वेद सृष्टि चलाने का संविधान : साध्वी द्रोप्ती तनेजा

 

शब्दवाणी समाचार, शनिवार 22 अक्टूबर 2022, सम्पादकीय व्हाट्सप्प 8803818844, गाजियाबाद। केन्द्रीय आर्य युवक परिषद के तत्वावधान में "वेद सृष्टि का आदि ज्ञान" विषय पर ऑनलाइन गोष्ठी का आयोजन किया गया।वैदिक विदुषी द्रोप्ती तनेजा ने कहा कि परमात्मा ने चार ऋषियों अग्नि,वायु,आदित्य,अंगिरा के माध्यम से वेद ज्ञान सृष्टि के प्रारम्भ में दिया यह सृष्टि चलाने का संविधान है।उन्होंने कहा कि वेद में कोई गप,किस्से या कहानियां नहीं है अपितु भिन्न भिन्न विषयो का ज्ञान है।जब वेद भारत में लुप्त हो गए थे तो महर्षि दयानंद सरस्वती ने जर्मनी से मंगा कर पुनर्स्थापना की।हमें प्रतिदिन एक वेद मंत्र का स्वाध्याय करना चाहिए।वेद मानवता के पोषक हैं वेद मार्ग पर चलकर ही विश्व में शांति स्थापित हो सकती है। केन्द्रीय आर्य युवक परिषद के राष्ट्रीय अध्यक्ष अनिल आर्य ने संचालन किया वेद विश्व की धरोहर बताया।मुख्य अतिथि आर्य नेता आर पी सूरी व अध्यक्ष डॉ.कल्पना रस्तोगी ने भी वेदों की प्राचीनता के प्रमाण दिए। राष्ट्रीय मंत्री प्रवीण आर्य ने कहा कि वेद ज्ञान का अथाह भण्डार है ओर ऑनलाइन उपस्थित शक्ति और भक्ति स्वरूपा मातृशक्ति एवं देवतुल्य भ्रताओं का धन्यवाद ज्ञापित किया। गायिका प्रवीणा ठक्कर, रविन्द्र गुप्ता, रचना वर्मा,, रजनी चुग, ओम सपरा, ईश आर्य(हिसार), विमल चड्डा (केन्या नरोबी), अनिता रेलन (अमेरिका),सुरेन्द बुधिराजा (लंदन), ईश्वर देवी (अलवर),सुनीता अरोड़ा (अमृतसर),कृष्णा गांधी (सोनीपत), जनक अरोड़ा (पानीपत),कुसुम भंडारी आदि ने भी अपने विचार रखे।

Comments

Popular posts from this blog

सरकारी योजनाओं से संबंधित डाटा ढूंढना होगा अब आसान

शब्दवाणी समाचार पाठक संघ के सदस्यों का भव्य स्वागत हुआ और अब सबको मिलेगी एक समान शिक्षा का लांच

उप श्रम आयुक्त द्वारा लिखित में मांगों पर सहमति दिए जाने के बाद ट्रेड यूनियनों ने समाप्त किया धरन : गंगेश्वर दत्त शर्मा