आईकेयर आई अस्पताल में LASIK टेक्नोलॉजी का‌ किया उद्घाटन

◆ ओलिम्पिक मेडल विजेता रेसलर गीता फोगाट ने नोएडा में किया 

शब्दवाणी समाचार, वीरवार 23 मार्च 2023, (ऐ के लाल) सम्पादकीय व्हाट्सप्प 8803818844, गौतम बुध नगर।  ओलिम्पिक पदक जीतकर देश का‌ नाम रौशन करने वाली रेसलर गीता फोगाट ने आज नोएडा स्थित प्रतिष्ठित आईकेयर आई अस्पताल में LASIK की सबसे आधुनिक टेक्नोलॉजी कॉन्टोरा विज़न‌ का उद्घाटन किया और इसे नेत्र चिकित्सा की दुनिया में सबसे बड़ी क्रांति बताया। कॉन्टोरा विज़न को नेत्र चिकित्सा के लिए उपलब्ध सबसे सुरक्षित सर्जरी‌ के तौर पर जाना जाता है और इसे अमेरिका के‌ FDA द्वारा मान्यता भी प्राप्त है. चश्मा रहित दृष्टि‌ प्रदान करने के लिए इसे सबसे आधुनिक टेक्नोलॉजी माना जाता है जिसके लिए लेज़र करेक्शन तकनीक का इस्तेमाल‌ किया जाता है. आंखों की रिफ़्रैक्टिव और चश्मे के पावर संबंधी  गड़बड़ियों को ठीक करने के अलावा यह मशीन विजुअल एक्सिस पर काम करते हुए कोर्निअल की गड़बड़ियों को भी ठीक‌ करती है. यह टेक्नोलॉजी अनूठे किस्म के 22,000 डाटा पॉइंट्स को मैप करती है और कॉर्निअल संबंधी सभी गड़बड़ियों को ठीक करती है. आईकेयर आई अस्पताल के डॉक्टरों के अनुसार, इससे कॉर्निआ पर‌ ऑप्टिकली एक‌ परफ़ेक्ट सरफ़ेस का निर्माण होता है और इस तरह से आंखों की दृष्टि एकदम स्पष्ट हो जाती है। 

आईकेयर नेत्र चिकित्सा अस्पताल में इस आधुनिक उपकरण का उद्घाटन करते हुए गीता फोगाट ने कहा, "एक खिलाड़ी होने के नाते मैं स्पष्ट दृष्टि की महत्ता और आज के युवाओं की महत्वाकांक्षाओं की पूर्ति में इसकी भूमिका को अच्छी तरह से समझ सकती हूं. मैं नेत्र चिकित्सा के क्षेत्र में‌ क्रांति लाने वाले आधुनिक LASIK टेक्नोलॉजी के‌ उद्घाटन करने को‌ लेकर काफ़ी उत्साहित और ख़ुश हूं. यह दिल्ली-एनसीआर में रहनेवाले लोगों के लिए किसी वरदान से कम नहीं है, ख़ासकर शादी करने जा रहीं लड़कियों, अच्छा दिखने‌ से जुड़े करियर में हाथ आज़माने जा रहे लड़कों, ख़िलाड़ी बनने‌ की‌ चाह रखनेवाले युवाओं, आर्मी से जुड़ने‌ की चाह रखने वाले तमाम इच्छुकों और हरेक उस शख्स के लिए जो चश्मा नहीं पहनना चाहता है और ना ही कॉन्टेक्ट लेंस लगाना चाहता है। इस‌ मौके पर नोएडा स्थित आईकेयर नेत्र चिकित्सा अस्पताल के सीईओ डॉक्टर सौरभ चौधरी ने कहा, आईकेयर आई अस्पताल का मिशन है कि वह दुनिया की आधुनिकतम टेक्नोलॉजी की मदद से तमाम मरीज़ों की गुणवत्तापूर्ण नेत्र चिकित्सा करे और मरीज़ों को किफ़ायती दाम पर इलाज मुहैया कराए. ग़ौरतलब है कि अस्पताल की ओर से हर रोज़ 400 मरीज़ों को किफ़ायती दामों पर उपचार किया जाता है. लेज़र टेक्नोलॉजी के चलते आंखों के उपचार में क्रांतिकारी बदलाव देखा जा रहा है. आईकेयर आई अस्पताल में LASIK कॉन्टोरा विज़न के लॉन्च के साथ ही हम इस बात को फिर से रेखांकित करना चाहते है कि हम तमाम मरीज़ों को बेहतरीन किस्म का उपचार मुहैया कराने के प्रति पूरी तरह से प्रतिबद्ध हैं. ऐसा उपचार जिससे मरीज़ों को चश्मा भी ना लगाना पड़े. इसके लिए हमने जॉनसन ऐंड जॉनसन के फ़ेमटोलेज़र और एल्कॉन के  कॉन्टोरा विज़न जैसी दो बेहतरीन टेक्नोलॉजी के साथ साझेदारी की है. इससे 6/6 अथवा इससे भी बेहतर दृष्टि प्राप्त होती है जिससे व्यक्ति को पहले से कहीं ज़्यादा स्पष्ता के साथ दिखाई देता है. उल्लेखनीय है कि इस नवीनतम टेक्नोलॉजी के माध्यम से इलाज के बाद देखभाल की अवधि भी काफ़ी कम हो जाती है और मरीज़ एक हफ़्ते के भीतर ही सामान्य तरह की गतिविधियों में शामिल हो सकता है जिसमें ड्राइविंग का भी शुमार है। 

