राजस्थानी अकादमी ने 30वीं राजस्थानी लोक नृत्य प्रतियोगिता का आयोजन किया

शब्दवाणी समाचार, सोमवार 17 अक्टूबर 2022, सम्पादकीय व्हाट्सप्प 8803818844, नई दिल्ली। राजस्थानी अकादमी ने शनिवार 15 अक्टूबर को कमानी ऑडिटोरियम कॉपरनिकस मार्ग नई दिल्ली में 30वीं राजस्थानी लोक नृत्य प्रतियोगिता और 8 वीं पेंटिंग प्रतियोगिता का सफलतापूर्वक आयोजन किया। अध्यक्ष गौरव गुप्ता ने बताया कि राजस्थानी अकादमी की स्थापना 32 वर्ष पूर्व स्वर्गीय श्री राम निवास और आशा रानी लखोटिया ने की थी। अकादमी भारत की राजधानी में इस तरह के आयोजन कर राजस्थानी कला और संस्कृति को बढ़ावा दे रही है। कोरोना के दो साल को छोड़कर नृत्य प्रतियोगिता का हर साल आयोजित किया गया। 

सचिव श्रीमती सुमन माहेश्वरी ने बताया कि इस वर्ष राजस्थानी लोक नृत्य प्रतियोगिता में दिल्ली और एनसीआर के 27 स्कूलों ने भाग लिया है।  जिसमे 250 से अधिक छात्रों ने भाग लिया। अशोक मेमोरियल स्कूल ने प्रथम पुरस्कार जीता और सिरडी साईं बाबा स्कूल ने द्वितीय पुरस्कार जीता और सीआरपीएफ स्कूल द्वारका ने तीसरा पुरस्कार जीता। ब्लू बेल्स के साथ कैंटबरी पब्लिक स्कूल और लिटिल फ्लावर स्कूल ने भी विभिन्न पुरस्कार जीते। श्री सुशील बिहानी ने बताया कि अनेक विद्यालयों से 150 से अधिक पेंटिंग प्राप्त हो चुकी हैं। कार्यक्रम में विजेताओं को पुरस्कृत किया गया। अध्यक्ष गौरव गुप्ता ने बताया कि इस वर्ष मथुरा की सुश्री सोनिका शर्मा को छठा सुभाष लखोटिया श्रवण कुमार पुरस्कार प्रदान किया गया। उन्हें दिल्ली विधानसभा के अध्यक्ष श्री राम निवास गोयल और भाजपा नेता श्री श्याम जाजू द्वारा प्रतिष्ठित पुरस्कार में मेरिट प्रमाण पत्र और एक लाख रुपये से सम्मानित किया गया। इस अवसर पर कई देशों के राजनयिकों, वीआईपी और मेहमानों ने शिरकत की। त्रिनिदाद और टोबैगो के महामहिम डॉ रोजर गोपाल राजदूत, सर्बिया के उप राजदूत, इथियोपिया, नेपाल और फिलिस्तीन के राजनयिकों ने इस अवसर पर शिरकत की। पदमश्री नलिनी कमलिनी समेत कई जानी-मानी हस्तियां मौजूद रहीं। 

Comments

Popular posts from this blog

सरकारी योजनाओं से संबंधित डाटा ढूंढना होगा अब आसान

शब्दवाणी समाचार पाठक संघ के सदस्यों का भव्य स्वागत हुआ और अब सबको मिलेगी एक समान शिक्षा का लांच

उप श्रम आयुक्त द्वारा लिखित में मांगों पर सहमति दिए जाने के बाद ट्रेड यूनियनों ने समाप्त किया धरन : गंगेश्वर दत्त शर्मा