पेटीएम ने पिरामल फाइनेंस के साथ किया साझेदारी

 

◆ भारत के व्यापारियों और छोटे व्यवसायों को लोन देने के लिये आए साथ

शब्दवाणी समाचार, बुधवार 17 अगस्त 2022, मुंबई। वन97 कम्युनिकेशंस लिमिटेड, भारत की अग्रणी डिजिटल भुगतान एवं वित्तीय सेवा कंपनी और क्यूआर एवं मोबाइल भुगतान में सबसे आगे ब्राण्ड पेटीएम का मालिक है, ने पिरामल कैपिटल एण्ड हाउसिंग फाइनेंस लिमिटेड के साथ एक साझेदारी की घोषणा की है। इस साझेदारी के तहत मर्चेंट लोन्स का विस्तार भारत के छोटे शहरों और कस्बों तक किया जाएगा। पिरामल कैपिटल एण्ड हाउसिंग फाइनेंस लिमिटेड, पिरामल एंटरप्राइजेस लिमिटेड के पूर्ण-स्वामित्व वाली सहायक कंपनी और भारत की एक स्थापित वित्तीय सेवा कंपनी है। इस साझेदारी से पेटीएम का लोन वितरण व्यवसाय विस्तृत होगा, क्योंकि उसे पिरामल फाइनेंस की भारत में 300 से अधिक शाखाओं के व्यापक नेटवर्क का सहयोग मिलेगा। इससे छोटे व्यवसायों और रिटेलर्स को ऋण तक पहुँच देकर वित्तीय समावेशन में भी मदद मिलेगी।

पेटीएम ने देशभर के बड़े और छोटे शहरों से व्यापारियों की एक बड़ी संख्या हासिल की है। यह एक बड़ा आधार है, जिसका पिरामल फाइनेंस फायदा उठाना चाहती है और डाटा से संचालित अंडरराइटिंग तथा व्यवसाय की आय के आधार पर ऋण की मंजूरी के माध्यम से छोटे व्यवसायों के मालिकों को आसानी से ऋण देना चाहती है। इसके अलावा, यह साझेदारी जल्दी ही व्यक्तिगत लोन को शामिल करेगी, जहां पिरामल फाइनेंस जोखिम एवं ग्राहक वर्ग की गहरी समझ लेकर आएगी। पेटीएम के ऋण व्यवसाय को बड़े पैमाने पर अपनाया गया है और यह भागीदारी ‘ऋण के लिये नये’ व्यापारी भागीदारों को प्लेटफॉर्म पर लेकर आएगी। इसके द्वारा वे आसानी से लोन पा सकेंगे और अपने व्यवसाय की पूंजी सम्बंधी जरूरतें पूरी कर सकेंगे। व्यापारी भागीदार 10 लाख रुपये तक के लोन ले सकेंगे, जिनकी अवधि 6 से 24 महीने होगी। सुविधा के लिये पेटीएम न्यूनतम दस्तावेजों के साथ ऑनबोर्डिंग की प्रक्रिया को पूरी तरह से डिजिटल रखेगी।

पेटीएम में ऋण के सीईओ और पेमेंट्स के हेड भावेश गुप्ता ने कहा, “हमारे सभी ऋण उत्पादों में लगातार तेज वृद्धि हो रही है, जिसमें हम छोटे शहरों और कस्बों के एमएसएमई को डिजिटल क्रेडिट तक पहुँच देकर सशक्त करते हैं। हमारे ऋण उत्पादों की सफलता और पैमाना हमें विस्तार करने और अपने ऋण की पेशकशों को और भी बढ़ाने का आत्मविश्वास देता है। पिरामल फाइनेंस के साथ हमारी भागीदारी उसी दिशा में एक अन्य कदम है, जिसके तहत हम मिलकर ज्यादा व्यापारियों को औपचारिक ऋण की अर्थव्यवस्था में लेकर आएंगे। पेटीएम प्लेटफॉर्म पर मर्चेंट लोन्स को व्यापक तौर पर अपनाया जाना रिपीट लोन्स के बड़े परिमाण से दिखता है। लोन के कुल मूल्य का 50% से ज्यादा उन व्यापारियों को दिया गया है, जो पहले कोई लोन ले चुके थे। इससे पेटीएम प्लेटफॉर्म पर व्यापारियों के जुड़ाव का पता चलता है। इसके अलावा, कंपनी ने लोन्स के औसत टिकट साइज में भी बढ़त देखी है।

Comments

Popular posts from this blog

सरकारी योजनाओं से संबंधित डाटा ढूंढना होगा अब आसान

शब्दवाणी समाचार पाठक संघ के सदस्यों का भव्य स्वागत हुआ और अब सबको मिलेगी एक समान शिक्षा का लांच

उप श्रम आयुक्त द्वारा लिखित में मांगों पर सहमति दिए जाने के बाद ट्रेड यूनियनों ने समाप्त किया धरन : गंगेश्वर दत्त शर्मा