सैमसंग प्रिज्म को भारत के 70 इंजीनियरिंग कॉलेजों तक पहुंचाने का लक्ष्य

• सैमसंग का 2025 तक इंडस्ट्री-एकेडमिया प्रोग्राम 

• अब तक इंजीनियरिंग के 4,500 से अधिक छात्रों, 1,000 प्रोफेसरों ने लाइव आरएंडडी प्रोजेक्ट को पूरा करने के लिए सैमसंग आरएंडडी इंस्टीट्यूट, बैंगलोर के साथ मिलकर काम किया है और इंडस्ट्री से जुड़ी जानकारी हासिल की है।

• छात्रों ने आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस, मशीन लर्निंग और आईओटी जैसे अत्याधुनिक डोमेन में पेटेंट दायर किए हैं और तकनीकी पेपर प्रकाशित किए हैं

शब्दवाणी समाचार, मंगलवार 30 अगस्त 2022, गुरुग्राम। भारत का सबसे बड़ा कंज्यूमर इलेक्ट्रॉनिक्स ब्रांड सैमसंग, 2025 तक अपने खास इंडस्ट्री-एकेडमिया प्रोग्राम सैमसंग प्रिज्म (छात्रों के दिमाग को तैयार और प्रेरित करने के लिए) को भारत के 70 इंजीनियरिंग कॉलेजों तक पहुंचाने जा रहा है। इस प्रोग्राम का उद्देश्य भारत के इनोवेशन ईको सिस्टम को प्रोत्साहित करना और छात्रों को उद्योग के लिए तैयार करना है। यह प्रोग्राम डिजिटल इंडिया का सहयोग करने के सैमसंग के दृष्टिकोण को मजबूती प्रदान करते हुए इंजीनियरिंग के छात्रों को अत्याधुनिक डोमेन जैसे आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस, मशीन लर्निंग और आईओटी में पेटेंट फाइल करने और तकनीकी पेपर प्रकाशित करने के लिए प्रेरित करने में काफी सफल रहा है।  

सैमसंग प्रिज्म प्रोगाम को 2020 में शुरू किया गया था और पिछले दो वर्षों में, इस प्रोग्राम के तहत इंजीनियरिंग के 4,500 से अधिक छात्रों और 1,000 प्रोफेसरों ने SRI-B के इंजीनियरों के साथ मिलकर लाइव प्रोजेक्ट सफलतापूर्वक पूरे किए हैं। अब तक, छात्र और प्रोफेसर की टीमों ने SRI-B के इंजीनियरों के साथ मिलकर कई पेटेंट दायर किए हैं और कई रिसर्च पेपर प्रकाशित किए हैं। इस प्रोग्राम के तहत, सैमसंग आरएंडडी इंस्टीट्यूट, बैंगलोर (SRI-B) इंजीनियरिंग कॉलेजों के छात्रों और शिक्षकों के साथ मिलकर काम करता है, यह उन्हें रिसर्च के साथ-साथ डेवलपमेंट प्रोजेक्ट (वर्कलेट) प्रदान करता है। जिसे चार से छह महीने में पूरा करना होता है। छात्रों और प्रोफेसरों की टीम आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस (विजन टेक सहित), मशीन लर्निंग, इंटरनेट ऑफ थिंग्स और कनेक्टेड डिवाइसेस और 5जी नेटवर्क जैसे अत्याधुनिक तकनीकी क्षेत्रों में लाइव आरएंडडी प्रोजेक्ट पर काम करती हैं। इससे छात्रों में उद्योग की जरूरतों के अनुरूप क्षमताओं का निर्माण करने में मदद मिली है। भारत सरकार की नेशनल इंस्टीट्यूशनल रैंकिंग फ्रेमवर्क (NIRF) रैंकिंग में टॉप प्रोजीशन हासिल करने वाले देश भर के इंजीनियरिंग कॉलेजों के छात्रों ने अब तक इस प्रोग्राम में हिस्सा लिया है।

श्रीमनु प्रसाद, टेक स्ट्रैटेजी के प्रमुख, सैमसंग आरएंडडी इंस्टीट्यूट, बैंगलोर, ने कहा, "सैमसंग प्रिज्म प्रोग्राम भारत के युवाओं में इनोवेशन से जुड़ी सोच विकसित करने, हमारे एकेडमिक और इंजीनियरिंग छात्र समुदाय की क्षमता निर्माण की दिशा में हमारा योगदान है। सैमसंग के साथ काम करते हुए, युवा छात्रों को एक आरएंडडी केंद्र में लाइव प्रोजेक्ट से जुड़ा व्यावहारिक अनुभव प्राप्त हुआ है और प्रोफेसरों को अधिक व्यावहारिक उद्योग अनुभव मिला है। यह छात्रों को उद्योग में काम करने के लिए तैयार कर रहा है और डिजिटल इंडिया की मदद करने के हमारे विजन को मजबूती प्रदान कर रहा है। 

Comments

Popular posts from this blog

सरकारी योजनाओं से संबंधित डाटा ढूंढना होगा अब आसान

शब्दवाणी समाचार पाठक संघ के सदस्यों का भव्य स्वागत हुआ और अब सबको मिलेगी एक समान शिक्षा का लांच

उप श्रम आयुक्त द्वारा लिखित में मांगों पर सहमति दिए जाने के बाद ट्रेड यूनियनों ने समाप्त किया धरन : गंगेश्वर दत्त शर्मा