वेकूल ने ताजी सब्जियों से बनाया 7500 वर्गफीट से बड़ा तिरंगा

 

◆ ग्रैण्‍ड इंडियन फूड फ्लैग इंस्‍टॉलेशन में ‘हर घर तिरंगा’ अभियान के तहत लगभग 20 टन सब्जियों की विभिन्‍न किस्‍में थीं

◆ झंडा बनाने में इस्‍तेमाल हुईं सारी सब्जियाँ अक्षय पात्र फाउंडेशन को दान की गईं

शब्दवाणी समाचार, शनिवार 20 अगस्त 2022, बेंगलुरु। 75वें स्‍वतंत्रता दिवस- आजादी का अमृत महोत्‍सव के अवसर पर, भारत के प्रमुख खाद्य एवं कृषि-प्रौद्योगिकी मंच वेकूल फूड्स ने कन्‍नामंगला, बेंगलुरू में अपने वितरण केन्‍द्र के पास लगभग 7632 वर्ग फीट के क्षेत्र में फलों एवं सब्जियों से अपनी तरह के अनूठे झंडे का निर्माण किया। खाद्य पदार्थों से बनाया गया यह झंडा खाद्य की कमी से खाद्य की प्रचुर मात्रा वाला देश बनने तक के भारत के सफल बदलाव का प्रतीक था। इसमें भारत के दुनिया का फूड पावरहाउस बनने के सफर को दर्शाया गया। यह दुनिया में फलों एवं सब्जियों के सबसे बड़े उत्‍पादकों में से भी एक है।

झंडा बनाने में इस्‍तेमाल हुए फलों और सब्जियों को आयोजन के तुरंत बाद अक्षय पात्र फाउंडेशन के सुपुर्द कर दिया गया। ‘हर घर तिरंगा’ अभियान पर एक नये दृष्टिकोण के साथ वेकूल ने भारत में उगाई गई ताजा उपज के सावधानी से किये गये चयन से झंडे के तीन रंग बनाने में सफलता पाई। इसके लिए गाजर, मूली, भिंडी, फलियाँ, शिमला मिर्च और मूल्‍यवर्द्धित उत्‍पाद, जैसे आलू के लच्‍छे, आदि का उपयोग किया गया। ताजी उपज की 20 टन से ज्‍यादा विभिन्‍न किस्‍मों का इस्‍तेमाल किया गया था, जिससे कृषि उपज में भारत की बेजोड़ विविधता दिखाई दी। केसरिया रंग गाजर से मिला, सफेद रंग मूली और आलू के लच्‍छों से, जबकि झंडे को शानदार हरा रंग शिमला मिर्च, फलियों और भिंडी ने दिया। कंपनी ने यह सुनिश्चित करने के लिये अपनी स्‍टोरेज और हैंडलिंग टेक्‍नोलॉजीज का इस्‍तेमाल भी किया ताकि प्रदर्शन के लिये उपयोग की जा रही एक ग्राम उपज भी व्‍यर्थ न जाए और सर्वश्रेष्‍ठ हाईजीन पद्धतियों के साथ उपज को अच्‍छे से हैंडल किया गया। फिर यह उपज अक्षय पात्र फाउंडेशन को दान कर दी गई। सबसे बड़े फूड फ्लैग्‍स में से एक बनाने के साथ कंपनी ने यह भी सुनिश्चित किया कि इसमें इस्‍तेमाल हुई चीजें जरूरतमंद के काम आएं और खाने की बिल्‍कुल भी बर्बादी ना हो। 

वेकूल के विषय में- वेकूल फूड्स भारत का अग्रणी खाद्य एवं कृषि-प्रौद्योगिकी मंच है। खाद्य विकास और वितरण पर केन्द्रित, यह कंपनी खेत से लेकर बिक्री तक एक जटिल आपूर्ति श्रृंखला को बढ़ाने और चलाने के लिये अभिनव प्रौद्योगिकी का इस्‍तेमाल करती है। किसानों के साथ जुड़ने के अपने कार्यक्रम ‘आउटग्रो’ के माध्‍यम से कंपनी लगभग 150,000 किसानों के साथ मिलकर काम करती है। वेकूल कई चैनलों और कैटेगरीज में एक फुल स्‍टैक, व्‍यापक उत्‍पाद श्रृंखला पर काम करती है, जैसे ताजा उपज, स्‍टेपल्‍स और डेयरी और जनरल ट्रेड, मॉडर्न ट्रेड तथा फूड सर्विसेज के क्षेत्र में 100,000 से ज्‍यादा ग्राहकों को सेवायें देती है। वेकूल के कंज्‍यूमर ब्राण्‍ड्स में मधुरम, किचनजी, लेक्‍जोटिक, फ्रेशीज, आदि शामिल हैं।

Comments

Popular posts from this blog

सरकारी योजनाओं से संबंधित डाटा ढूंढना होगा अब आसान

शब्दवाणी समाचार पाठक संघ के सदस्यों का भव्य स्वागत हुआ और अब सबको मिलेगी एक समान शिक्षा का लांच

उप श्रम आयुक्त द्वारा लिखित में मांगों पर सहमति दिए जाने के बाद ट्रेड यूनियनों ने समाप्त किया धरन : गंगेश्वर दत्त शर्मा