इण्डिया जीआई फेयर और खिलौना-इण्डिया टाय एन्ड गेम्स फेयर का आयोजन 26 से 28 अगस्त तक

  

◆ वोकल फार लोकल और लोकल फार ग्लोबल आत्मनिर्भर भारत को दर्शाता

शब्दवाणी समाचार, शुक्रवार 26 अगस्त 2022, (ऐ के लाल) गौतम बुध नगर।  26 अगस्त से 28 अगस्त तक इण्डिया जीआई फेयर और खिलौना - इण्डिया चाय एन्ड गेम्स फेयर हो रहा है। जिसमे  हस्तशिल्प  निर्यात संवर्धन परिषद को होम लाइफस्टाइल फैशन फर्नीचर और टेक्सटाइल के प्रमुख निर्यात मेलों को आयोजन करने का श्रेय दिया जाता है जिसने अब दो नए शो इंडिया जी आई केयर और खिलौना इंडिया टॉयज एंड गेम फेयर की अवधारणा की है जो 26 से 28 अगस्त तक ग्रेटर नोएडा के इंडिया एक्सपो सेंटर एंड मार्च में एक साथ आयोजित किया जा रहा है विभिन्न मंत्रालयों और उद्योग व्यापार निकायों के समर्थन से इन बी2 बी मेलों में पूरे भारत से इस उद्योग से जुड़ी भागीदारी है और यह भारत एवं विदेशों के कई खरीददारों को आकर्षित करने के लिए तैयार है कईयों ने तो पहले से ही यहां आने के लिए रजिस्टर कराया है ।

इंडिया जीआईपी फेयर को उद्योग संवर्धन और आंतरिक व्यापार विभाग वाणिज्य और उद्योग मंत्रालय हस्तशिल्प, विकास आयुक्त कार्यालय, हथकरघा विकास आयुक्त, कपड़ा मंत्रालय, एमएसएमई मंत्रालय और डाटा एसोसिएशन और इंडिया का समर्थन प्राप्त है। इस मेले की अवधारणा के बारे में ईपीसीएस अध्यक्ष राजकुमार मल्होत्रा ने एक प्रेस वार्ता में बताया कि अपने आप में एक अनुभव है। यह शो बनारस ब्रोकेड और साड़ी, गाजीपुर वाल हैंगिंग, मधुबनी पेंटिंग, अल्लागड्ढा के पत्थर की नक्काशी, वारंगल की दरिया, तंजोर की पेंटिंग, बांकुरा टेराकोटा शिल्प कश्मीर सुजानी सिल्क करीमगंज की चांदी की जरदोजी असम के मूंगा सिल्क बस्तर के ढोकरा आर्ट निर्मल टायर्स उत्तराखंड ओपन शिल्प को स्रोत करने का एक साझा मंच प्रदान करता है। यह सूची अतुलनीय खजाने की तरह अद्भुत है इस शो में भारत के जीआई टैग किए गए उत्पादों की सामूहिक बौद्धिक विरासत और लोकाचार का गठन किया गया है इंडिया जी आई फेयर का उद्देश्य इन अमूल स्थानीय उत्पादों को जो लीगल लोकल भी कहे जाते हैं भारत के साथ पूरी दुनिया में इसकी समझ रखने वालों और ग्राहकों से जोड़ना है।

 ईपीसीएस महानिदेशक राकेश कुमार ने बताया की वैश्विक स्तर पर जीआई टैग उन उत्पादों को दिया जाता है जिनमें कुछ अलग खासियत या गुण हो और जिनके मूल स्थान के साथ परंपरा जुड़ी हो भारत कई ऐसी दुर्लभ चीजों का दावा करता है और इसमें अब तक 390 से अधिक वस्तुएं पंजीकृत हैं। इंडिया जी आई फेयर में 30 राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों के 300 से अधिक जी आई उत्पादों की भागीदारी देखी जाएगी जो एक छत के नीचे जी आई टैग धारक उत्पादों का अब तक का सबसे बड़ा जमावड़ा होगा। इंडिया जी आई शेयर को एक अनोखे बिजनेस समझ के तौर पर देखा जा रहा है। यह अनोखे उत्पादों के साथ ही फिल्मों की अपनी क्षितिज को विस्तार देने की जगह है यहां लोग भारत के सर्वश्रेष्ठ तैयार किए खजानो परंपराओं और दुर्लभ दाताओं को देख सकते हैं। और स्रोत कर सकते हैं। उन्होंने कहा इन्हें विश्व बाजारों में ले जाने की महत्वाकांक्षा के साथ चयनित किया गया है यह तो खरीददारों को भी अपनी एक सुरक्षित जगह बनाने का एक अवसर प्रदान करता है।

