निर्देशक विनोद तिवारी की फ़िल्म ज़िला गोरखपुर का दुसरा पोस्टर हुया रिलीज़

 

शब्दवाणी समाचार, शनिवार 6 अगस्त 2022, नई दिल्ली। तेरी भाभी है पगले और लव जिहाद जैसे ज्वलंत और गंभीर मुद्दे पर द कन्वर्ज़न जैसी फ़िल्मों का निर्देशन कर चुके विनोद तिवारी की आगामी फ़िल्म ज़िला गोरखपुर का  दुसरा पोस्टर रिलीज़ नोस्ट्रुम एंटर्टेन्मेंट हब के बैनर तले कर दिया गया है। आपको ज्ञात  हो की 2018 में निर्देशक विनोद तिवारी ने "जिला गोरखपुर' फ़िल्म बनाने की घोषणा की थी और पोस्टर भी रिलीज़ किया था ।हाल ही में सांसद और भोजपुरी अभिनेता रवि किशन ने भी "गोरखपुर " नाम की फ़िल्म का पोस्टर लेकर अपने इंस्टा पोस्ट किया जिसपर विनोद तिवारी ने IMPPA में पोस्टर के ख़िलाफ़ अप्पति दर्ज कराई।

ज़िला गोरखपुर  फ़िल्म का नाम पहले से ही निर्देशक विनोद तिवारी ने घोषित कर दिया था। बिनोद तिवारी ने कहा की IMPPA रवि किशन  को ये टाइटल दे ही नहीं सकती क्यूँकि पिछले छः साल से मेरे पास है । हो सकता है कि मेरी फ़िल्म का नाम चोरी किया है फ़िल्म का कॉन्सेप्ट भी चुराया है ऐसा  लगता है क्योंकि पोस्टर में भी एक भगवाधारी दिखाई दे रहा है जो मेरी फ़िल्म के पोस्टर से मिल रहा है निर्देशक विनोद तिवारी ने अपनी फिल्म का टाइटल चुराने की शंका ज़ाहिर  की है । जिसपर  प्रतिक्रिया देते अभिनेता रवि किशन ने कहा कि हम विनोद तिवारी जी से रिक्वेस्ट करके ये टाइटल ले लेंगे। 

जिसपर विनोद तिवारी ने भी प्रतिक्रिया देते हुए कहा है कि रवि किशन जी जानबूझकर मामले को ठंडा करना चाहते है  कोई अपनी छः साल की मेहनत किसी को कैसे दे सकता है और कहा की एक सांसद बिना टाइटल लिए फ़िल्म कैसे अनाउन्स कर सकता है ये भी सोचने का विषय है और में किसी भी सूरत में या धमकी से ये सब्जेक्ट रवि जी को नहीं दे सकता , में फ़िल्म बनाऊँगा और 2023 में रिलीज़ भी करूँगा । आपको बता दें कि विनोद तिवारी की 'जिला गोरखपुर' में प्रतीक शुक्ला और विंध्या तिवारी मुख्य भूमिका में होंगे। इससे पहले भी विनोद ने कृष्णा अभिषेक और रजनीश दुग्गल के साथ रोमांटिक कॉमेडी फिल्म 'ये तेरी भाभी है पगले' का निर्देशन कर चुके है।

Comments

Popular posts from this blog

सरकारी योजनाओं से संबंधित डाटा ढूंढना होगा अब आसान

शब्दवाणी समाचार पाठक संघ के सदस्यों का भव्य स्वागत हुआ और अब सबको मिलेगी एक समान शिक्षा का लांच

उप श्रम आयुक्त द्वारा लिखित में मांगों पर सहमति दिए जाने के बाद ट्रेड यूनियनों ने समाप्त किया धरन : गंगेश्वर दत्त शर्मा