पेटीएम क्यूआर से व्यवसाय वृद्धि को मिला बढ़ावा

 

शब्दवाणी समाचार, सोमवार 29 अगस्त 2022मुंबई। देश में डिजिटल भुगतान क्रांति में अग्रणी रहने के बाद, पेटीएम कारोबारियों की व्यवसाय दक्षता को तेजी से बढ़ाने में भी सक्षम रही हैं। आसपास के किराना स्टोर से लेकर बड़े उद्यमों तक लाखों व्यवसायों की मदद के लिए पेटीएम ने साल 2015 में क्विक रिस्पांस (क्यूआर) कोड आधारित भुगतान की शुरुआत की थी। इसने पेटीएम के मर्चेंट पार्टनर्स को पूरी तरह से डिजिटल रूप से भुगतान स्वीकार करने की अनुमति दी। जनवरी 2020 में, कम्पनी ने सभी तरीकों से ऑनलाइन भुगतान प्राप्त करने के लिए वन स्टॉप सॉल्यूशन के साथ मर्चेंट भागीदारों के अपने मजबूत आधार को और सशक्त बनाने के लिए ऑल इन वन क्यूआर कोड पेश करके इस तकनीक के दायरे का विस्तार किया। पेटीएम ऑल इन वन क्यूआर का उपयोग करने वाले व्यवसायों को थर्ड पार्टी के यूपीआई ऐप, रुपे कार्ड और बैंकों से शून्य प्रतिशत और पेटीएम वॉलेट से महज 1 प्रतिशत शुल्क पर भुगतान स्वीकार करने में सक्षम बनाता है।

जहां तक दक्षता की बात है, पेटीएम के ऑल इन वन क्यूआर कोड का उपयोग करना आसान है और यूजर इसे खुदरा दुकानों पर स्कैन कर सकता है, राशि दर्ज कर सकता है और विभिन्न प्रकार के भुगतान विकल्पों का उपयोग करके लेनदेन को निर्बाध रूप से पूरा कर सकता है। जहां तक व्यापारियों का सम्बन्ध है, वे पेटीएम फॉर बिजनेस ऐप पर पंजीकरण करके आसानी से पेटीएम क्यूआर कोड प्राप्त कर सकते हैं और यह सुनिश्चित कर सकते हैं कि उन्हें कभी भी किसी भी रूप में डिजिटल भुगतान स्वीकार करने में चुनौतियों का सामना न करना पड़े। पेटीएम छोटे व्यवसायों को रोमांचक ऑफर और अन्य सेवाएं देकर अपने प्लेटफॉर्म पर उन्हें सशक्त बनाने के लिए एक वफादारी कार्यक्रम भी चलाता है। पेटीएम के मर्चेंट पार्टनर पेटीएम ऑल इन वन क्यूआर कोड के माध्यम से पेटीएम वॉलेट, रूपे कार्ड और सभी यूपीआई-आधारित भुगतान ऐप से भुगतान स्वीकार करने के लिए असीमित रिवॉर्ड पॉइंट अर्जित करने के पात्र हैं। रिवॉर्ड पॉइंट्स को तुरंत वाउचर के लिए या पेटीएम फॉर बिजनेस ऐप जैसे साउण्ड बॉक्स, ईडीसी और अधिक से रोमांचक मर्चेंडाइज खरीदने के लिए भुनाया जा सकता है।

ऑल इन वन क्यूआर के अलावा, पेटीएम से जुड़े व्यवसायों को भी कई लाभ मिलते हैं, जिसमें मर्चेंट लोन जैसी वित्तीय सेवाएं, पेटीएम बिजनेस खाता जैसी व्यावसायिक सेवाएं जैसे ग्राहक लेनदेन को बनाए रखने के लिए एक डिजिटल लेज़र और कई रोमांचक कैशबैक ऑफ़र शामिल हैं। वित्त वर्ष 2022 की चौथी तिमाही तक, पेटीएम के मर्चेंट बेस का विस्तार 26.7 मिलियन व्यापारियों तक हो गया और कम्पनी अपने प्लेटफॉर्म पर अधिक छोटे व्यवसायों को शामिल करने पर ध्यान केन्द्रित कर रही है क्योंकि यह यूपीआई आधारित पीयर टू मर्चेंट (पी2एम) लेनदेन में अपनी नेतृत्व की स्थिति को बनाए रखने का प्रयास करती है।

Comments

Popular posts from this blog

सरकारी योजनाओं से संबंधित डाटा ढूंढना होगा अब आसान

शब्दवाणी समाचार पाठक संघ के सदस्यों का भव्य स्वागत हुआ और अब सबको मिलेगी एक समान शिक्षा का लांच

उप श्रम आयुक्त द्वारा लिखित में मांगों पर सहमति दिए जाने के बाद ट्रेड यूनियनों ने समाप्त किया धरन : गंगेश्वर दत्त शर्मा