श्री सिराजुद्दीन ने गुलाबी आंदोलन की मुहीम में 111 सम्मानित योद्धा को दिलाया शपथ

◆ जनसभा सदस्यों ने श्री सिराजुद्दीन जी को उपहार देकर किया सम्मानित 

शब्दवाणी समाचार, वीरवार 27 अक्टूबर 2022, सम्पादकीय व्हाट्सप्प 8803818844,  ग़ाज़ियाबाद। गुलाबी आंदोलन की किसी अनजान भीख मांगने वाले को भीख ना दें की राष्ट्रव्यापी मुहीम में शब्दवाणी समाचार (हिंदी दैनिक) के स्थाई पाठकों की सामाजिक संस्था शब्दवाणी समाचार पाठक संघ द्वारा संचालित भारतीय मतदाताओं का अपना जनसभा संसद के खंड 90C1 के वरिष्ठ सदस्य श्री सिराजुद्दीन ने जनसभा संसद समर्थित गुलाबी आंदोलन की राष्ट्रव्यापी मुहीम के अंतर्गत 111 लोगों को किसी अनजान भीख मांगने वाले को भीख ना देने की शपथ दिलाकर उनको अपने क्षेत्र को किसी अनजान भीख मांगने वाले से मुक्त कराने के लिए सम्मानित योद्धा बनाया सभी शपथकर्ता को जल्द गुलाबी आंदोलन दान पात्र को उपहार स्वरूप प्रदान किया। 

जनसभा संसद गुलाबी आंदोलन की मुहीम को समर्थित इसलिए क्र रहा है एक सर्वे के अनुसार भारत में प्रत्येक वर्ष 5 लाख छोटे बच्चों को चोरी होती है। और अनुमान है यह बच्चे भीख मांगवाने वाले गिरोह चोरी करवाकर उनसे भीख मांगने के लिए मजबूर करते हैं। इन बच्चों को बचाने के लिए इस ाभ्यां की आबश्यकता पड़ी साथ ही अधिकतर किसी भी अनजान भीख मांगने वाले को जितना भी भीख देकर उसकी सहायता कर दें वो फिर भी इनकी मजबूरी खत्म नहीं होगी। कियोंकि इन्होने भीख मांगना मजबूरी नहीं काम बना है। 

गुलाबी आंदोलन दान पात्र सभी किसी अनजान भीख मांगने वाले शपथकर्ता सम्मानित योद्धा को इसलिए दिया जाता है जब भी किसी अनजान भीख मांगने वाले की भीख देकर सहायता करने का मन बने तो गुलाबी आंदोलन दान पात्र में जमा कर लें जब भी कोई जानकार जरूररतमन्द दिखे तो उसकी सहायता कर दें। लेकिन गुलाबी आंदोलन कहता है अगर संभव हो तो गुलाबी आंदोलन दान पात्र वाले कुछ सम्मानित योद्धा मिलकर किसी को गुलाबी आंदोलन दान पात्र में जमा रूपये को सभी मिलकर किसी छोटे-मोठे रोज़गार करने में सहायता करें तो उसके साथ-साथ समाज में एक नया बदलाव आएगा। 


 

Comments

Popular posts from this blog

सरकारी योजनाओं से संबंधित डाटा ढूंढना होगा अब आसान

शब्दवाणी समाचार पाठक संघ के सदस्यों का भव्य स्वागत हुआ और अब सबको मिलेगी एक समान शिक्षा का लांच

उप श्रम आयुक्त द्वारा लिखित में मांगों पर सहमति दिए जाने के बाद ट्रेड यूनियनों ने समाप्त किया धरन : गंगेश्वर दत्त शर्मा