कॉन्टोरा विज़न एक बेल्ड-मुक्त, दर्दरहित शल्यक्रिया है जो बहुत ही अचूक है. इसमें ना टांके लगाने की ज़रूरत होती और ना ही इंजेक्शन लगाने की आवश्यकता पड़ती है. इसके लिए मरीज़ को अस्पताल में दाखिल करने की भी ज़रूरत नहीं होती है. आंखों के इलाज के लिए कोई भी व्यक्ति अस्पताल आ सकता है और उपचार के बाद उसी दिन अस्पताल से अपने घर जा सकता है. कस्टमाइज़्ड प्रक्रिया के माध्यम से मरीज़ की आंखों का बेहतरीन ढंग से इलाज किया जाता है जिसके बाद उन्हें चश्मा पहनने और कॉन्टैक्ट ले‌स लगाने की भी आवश्यकता नहीं रह जाती है। कॉन्टोरा विज़न टेक्नोलॉजी की की ख़ासियत है कि यह माइक्रोस्कोपिक स्तर पर आंख़ों की गड़बड़ियों की पहचान और उसका इलाज करती है. उल्लेखनीय है कि इन गड़बड़ियों को टोपोलीसर की मदद से ठीक करने के दौरान मशीन ऑप्टिकली एक बेहद परफ़ेक्ट किस्म की सरफ़ेस को निर्मित करती है. इसके अतिरिक्त कॉन्टोरा विज़न ट्रीटमेंट के ज़रिए विजुअल एक्सिस पर ध्यान केंद्रित किया जाता है. गौरतलब है कि विजुअल एक्सिस आंखों के बीच से गुज़रनेवाली एक विशेष किस्म‌ की रेखा होती है जिसे केंद्रित कर किया जाने वाला उपचार पारंपरिक LASIK ट्रीटमेंट के मुक़ाबले कहीं बेहतर नतीजे देता है. ग़ौरतलब है कि पारंपरिक‌ तौर पर इस्तेमाल किये जा रहे LASIK ट्रीटमेंट के दौरान पूरा ध्यान पुपल्लरी एक्सिस पर‌ केंद्रित किया जाता है।

Comments

Popular posts from this blog

पूर्व राष्ट्रपति रामनाथ गोविंद जी द्वारा हार्ट एवं कैंसर हॉस्पिटल का शिलान्यास होगा

झूठ बोलकर न्यायालय को गुमराह करने के मामले में रिपब्लिक चैनल के एंकर सैयद सोहेल के विरुद्ध याचिका दायर

22 वें ऑल इंडिया होम्योपैथिक कांग्रेस का हुआ आयोजन