भारती फाउंडेशन ने असम के जोरहाट ज़िले में सरकारी स्कूलों के 80 रिसोर्स पर्सन्स को किया प्रशिक्षित

◆ भारती फाउंडेशन, असम राज्य सरकार के साथ साझेदारी में, 80 मास्टर प्रशिक्षकों को प्रशिक्षित करेगा, जो जोरहाट में 1,300 से अधिक सरकारी स्कूलों के 4,000 से अधिक शिक्षकों को देंगे प्रशिक्षण

◆ इस कार्यक्रम से लगभग एक लाख छात्रों को पहुंचेगा लाभ

शब्दवाणी समाचार, वीरवार 4 अगस्त 2022, नई दिल्ली। असम: भारती एंटरप्राइजेज की परोपकारी शाखा, भारती फाउंडेशन ने 80 मास्टर ट्रेनर्स के लिए असम राज्य सरकार के साथ साझेदारी में स्कूल एक्सीलेंस प्रोग्राम के तहत एक व्यापक प्रशिक्षण कार्यक्रम शुरू किया है। इस कार्यक्रम के तहत प्रशिक्षण प्राप्त कर मास्टर ट्रेनर जोरहाट, असम के तेरह सौ से अधिक सरकारी स्कूलों के 4000 से अधिक शिक्षकों को प्रशिक्षित करेंगे। इस कार्यक्रम के माध्यम से शिक्षक एक लाख से अधिक छात्रों को उनके सम्पूर्ण विकास को सुनिश्चित करते हुए समृद्ध शिक्षा-प्राप्ति का अनुभव प्रदान करने में सक्षम होंगे। मास्टर ट्रेनर्स के लिए तीन दिनों का गहन प्रशिक्षण निर्धारित किया गया है और यह कार्यक्र्म के अगले सबसे महत्वपूर्ण चरण के शुभारंभ के लिए निर्धारित है, जिसमें जोरहाट के सरकारी स्कूलों के शिक्षक स्कूल एक्सीलेंस का प्रशिक्षण प्राप्त करेंगे।

इस अवसर पर बोलते हुए एडिशनल डिप्टी कमिश्नर, डीएमसी और एसएसए जोरहाट (असम) कबिता काकाती कोंवर ने कहा, “एक व्यवस्थित शिक्षा प्रक्रिया का निर्माण करना प्रसन्नता का विषय है, जिसमें प्रत्येक भागीदार अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करने और हर बच्चे के स्कूली शिक्षा के अनुभव को समृद्ध करने के लिए सशक्त है। भारती फाउंडेशन अपने सत्य भारती क्वालिटी सपोर्ट प्रोग्राम के माध्यम से 15 सरकारी स्कूलों के साथ जिले में असाधारण कार्य करने में शामिल रहा है। जिले के 1300 से अधिक सरकारी स्कूलों में यह विस्तार निश्चित रूप से गुणवत्तापूर्ण शिक्षा के सिलसिलेवार विकास को गति प्रदान करेगा। भारती फाउंडेशन ने गुणवत्तापूर्ण शिक्षा के विकास के दायरे को बढ़ाने के लिए विस्तृत पैमाने पर सत्य भारती क्वालिटी सपोर्ट प्रोग्राम के तहत 2021 में अपने स्कूल एक्सीलेंस प्रोग्राम की शुरुआत की थी। कार्यक्रम का लक्ष्य मास्टर ट्रेनर्स को प्रशिक्षित करना है, जो बच्चों के लिए समग्र स्कूली शिक्षा के अनुभव को बढ़ाने के लिए स्कूलों के प्रमुखों को सक्षम एवं सशक्त बनाएंगे। इस विकास योजना में तीन शाखाओं पर कार्य करना है, स्कूलों को इस योजना में सम्मिलित करना, सह-शैक्षिक हस्तक्षेपों और जीवन कौशल विकसित करने वाले कार्यक्रमों में छात्रों के प्रदर्शन में सुधार और स्कूल के विकास के लिए माता-पिता के साथ जुड़ाव बढ़ाना। 

श्री एंटनी नेलिसरी, चीफ स्कूल एक्सीलेंस, भारती फाउंडेशन ने इस गौरवशाली अवसर पर कहा, “सुविधाओं से वंचित सामाजिक तौर पर हाशिये पर रह रहे समुदायों के लिए गुणवत्तापूर्ण शिक्षा तक पहुंच में सुधार करना हमारी प्रतिबद्धता है। स्कूल एक्सीलेंस प्रोग्राम हमारे साथ जुड़े सरकारी स्कूलों में इसे सुनिश्चित करने का एक प्रभावी तरीका है। कार्यक्रम के तहत, हम जिले की संसाधन टीम के साथ काम करते हैं और समग्र स्कूल सुधार के लिए प्रमुख मापदंडों की पहचान करने के लिए इस संसाधन टीम के तहत कार्य करने वाले स्कूलों का सहयोग करने में उनकी मदद करते हैं। हमारा उद्देश्य स्कूल एक्सीलेंस प्रोग्राम का अधिक से अधिक लाभ जिले के सभी सरकारी स्कूलों तक पहुंचाना है। 

परिणीता चक्रवर्ती, सहायक आयुक्त, जोरहाट (असम) ने कहा, “गुणवत्तापूर्ण शिक्षा के क्षेत्र में हम भारती फाउंडेशन के साथ साझेदारी कर व तालमेल बनाकर प्रसन्न हैं। मेरा दृढ़ विश्वास है कि फाउंडेशन द्वारा दिया गया प्रशिक्षण शिक्षकों को उन तरीकों में ढलने में मदद करेगा जो उन्हें उनके संस्थानों के लिए अधिक से अधिक योगदान करने में सक्षम बनाता है। इस साझेदारी के माध्यम से, हमें छात्रों को भविष्य में तेजी से होने वाले बदलावों के लिए तैयार करने में मदद मिलेगी। भारती फाउंडेशन ने भारत के 11 राज्यों/केंद्र शासित प्रदेशों में 691 से अधिक सरकारी स्कूलों में सत्य क्वालिटी सपोर्ट प्रोग्राम लागू किया है, जिससे इन सरकारी स्कूलों के 246,257 विद्यार्थी और 9000 शिक्षक सीधे लाभान्वित हो रहे हैं।

Comments

Popular posts from this blog

सरकारी योजनाओं से संबंधित डाटा ढूंढना होगा अब आसान

शब्दवाणी समाचार पाठक संघ के सदस्यों का भव्य स्वागत हुआ और अब सबको मिलेगी एक समान शिक्षा का लांच

उप श्रम आयुक्त द्वारा लिखित में मांगों पर सहमति दिए जाने के बाद ट्रेड यूनियनों ने समाप्त किया धरन : गंगेश्वर दत्त शर्मा