या मिलेगा: ऑनलाइन प्रशिक्षण, सैमसंग और आईआईटी दिल्ली से मेंटरिंग, आईआईटी दिल्ली में बूटकैंप

• विजेताओं को क्या मिलेगा: 3 विजेता टीमों को कुल 1 करोड़ रुपए, 6 महीने के लिए मेंटरिंग

• कहां आवेदन कर सकते हैं: www.samsung.com/in/solvefortomorrow 

• आप कब तक आवेदन कर सकते हैं: 31 जुलाई, 2022, शाम 5 बजे तक

शब्दवाणी समाचार, मंगलवार 16 जुलाई 2022बेंगलुरू। सैमसंग इंडिया द्वारा बेंगलुरू के प्रतिष्ठित सैमसंग ओपेरा हाउस में आयोजित एक एजुकेशन एंड इनोवेशन रोड शो में, कॉलेज के उत्साही युवा छात्रों ने भाग लिया। यहां इन छात्रों ने उन समस्याओं के बारे में जाना, जिनका सामना राज्य और देश में लोग एवं समाज को करना पड़ रहा हैं। इसी के साथ ही इन छात्रों ने बेहतर कल के लिए इन समस्याओं को हल करने का संकल्प भी लिया। विभिन्न कॉलेजों से आए बेंगलुरु के छात्रों ने कहा कि वे रीसाइक्लिंग के लिए कचरे का संग्रह, ग्रामीण भारत में छात्रों तक गुणवत्तापूर्ण शिक्षा पहुंचाना, झुग्गी-झोपड़ी में रहने वाले लोगों के जीवन स्तर में सुधार करने में मदद करना, ईंधन बर्बादी कम करना और वाहनों दक्षता में सुधार, पानी की कमी और डेटा सुरक्षा आदि जैसी दुनिया की मौजूदा समस्याओं को हल करना चाहते हैं।

उन्होंने कहा कि उन्हें सैमसंग के सॉल्व फॉर टुमॉरो एजुकेशन एंड इनोवेशन कॉम्पिटिशन जैसे प्लेटफॉर्म की बहुत जरूरत है जो उनके आइडिया को एक्शन तक ले जाने और लोगों के जीवन को बदलने में मदद कर सके। विभिन्न कॉलेजों के 200 से अधिक छात्रों ने इस आयोजन में भाग लिया। यहां छात्रों ने उन समस्याओं और उनके समाधानों पर चर्चा की जिन्हें वे सुलझाना चाहते हैं। सबसे बड़े मोबाइल एक्सपीरिएंस सेंटर में आयोजित रोड शो ने इनोवेटिव सॉल्यूशंस के माध्यम से समस्याओं के समाधान पर चर्चा की गई। सैमसंग के ग्लोबल सीएसआर प्रोग्राम सॉल्व फॉर टुमॉरो और युवाओं के लिए एक इनोवेशन एवं एजुकेशन कॉम्पटीशन के बारे में बात करने के लिए आयोजित इस कार्यक्रम में, शहर के सोशल एंटरप्रेन्योर, इनोवेटर्स और स्टैंड-अप कॉमेडियन डॉ. जगदीश चतुर्वेदी के साथ बेंगलुरु के 200 से अधिक छात्रों ने भाग लिया।

डॉ. चतुर्वेदी ने कई किफायती चिकित्सा उपकरण विकसित किए हैं। इन उपकरणों का उपयोग आज ग्रामीण क्षेत्रों में किया जा रहा है। डॉ. चतुर्वेदी ने छात्रों को सफलता और विफलता दोनों से जुड़े अपने अनुभवों और अपने आसपास के समुदायों को बदलने की उनकी सोच के बारे में बताया। उनके समाधान ग्रामीण भारत के लिए सुलभ स्वास्थ्य सेवा की समस्या को हल कर रहे हैं। उन्होंने छात्रों से भारत के सामने आने वाली समस्याओं को समझने और अपने अनूठे समाधानों के साथ कल के लिए इन्हें हल करने का आग्रह किया। रोड शो इवेंट सैमसंग ओपेरा हाउस में आयोजित किया गया था, जो भारत में सैमसंग का सबसे बड़ा एक्सपीरियंस सेंटर है।

सॉल्व फॉर टुमॉरो का यह पहला संस्करण भारत में शिक्षा, पर्यावरण, स्वास्थ्य और कृषि के क्षेत्रों में 16 से 22 वर्ष की आयु के युवाओं से आवेदन आमंत्रित कर रहा है। युवा 31 जुलाई 2022 को शाम 5 बजे तक कार्यक्रम में भाग लेने के लिए अपने आइडिया भेज सकते हैं। अब तक, देश भर से 8,000 से अधिक टीमों ने इनोवेशन कॉम्पटीशन के लिए रजिस्ट्रेशन कराया है। इस कॉम्पटीशन में तीन राष्ट्रीय विजेताओं को 1 करोड़ रुपये तक का मेगा सपोर्ट मिलेगा। इसी के साथ ही उनके आइडिया को अगले स्तर तक ले जाने के लिए छह महीने के लिए आईआईटी दिल्ली से एक्सपर्ट गायडेंस भी मिलेगा।

Comments

Popular posts from this blog

सरकारी योजनाओं से संबंधित डाटा ढूंढना होगा अब आसान

शब्दवाणी समाचार पाठक संघ के सदस्यों का भव्य स्वागत हुआ और अब सबको मिलेगी एक समान शिक्षा का लांच

रेलवे स्पोर्ट्स प्रमोशन बोर्ड ने प्रशिक्षण शिविर के लिए चयन समिति का गठन किया