ओरिएंट इलेक्ट्रिक ने रेल भवन, बड़ौदा हाउस और त्रावणकोर हाउस को तिरंगे रंग में किया रोशन

 

शब्दवाणी समाचार बुधवार 25 जनवरी 2023, सम्पादकीय व्हाट्सप्प 8803818844, नई दिल्ली। ओरिएंट इलेक्ट्रिक, जो कि 2.4 बिलियन डॉलर विविधीकृत सीके बिरला ग्रुप का अंग है, ने गणतंत्र दिवस के उपलक्ष्य में रेल भवन, बड़ौदा हाउस और त्रावणकोर हाउस को तिरंगे के रंग में जगमगाया है। कंपनी ने देश में ही विकसित फसाड लाईटिंग समाधानों का उपयोग कर इस स्टेशन को रोशन किया, जिनमें रौशनी के स्तरों, रंगों, और इफेक्ट्स को कंट्रोलर्स के माध्यम से प्रोग्राम किया जा सकता है। रेल भवन भारतीय रेलवे का मुख्यालय है, बड़ौदा हाउस कभी दिल्ली में बड़ौदा के महाराजा का निवास था, और त्रावणकोर हाउस, जिसे त्रावणकोर महल के रूप में भी जाना जाता है, एक सांस्कृतिक परिसर और आर्ट गैलरी में तब्दील एक विरासत इमारत है। ओरिएंट ने सांस्कृतिक और ऐतिहासिक महत्व के इन तीनों स्थलों को तिरंगे में रोशन किया है, जो आगंतुकों के लिए एक आकर्षक अनुभव प्रदान करता है।

ओरिएंट इलेक्ट्रिक लिमिटेड के एग्ज़िक्यूटिव वाईस प्रेसिडेंट, पुनीत धवन ने कहा, ‘‘हमें इस प्रतिष्ठित इमारतों को रोशन करने के लिए संबंधित सरकारी विभाग के साथ मिलकर काम करने पर गर्व है। देशभक्ति की भावना को जागाते हुए इन इमारतों के स्थापत्य सौंदर्यशास्त्र को सामने लाने और आगंतुकों के लिए एक बेहतरीन विज़्युअल अनुभव में बदलने के लिए तिरंगे की रोशनी की गई है।भारत में फसाड लाईटिंग का तेजी से विकास हो रहा है। भारत सरकार महत्वपूर्ण भवनों और स्मारकों को सजाने व रोशन करने तथा नाईट टूरिज़्म बढ़ाने के लिए फसाड लाईटिंग पर काफी बल दे रही है। हम कुछ एक भारतीय कंपनियों में से एक हैं, जिनके पास ऐसी परियोजनाओं को सफलतापूर्वक पूर्ण करने के लिए डिज़ाईन दक्षता, तकनीकी विशेषज्ञता, एवं कार्यान्वयन क्षमता है। कंपनी इस पहल के साथ #OrientLightsUpIndia कैम्पेन भी चला रही है, जिसके अंतर्गत कंपनी ने भारत में महत्वपूर्ण भवनों को ओरिएंट फसाड लाईटिंग के साथ तिरंगे के रंगों में रोशन किया। इन महत्वपूर्ण भवनों में नई; वाराणसी में वाराणसी कैंट रेलवे स्टेशन; कानपुर में गंगा बैरेज, पॉन्डिचेरी में भारती पार्क, बरेली जंक्शन रेलवे स्टेशन और भोपाल में रानी कमलापति रेलवे स्टेशन शामिल हैं।

Comments

Popular posts from this blog

शब्दवाणी समाचार पाठक संघ के सदस्यों का भव्य स्वागत हुआ और अब सबको मिलेगी एक समान शिक्षा का लांच

उप श्रम आयुक्त द्वारा लिखित में मांगों पर सहमति दिए जाने के बाद ट्रेड यूनियनों ने समाप्त किया धरन : गंगेश्वर दत्त शर्मा

तुलसीदास जयंती पर जानें हनुमान चालीसा की रचना कैसी हुई : रविन्द्र दाधीच