ITC ने पुरी रथ यात्रा के तीर्थयात्रियों के लिये डिजिटल ‘दर्शन’ का अनुभव कराने की किया पहल

◆ आशीर्वाद आटा की इस पहल के माध्‍यम से तीर्थयात्रियों को एक मनोरंजक और सुलभ अनुभव प्रदान किया जाएगा 

शब्दवाणी समाचार, रविवार 3 जुलाई 2022, ओडिशा। ITC  ने  ओडिशा के सबसे मशहूर और प्रतिष्ठित त्यौहार, पुरी रथ यात्रा मनाने के लिए लौट आया है। हर साल लाखों तीर्थयात्री भगवान की एक झलक पाने के लिये इस रथ यात्रा में शामिल होने के लिये एकत्रित होते हैं। भक्तों को एक यादगार अनुभव देने के लिये इस ब्रांड ने एक खूबसूरत मचान तैयार किया है। पट्टचित्र से सुसज्जित यह स्थापना, राज्य के लिये कला का नमूना है जोकि तीर्थयात्रियों को प्राचीन रथ यात्रा का करीब से नजारा करा रही है और व्यक्तिगत रूप से उनके लिए यह यात्रा सुलभ बना रही है। तीर्थयात्री ग्रैंड रोड पर इस स्थापना को गुंडिचा मंदिर के पास देख सकते हैं, जोकि 1 जुलाई 2022 से दर्शन के लिये ऐक्टिव होगा, हर दिन दोपहर 2 बजे से। 

10 दिनों तक चलने वाले इस त्यौहार के दौरान देशभर से लोग, 2 किलोमीटर तक चलने वाली इस रथ यात्रा का हिस्सा बनने के लिये पुरी आते हैं। इसकी शुरूआत जगन्नाथ मंदिर से होती है और यह गुंडिचा मंदिर तक जाती है। चूंकि, लाखों भक्त एकत्रित होते हैं तो रथ और मूर्ति की एक झलक पाना काफी मुश्किल हो जाता है। भक्तों को यात्रा के दौरान एक अर्थपूर्ण अनुभव देने के लिये आशीर्वाद ने उन्नत तकनीक का सहारा लेकर इस परेशानी को दूर करने का प्रयास किया है। यह ब्रांड तीर्थयात्रियों को बिना रुकावट इस भव्य रथ यात्रा के दर्शन के लिये 20x20 फीट मचान तैयार करके दे रहा है। इस स्थापना के सबसे ऊपर तक पहुंचने के लिये प्रतिभागियों को 4-स्तरीय खेल जीतना होगा, जोकि ब्रांड के आटा तैयार करने की 4 प्रक्रियाओं को दर्शाता है। इसके बाद विजेताओं को पहली मंजिल पर जाने का मौका मिलेगा, जहां से खास तौर से लगाए गए हाई रेंज टेलिस्कोप के जरिये रथ और मूर्ति के विस्तृत स्वरूप के दर्शन हो पाएंगे। इसके साथ ही रथ खींचने का अनुभव प्रदान करने के लिये वर्चुअल रियलिटी जोन तैयार किया गया है। खेल के अलावा, इस स्थापना में कला के पट्टचित्र स्वरूप को दर्शाया गया है, जिसे स्थानीय कलाकारों ने पेंट किया है। ओडिशा की समृद्ध परंपरा से कदम से कदम मिलाते हुए, इस ब्रांड ने पुरी की दीवारों पर पट्टचित्र कला रूप वाली कई सारी वॉल पेंटिंग बनाई है।

इस मौके पर अपनी बात रखते हुए, गणेश सुंदररामन, एसबीयू चीफ एक्जीक्यूटिव- स्टेपल्स, स्नैक्स और मील्स, ITC लिमिटेड का कहना है, “पुरी रथ यात्रा राज्य का सबसे लोकप्रिय उत्सव है, जिसमें दुनिया भर से लाखों तीर्थयात्री और पर्यटक भाग लेने के लिए आते हैं। इतनी विशाल सभा के साथ, भीड़ के लिये रथ या मूर्ति का पास से एक झलक पाना बहुत मुश्किल हो जाता है। इस सोच के आधार पर हमने एक ऐसा अनूठा माध्यम तैयार करने का फैसला किया जिससे भक्तों के लिये रथ यात्रा को देखना आसान बनाया जा सके। आशीर्वाद 4-स्टेप मचान/स्थापना की संकल्पना रथ यात्रा की भावना और उत्सव को समृद्ध और जीवंत बनाने के लिये की गई है, यह बिना किसी परेशानी के दर्शन के लिये अपनी तरह का पहला तकनीक सेवी अनुभव है।

Comments

Popular posts from this blog

सरकारी योजनाओं से संबंधित डाटा ढूंढना होगा अब आसान

शब्दवाणी समाचार पाठक संघ के सदस्यों का भव्य स्वागत हुआ और अब सबको मिलेगी एक समान शिक्षा का लांच

उप श्रम आयुक्त द्वारा लिखित में मांगों पर सहमति दिए जाने के बाद ट्रेड यूनियनों ने समाप्त किया धरन : गंगेश्वर दत्त शर्मा