सर्व सर्वदलीय गौरक्षा मंच की अध्यक्षता में 5 वां विशाल मां भद्रकाली स्थापना दिवस का आयोजन

 

शब्दवाणी समाचार शुक्रवार 20 जनवरी 2023, सम्पादकीय व्हाट्सप्प 8803818844, नई दिल्ली। श्री कदम बाबा ज्योतिष सेवा केंद्र की ओर से मां भद्रकाली का पांचवा स्थापना दिवस मनाया जाएगा नई दिल्ली देश विदेश में प्रख्यात ज्योतिषाचार्य पंडित अमित कुमार शांडिल्य के पावन सानिध्य में आगामी 22 जनवरी 2023 दिन रविवार को जागृति विहार में भव्य आयोजन व विशाल भंडारे का आयोजन किया गया है मान्यता है कि जो भी श्रद्धालु सच्चे मन से पूर्ण श्रद्धा और विश्वास से मां के श्री चरणों में अपनी अर्जी लगाता है मां उसकी मनोकामना पूर्ण करके उन पर कृपा करती है यहां पर हर वर्ष हजारों भक्तगण मां की मंगला आरती में तथा बहुजन प्रसाद ग्रहण करते हैं यह मां भद्रकाली की मंगला आरती में शहर के प्रदेश के गणमान्य व्यक्ति तथा दूर-दूर से आए समस्त भक्तगण अपनी कामना लेकर उपस्थित होते हैं तथा प्रसाद ग्रहण करते हैं 

इस समारोह में श्री मुकेश सिंगल महानगर अध्यक्ष भारतीय जनता पार्टी मेरठ श्री  अमित अग्रवाल विधायक कैंट मेरठ श्री संजीव जैन सिक्का राज्यमंत्री उत्तर प्रदेश सरकार श्री लोकेश प्रजापति राज्य मंत्री उत्तर प्रदेश श्री बलराज गुप्ता मंडल अध्यक्ष भारतीय जनता पार्टी राजीव चौधरी प्रदेश उपाध्यक्ष सर्वदलीय गौ रक्षा मंच उत्तर प्रदेश अनिल वर्मा महामंत्री ओबीसी मोर्चा मेरठ गाजियाबाद से श्री संजीव गुप्ता श्री अनीता गुप्ता अंजू मिश्रा शिप्रा सूरज जी सुशील कुमार प्रजापति देहरादून से संजय सिंह सिसोदिया संध्या सिसोदिया दिल्ली से सोनी मित्तल सहारनपुर से श्री कमल कुमार जी श्रीमती अर्चना जी से प्रियंका अमरोहा डॉ हिमांशु डागर मेरठ से रविंद्र वर्मा सीए मयंक चौहान शिव पूजा चौहान हितेश प्रधान नम्रता प्रधान गौरव त्यागी सौरभ त्यागी सुरभि त्यागी दुष्यंत राघव रिया राघव नोएडा से अंकिता वर्मा गौरव वर्मा मेरठ से ममता गुप्ता रुचि गुप्ता संजय गुप्ता  पामेश गुप्ता शहीद देशभर से श्रद्धालु संत समाज व समाजसेवी शामिल होंगे उल्लेखनीय है कि विद्वान ज्योतिषाचार्य अमित कुमार शांडिल्य ने सन 2013 में नरेंद्र मोदी के प्रधानमंत्री बनने की भविष्यवाणी कर दी थी

Comments

Popular posts from this blog

शब्दवाणी समाचार पाठक संघ के सदस्यों का भव्य स्वागत हुआ और अब सबको मिलेगी एक समान शिक्षा का लांच

उप श्रम आयुक्त द्वारा लिखित में मांगों पर सहमति दिए जाने के बाद ट्रेड यूनियनों ने समाप्त किया धरन : गंगेश्वर दत्त शर्मा

तुलसीदास जयंती पर जानें हनुमान चालीसा की रचना कैसी हुई : रविन्द्र दाधीच