किआ इंडिया की राष्ट्रीय सामुदायिक पहल – Uphaar और DROP की घोषणा

 

◆ जलवायु परिवर्तन से लड़ने के लिए 

15 राज्‍यों में 1,50,000 फल के पेड़ों को लगाकर छोटे किसानों का समर्थन करने वाला हस्‍तक्षेप है उपहार

◆ D.R.O.P. (डेवलप रिस्‍पॉन्सिबल आउटलुक फॉर प्‍लास्टिक) के जरिय 5 महानगरों में 100 कलेक्‍शन प्‍वॉइंट्स पर समुदायों को संवेदनशली बनाकर 2500 मीट्रिक टन प्‍लास्टिक कचरे को कम किया जाएगा 

शब्दवाणी समाचार, बुधवार 29 मार्च 2023, सम्पादकीय व्हाट्सप्प 8803818844, नई दिल्ली। कार निर्माता कंपनियों में से एक किआ इंडिया ने जमीनी स्‍तर पर प्रभाव पैदा करने के लिए अपनी दो राष्‍ट्रीय सामुदायिक पहलों- D.R.O.P. (डेवलप रिस्‍पॉन्सिबल आउटलुक फॉर प्‍लास्टिक) और उपहार का कार्यान्‍वयन शुरू कर दिया है।, D.R.O.P. का उद्देश्‍य प्‍लास्टिक कचरे की चिंता को दूर करना और लैंडफिल और जल निकायों में इसके प्रसार को रोकना है। उपहार एक पौधरोपण कार्यक्रम है, जो पिछड़े और कमजोर वर्ग के कृषि समुदाय को समर्थन देने और जलवायु परिवर्तन से निपटने के लिए शुरू किया गया है। डीआओपी परियोजना 5 महानगरों - गुरुग्राम, मुंबई, बेंगलुरु, विजयवाड़ा और विशाखापट्नम में चालू है, जबकि उपहार परियोजना 15 राज्‍यों - आंध्र प्रदेश, राजस्‍थान, महाराष्‍ट्र, तेलंगाना, मध्‍य प्रदेश, कर्नाटक, तमिलनाडु, ओडिशा, उत्‍तर प्रदेश, हरियाणा, असम, मेघालय, झारखंड, पश्चिम बंगाल और हिमाचल प्रदेश में संचालित की जा रही है।  

श्री ताए-जिन पार्क, एमडी और सीईओ, किआ इंडिया ने कहा, “भारत में एक दीर्घकालिक और टिकाऊ व्‍यापार के निर्माण के लिए एक जिम्‍मेदार व्‍यवसाय बनना बहुत जरूरी है। इन दो सामुदायिक पहलों के साथ, हम पर्यावरण में सकारात्‍मक योगदान देने के लिए कई समुदायों को प्रेरित कर रहे हैं और एनजीओ तथा अपने भागीदारों की मदद के साथ इसकी पहुंच और प्रभाव बढ़ने की उम्‍मीद कर रहे हैं।

Comments

Popular posts from this blog

पूर्व राष्ट्रपति रामनाथ गोविंद जी द्वारा हार्ट एवं कैंसर हॉस्पिटल का शिलान्यास होगा

22 वें ऑल इंडिया होम्योपैथिक कांग्रेस का हुआ आयोजन

सेंट पीटर्स कॉन्वेंट विद्यालय ने अपना वार्षिकोत्सव मनाया