उपभोक्ताओं से अधिक खर्च करने की उम्मीद कर सकते हैं ब्रांड : सर्वे

 

• 74 प्रतिशत उपभोक्ताओं की योजना ई-कॉमर्स साइटों के माध्यम से खरीदारी की है

• 52 प्रतिशत उपभोक्ता ऐसे हैं, जो नए इलेक्ट्रॉनिक उत्पाद खरीदना चाहते हैं

शब्दवाणी समाचार, शुक्रवार 14 अक्टूबर 2022, सम्पादकीय व्हाट्सप्प 8803818844, नई दिल्ली। भारतीय माइक्रो-ब्लॉगिंग मंच, कू ऐप के साथ साझेदारी में ऐडगली ने भारत के त्योहारी मौसम के दौरान उभरते खरीदारी के रुझान जारी किए हैं। राष्ट्रीय स्तर पर किए गए एक सर्वेक्षण 'त्योहारी मौसम में भारत कैसे खर्च करता है', में करीब चार लाख प्रतिक्रियाएं आई हैं। यह सर्वेक्षण भारत में रहने वाले लोगों की खरीदारी के व्यवहार पर रोशनी डालता है। डिजिटल डिवाइस और ऐप में लगातार बढ़ते वक्त से लेकर नए ब्रांड आज़माने की बढ़ती इच्छा तक, उपभोक्ता आज जिस तरह से ऑनलाइन खरीदारी में संलग्न हैं, कोरोना महामारी ने इसके असल ढंग को बदल दिया है। कई दिलचस्प तथ्यों के साथ यह सर्वेक्षण दिखाता है कि ऑनलाइन खरीदारी के प्रति उपभोक्ताओं की मानसिकता बदल गई है। इस सर्वेक्षण की मुख्य बातें निम्न हैं :

1. 74 प्रतिशत उपभोक्ताओॆं की योजना ऑनलाइन खरीदारी करने की है

2. 52 प्रतिशत उपभोक्ता नए इलेक्ट्रॉनिक उत्पाद खरीदने का विकल्प चुन रहे हैं

3. सर्वेक्षण में शामिल 70 प्रतिशत लोग इस त्योहारी मौसम में यात्रा करने का विकल्प चुन रहे हैं

4. प्रतिक्रिया देने वाले 84 प्रतिशत अपने मोबाइल फोन को अपग्रेड करने के लिए 15,000 रुपये तक खर्च करेंगे

5. 67 फीसदी उपभोक्ता इस त्योहारी सीजन के दौरान 10,000 रुपये तक खर्च करने को तैयार हैं

6. सबसे ज्यादा प्राथमिकता के रूप में यात्रा से जुड़ी सुविधाएँ हैं

दरअसल, त्योहारी मौसम वर्ष का वो सबसे व्यस्त समय होता है जब भारतीय अपने प्रियजनों के लिए खरीदारी करते हैं और यह सर्वेक्षण देश के विभिन्न आयु-लिंग-वर्ग-स्थान में भी ग्राहकों की दिलचस्प बारीकियां पेश करता है। अपनी-अपनी श्रेणियों में सैमसंग मोबाइल, शुगर कॉस्मेटिक्स, अमेज़न, पिज्जा हट, डीलशेयर और मेकमाईट्रिप जैसे ब्रांड सबसे पसंदीदा रहे हैं। इस सर्वेक्षण के निष्कर्षों पर कू ऐप के चीफ बिजनेस ऑफिसर, सुनील कामथ ने कहा, “त्योहारों का मौसम वह समय होता है जब पूरा देश पूरे दिल से जश्न मनाता है, जिसका मतलब है कि सभी सामाजिक-आर्थिक समूह के लोग ज्यादा खर्च करते हैं। इंटरनेट के बढ़ते इस्तेमाल के साथ, मार्केटिंग से जुड़े लोग अपने डिजिटल मार्केटिंग मिक्स के लिए नए चैनल तलाशते हैं। हमारे जैसे प्लेटफॉर्म, देश के कोने-कोने से ब्रांड्स को यूजर्स तक आसान पहुंच प्रदान करते हैं। कू ऐप के 80 प्रतिशत से ज्यादा यूजर्स असली भारत यानी टियर 2 और टियर 3 शहरों से हैं। मंच पर विभिन्न भौगोलिक और भाषाओं के यूजर्स होने से कंपनियों को उनकी यात्रा के हर चरण में उपभोक्ताओं को प्रभावित करने में मदद मिलती है।

ऐडगली के संस्थापक और सीईओ बिजोया ने कहा, "लगभग 4 लाख प्रतिक्रियाओं के साथ यह अब तक हमारे द्वारा किए गए सर्वेक्षण के लिए सबसे बड़ी संख्या है। यह एक गहन और व्यावहारिक सर्वेक्षण है जिसने भारत में विशेष रूप से त्योहारी मौसम में उपभोक्ताओं की भावनाओं का पता लगाया है। हम इस साझेदारी और इस सीजन के दौरान खरीदार कैसे सोचते-व्यवहार करते हैं, यह समझने में मदद करने के लिए कू ऐप का आभार अदा करते हैं। यह एक बहुत ही कारगर अभ्यास रहा है, जो कंपनियों को त्योहारी मौसम के दौरान रणनीतिक योजना के साथ बेहतर बनने और बढ़ने में मदद कर सकने वाली जानकारी देता है।

Comments

Popular posts from this blog

सरकारी योजनाओं से संबंधित डाटा ढूंढना होगा अब आसान

शब्दवाणी समाचार पाठक संघ के सदस्यों का भव्य स्वागत हुआ और अब सबको मिलेगी एक समान शिक्षा का लांच

उप श्रम आयुक्त द्वारा लिखित में मांगों पर सहमति दिए जाने के बाद ट्रेड यूनियनों ने समाप्त किया धरन : गंगेश्वर दत्त शर्मा