पेटीएम ने यूपीआई लाइट की मदद से सिंगल क्लिक पेमेंट को बनाया मुमकिन

 

◆ अब 200 रुपये तक बिना पिन के यूपीआई भुगतान करें

शब्दवाणी समाचार, वीरवार 2 मार्च 2023, सम्पादकीय व्हाट्सप्प 8803818844, मुंबई। पेटीएम यूपीआई लाइट ने यूजर्स को पेटीएम सुपर ऐप पर तेज रफ्तार से फौरन और आसानी से ट्रांजैक्शन करने में सक्षम बनाया है। यूजर्स एक पॉइंट पर 200 रुपये से कम कीमत के कई ट्रांजैक्शन कर सकते हैं। इससे यूजर्स को दिन में दो बार ज्यादा से ज्यादा 2000 रुपये डालने की इजाजत मिलती है। इसके नतीजे के तौर पर सिंगल क्लिक पर रोजाना 4000 रुपये तक का भुगतान किया जा सकता है। पेटीएम यूपीआई लाइट तेज रफ्तार से वासतविक समय में ट्रांजैक्शन करने की पेशकश करता है क्‍योंकि कोई भी भुगतान करने में 4 या 6 नंबर डिजिट का पिन डालने की जरूरत नहीं पड़ती। भुगतान करने में आसानी, सुविधा, यूजर्स के बेहतरीन अनुभव, सुरक्षा और इंटरऑपरेबिलिटी ने, पेटीएम यूपीआई को यूजर्स का पसंदीदा ऐप बना दिया है। पेटीएम यूपीआई लाइट एक “ऑन-डिवाइस वॉलट” है, जो यूजर्स को रियल-टाइम में कम मूल्‍य वाले भुगतान करने में सक्षम बनाता है। इससे प्रमुख बैंकिंग सिस्टम पर लोड कम होता है।

मौजूदा समय में, यूपीआई के उपभोक्ता केवल यूपीआई लाइट अकाउंट को सेट कर सकते हैं। इसके साथ ही उन्हें यह सुनिश्चित करने की आवश्यकता होती है कि उनका बैंक यूपीआई लाइट के फीचर्स को सपोर्ट करे। यूजर्स अपने यूपीआई बैलेंस को किसी भी समय पेटीएम से जुड़े बैंक अकाउंट में ट्रांसफर कर सकते हैं। इसमें कोई अतिरिक्‍त शुल्‍क नहीं देना पड़ता। यह बैंक स्टेटमेंट को भी व्यवस्थित रखता है और इसमें सभी यूपीआई लाइट भुगतान के लिए केवल एक ही एंट्री होती है। पेटीएम यूपीआई लाइट का उद्देश्य बिना किसी परेशानी, तेज रफ्तार और सहज ढंग से कम मूल्‍य के ट्रांजैक्‍शन करने की सुविधा देना है। 

इससे यूपीआई ट्रांजैक्शन की सफलता की दर में सुधार आता है और रेमिटर बैंक के सिस्टम पर इंफ्रास्ट्रक्चर लोड कम होता है। यह प्रक्रिया इतनी सरल है कि यूजर्स किराने का सामान खरीदते हुए छोटे अमाउंट का पेमेंट कर सकते है। वह एक क्लिक से अपने को प्रमाणित कर फोन के बैलेंस को टॉपअप करा सकते हैं। यूजर के पूरे अनभुव को तेज एवं आसान बनाने के लिए, कंपनी उपभोक्ताओं को दिन में कई पेमेंट करने की सुविधा देती है। उपभोक्ता एक दिन में सिंगल क्लिक में 4000 रुपये तक का पेमेंट कर सकते हैं। इसमें उनको बैंक ट्रांजैक्शन पर एक निश्चित राशि निकालने के बाद लगने वाली रोक की चिंता नहीं करनी पड़ती। पेटीएम इंडस्ट्री में सबसे तेज है, जिसमें यूपीआइ ट्रांजैक्शन के फेल होने की दर दूसरे ऐप्स के मुकाबले काफी कम है।


Comments

Popular posts from this blog

शब्दवाणी समाचार पाठक संघ के सदस्यों का भव्य स्वागत हुआ और अब सबको मिलेगी एक समान शिक्षा का लांच

बबीता फोगट WFI के खिलाफ आरोपों की जांच के लिए गठित ओवरसाइट कमेटी पैनल में शामिल

तुलसीदास जयंती पर जानें हनुमान चालीसा की रचना कैसी हुई : रविन्द्र दाधीच