किर्लोस्कर ऑइल इंजन ने लॉन्च किया गैस पावर जनरेशन के लिए समाधान

◆ जेनरेटिंग सेट और ड्युअल फ्यूल किट के साथ 

शब्दवाणी समाचार, रविवार 28 अगस्त 2022, नई दिल्ली। भारत के सबसे भरोसेमंद और अग्रणी जेनरेटर ब्रांडों में से एक, किर्लोस्कर ऑइल इंजन ने आज अपनी गैस संचालित जनरेटर रेंज को औपचारिक रूप से लॉन्च किया। किर्लोस्कर हमेशा टिकाऊ और ग्राहक केंद्रित समाधानों पर फोकस करता रहा है। गैस की सस्टेनेबिलिटी और उपलब्धता के लिए बढ़ती चिंताओं के साथ, उद्योग वर्ग उन्हें वैकल्पिक ईंधन आधारित जेनसेट विकल्प के निर्माण के लिए बैकअप पावर समाधान के अग्रणी प्रदाताओं के रूप में देख रहे थे। ये आईओटी सक्षम गैस जनरेटर न केवल पीएनजी पर न केवल चरम अत्यधिक ठंड की स्थिति में भी कुशलता से चलते हैं, बल्कि एक डिजिटल निगरानी प्रणाली भी प्रदान करते हैं जो उपयोगकर्ताओं को लगभग कहीं से भी वास्तविक समय में जनरेटर के प्रदर्शन और महत्वपूर्ण मापदंडों की दूर से निगरानी करने में सक्षम बनाती है। इसके अलावा, इसका उत्सर्जन और शोर का स्तर पारंपरिक जनरेटिंग सेट की तुलना में बहुत कम है। कंपनी ने अपना डूअल फिट किट भी लॉन्च किया जिसे गैस और डीजल के संयोजन पर चलने के लिए मौजूदा और भविष्य के डीजल जनरेटर में फिट किया जा सकता है। इस कार्यक्रम में किर्लोस्कर की चैनल पार्टनर सुश्री गौरी किर्लोस्कर, प्रबंध निदेशक श्री अरविंद छाबड़ा, वाइस प्रेसिडेंट-प्राइम पावर सॉल्यूशंस और किर्लोस्कर ऑइल इंजन्स के अन्य वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे।

अरविंद छाबड़ा  ने इस उत्पाद के बारे में बताते हुए कहा कि कोल्हापुर के कागल में कंपनी के कार्बन न्यूट्रल प्लांट में निर्मित ये सीपीसीबी-II अनुपालक गैस जेनरेटर न केवल सीपीसीबी-II उत्सर्जन मानदंडों का पालन करते हैं, बल्कि उनसे भी आगे हैं। जेनसेट में कम पार्टिकुलेट मैटर के परिणामस्वरूप पर्यावरण का संरक्षण होगा। इन गैस जेनसेट की समग्र सुरक्षा को इसकी  डिजाइन में ही सर्वोपरि स्थान दिया गया है। इसके अलावा, ज्यादा स्वच्छ ऊर्जा स्रोत के रूप में प्राकृतिक गैस अन्य जीवाश्म इंधनों की तुलना में अपनी ज्यादा उपलब्धता और फायदों की बदौलत ज्यादा संवहनीय, विश्वसनीय, किफायती, कार्यकुशल और पर्यावरण हितैषी ऊर्जा संक्रमण की दिशा में अवस्थांतर को संभव बनाती है।

लॉन्च समारोह में गौरी किर्लोस्कर ने कहा कि इस नवीन तकनीक का सफल लॉन्च न केवल एक स्वच्छ और अधिक टिकाऊ भविष्य के प्रति हमारी प्रतिबद्धता का प्रमाण है, बल्कि यह एक व्यापक, मेक-इन-इंडिया, किफायती की स्वच्छ ऊर्जा समाधान की दिशा में एक कदम भी है। ऐसे समय में जब दुनिया भर में भू-राजनैतिक दबावों के कारण ऊर्जा की लागत बढ़ रही है, ऊर्जा परिदृश्य में महत्वपूर्ण परिवर्तन हो रहे हैं। वैकल्पिक ऊर्जा प्रौद्योगिकियों के लिए अपार संभावनाओं वाला एक बड़ा बाजार सभी क्षेत्रों में उभर रहा है।

Comments

Popular posts from this blog

सरकारी योजनाओं से संबंधित डाटा ढूंढना होगा अब आसान

शब्दवाणी समाचार पाठक संघ के सदस्यों का भव्य स्वागत हुआ और अब सबको मिलेगी एक समान शिक्षा का लांच

उप श्रम आयुक्त द्वारा लिखित में मांगों पर सहमति दिए जाने के बाद ट्रेड यूनियनों ने समाप्त किया धरन : गंगेश्वर दत्त शर्मा