इंडिया जीआई एक वह जरूर आने की जगह है जहां आगंतुक बिजनेस करने के लिए सभी हम लोगों और स्टाकहोल्डर से मिल सकते हैं इंडिया जी आई फेयर में भाग लेने वाली अन्य संस्थानों में टी बोर्ड ऑफ इंडिया काफी बोर्ड स्पाइसेज बोर्ड इंडिया कृषि एवं संस्कृत खाद्य उत्पाद निर्यात विकास प्राधिकरण कालीन निर्यात संवर्धन परिषद हथकरघा निर्यात संवर्धन परिषद और अन्य है इस शो के दौरान शिल्प कौशल प्रदर्शन, प्रश्नोत्तरी प्रतियोगिता और भौगोलिक संकेत पारिस्थितिकी तंत्र पर पैनल चर्चा और बाजार से जुड़ाव के माध्यम से ब्रांड प्रचार के लिए पहल जैसे अतिरिक्त आकर्षण की भी योजना बनाई गई है। ईपीसीएस अध्यक्ष राजकुमार मल्होत्रा ने कहा खिलौना इंडिया टायर्स एंड गेम्स फेयर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के वोकल फॉर लोकल और आत्मनिर्भर भारत के दृष्टिकोण के साथ टॉयज एंड गेम्स में भारत को ग्लोबल सोर्सिंग हब बनाने के अपने लक्ष्य के साथ इस सेगमेंट में उत्पादन की अपनी पूरी क्षमता का एहसास कराने की गूंज है।

 वर्चुअल इंडिया टाइप फेयर 1 साल पहले आयोजित किया गया था जिसमें ईपीसीएस इसकी कार्यान्वयन एजेंसी की भूमिका में थी वह पहला कदम था और खिलौना इंडिया फेयर उसी दिशा में एक जोरदार छलांग है खिलौना इंडिया फेयर में भारत के टॉयज एंड गेम्स निर्माण उद्योग के एक समग्र वर्ग को इकट्ठा करना है जहां 200 से अधिक बिजनेस का एक क्रॉस सेक्शन है जिसमें मध्यम एवं छोटे निर्यातकों कारीगर उद्यमियों और भारत के अग्रणी उत्पादकों और निर्यातकों समेत कई स्टार्टअप शामिल हैं इसमें 12 डिस्प्ले कैटेगरी है जिनमें पजल्स एंड बोर्ड गेम्स सॉफ्ट टॉयज एंड प्ले सेट साइड एंड एजुकेशन एंड लर्निंग गेम्स एंड गेम्स एंड किड्स साइकिल एंड इलेक्ट्रॉनिक एंड एंड गेम्स एंड इको फ्रेंडली शामिल है 

जिन अंतरराष्ट्रीय खरीदारों ने मेलों में आने के लिए पंजीकरण कराया है उनमें सऊदी अरब के टायरस शामिल हैं जो एजेंट से प्लेबॉक्स समा को खिलौने और सऊदी अरब से अवकाश दक्षिण अफ्रीका से छोटे पेड़ के खिलौने संयुक्त राज्य अमेरिका से ट्रैक्टर खिलौने वितरण अजरबैजान से जीता समूह सिटी सेंटर वाणिज्य कुवैत विरासत चीता यूएसए अल तमीजी समूह ओमान गिर काउंसिल फाइन फूड्स प्राइवेट लिमिटेड सिंगापुर लागत पर कुवैत पाली दक्षिण अफ्रीका से लड़खड़ा ती है इंडिया बाजार दक्षिण अफ्रीका आदि शामिल हैं भारतीय खुदरा विक्रेताओं ने भी मेले में आने के लिए पंजीकरण कराया है जिनमें आर्चीज मित्रा रिलायंस रिटेल फैमिली और अन्य शामिल हैं इस मेले में टिकाऊ खिलौने एजुकेशनल टॉयज बोर्ड ग्रेंस और पजल पारंपरिक खिलौने छोटे बच्चों के खिलौने और अन्य कई उत्पादों की विस्तृत रेंज के साथ बड़ी संख्या में स्टार्टअप भी भाग ले रहे हैं 

यहां 200 मूर्ति शो भी आयोजित किए जा रहे हैं एक मां शिशु एक्सपो जहां बच्चों के पालन पोषण के लिए विभिन्न प्रकार के उत्पादों सेवाओं सपोर्ट सलाह और टिप्स दी जाएगी दूसरा इस टाइम स्टीम जिसमें अटैक मौजूद उभरती हुई तकनीक को सीखने के लिए एक सकारात्मक अनुभव के अवसर प्रदान करके इसके प्रतिभागियों की जिज्ञासा बढ़ाने के लिए डिजाइन किया गया है यह भी यही साथ साथ  आयोजित किया जा रहा है। उम्मीद की जा रही है कि इस मेले में भारत और विदेश दोनों से आयातक, थोक व्यापारी, ब्रांड के मालिक, स्पेशलिस्ट इन स्टोर्स, खुदरा विक्रेता और इकॉमर्स प्लेटफॉर्म, किंडरगार्टन एंड स्कूल, डिजाइनर्स एंड मर्चेंडाइजर ,प्ले एंड स्पेशल लर्निंग ग्रुप आदि आएंगे।

Comments

Popular posts from this blog

सरकारी योजनाओं से संबंधित डाटा ढूंढना होगा अब आसान

शब्दवाणी समाचार पाठक संघ के सदस्यों का भव्य स्वागत हुआ और अब सबको मिलेगी एक समान शिक्षा का लांच

उप श्रम आयुक्त द्वारा लिखित में मांगों पर सहमति दिए जाने के बाद ट्रेड यूनियनों ने समाप्त किया धरन : गंगेश्वर दत्त शर्मा