श्रेया पूंजा फेमिना मिस इंडिया-2023 की फर्स्ट रनर-अप ने अपने देशबंधु कॉलेज का किया दौरा

◆ कॉलेज में बिताए भावनात्मक पलों की स्मृति ताजा हो गई 

◆ श्रेया ने अपने स्कूल का भी दौरा किया

शब्दवाणी समाचार शुक्रवार 5 मई 2023, सम्पादकीय व्हाट्सप्प 8803818844, नई दिल्ली। फेमिना मिस इंडिया-2023 की फर्स्ट रनर अप, श्रेया पूंजा ने अपने पूर्व कॉलेज, दिल्ली यूनिवर्सिटी से संबद्ध देशबंधु कॉलेज का दौरा किया, जहां से उन्होंने अर्थशास्त्र में ग्रेजुएशन किया था। कॉलेज में उनका जोरदार और गर्मजोशी से स्वागत किया गया। उन्होंने छात्रों से मुलाकात की और सबके साथ अपनी सफलता का मंत्र साझा किया। उन्होंने कॉलेज के प्रिंसीपल, प्रोफेसर राजीव अग्रवाल से भी मुलाकात की। प्रोफेसर अग्रवाल ने कहा, "मैं देशबंधु कॉलेज के 2021 बैच की पूर्व छात्र श्रेया पूंजा को फेमिना मिस इंडिया फर्स्ट रनर अप का ताज पहनने के लिए बधाई देता हूं। उन्होंने अपने कॉलेज को गौरवान्वित किया है।

भावुक श्रेया ने कहामैं अपनी सफलता का श्रेय अपने कॉलेज और यहां से मिले जीवन मूल्यों को देती हूं। पुरानी यादों के बारे में, उन्होंने कहा कि कॉलेज में रहते हुए उन्होंने अपना आत्मविश्वास जिस तरह बढ़ाया था, उसे हमेशा संजो कर रखा। दिल्ली विश्वविद्यालय छात्र संघ (डूसू) ने कॉलेज में श्रेया पूंजा के स्वागत के लिए व्यापक इंतजाम किए थे। श्रेया की उपलब्धि ने कॉलेज के वर्तमान छात्रों को प्रेरित किया जो अपनी ब्यूटी क्वीन से मिलने के लिए उत्सुक थे। श्रेया ने छात्रों के साथ साझा किया कि सबसे महत्वपूर्ण बात यह है कि आप जो करते हैं उससे वास्तव में खुश रहें और थोड़े समय की जीत या हार को अपने ऊपर हावी न होने दें। उन्होंने छात्रों से कहा कि आप इस बारे में एक स्पष्ट विजन रखें कि आप कोई काम क्यों करना चाहते हैं और फिर हर दिन हर सेकेंड उसके लिए प्रयास करें। जल्द ही चीजें आपके तरीके से होने लगेंगी। उन्होंने कहा, "अपने प्रयासों के नतीजों को लेकर अधीर न हों। कृपया जान लें कि यह जीत नहीं है, बल्कि खुद को उस सीमा तक पुश करने की आदत है जो समय के साथ फल देगी। इससे पहले दिन में श्रेया हौज खास स्थित सेंट एंथनी सीनियर सेकेंडरी स्कूल भी गईं, जहां से उन्होंने स्कूली शिक्षा हासिल की थी।

श्रेया को बधाई देते हुए स्कूल की प्रिंसीपल, सुश्री डेज़ी ने कहा, "आपने दुनिया के सामने साबित कर दिया कि अगर आप पूरे समर्पण से प्रयास करते हैं तो कुछ भी पाना संभव है। हम जानते हैं कि इस मुकाम तक पहुंचने के लिए कितने जुनून और प्रतिबद्धता की जरूरत होती है, और सेंट एंथनी में हम सबको आपकी सफलता पर बहुत गर्व है। आप सेंट एंथनी सीनियर सेकेंडरी स्कूल, हौज खास के छात्रों के लिए ही नहीं, बल्कि भारत के हर युवा के लिए एक प्रेरणा हैं। सेंट एंथनी में पिछले 30 वर्षों से सेवारत अंग्रेजी की शिक्षिका, सुश्री रीना जोस ने कहा, "मैंने सेंट एंथनी में श्रेया को एक छोटी बच्ची के रूप में स्कूल की सभी गतिविधियों में जुनून के साथ पहल करते देखा था, फिर चाहे वो क्लास प्रीफेक्ट रही हो या अपने हाउस की प्रतियोगिताओं को व्यापक रूप से नेतृत्व देना रहा हो। श्रेया 'सेंट मैरी हाउस कैप्टन' रही और पढ़ाई में भी हमेशा अव्वल ही रही। श्रेया अपनी उपलब्धि के बावजूद जमीन से जुड़ी हुई हैं और इस उपलब्धि का श्रेय अपने माता-पिता- मां भारती पूंजा और पिता संजय पूंजा को देती हैं। अपनी भविष्य की योजनाओं के बारे में बात करते हुए, उन्होंने कहा, "जहां तक मुझे याद है, मुझे हमेशा ही कैमरे से प्यार रहा है! मुझे मनोरंजन और शो बिजनेस में गहरी दिलचस्पी है और 17 साल की उम्र से ही इस दिशा में प्रयासरत रही हूं। मैं जल्द ही काम शुरू करने की उम्मीद कर रही हूं।

Comments

Popular posts from this blog

सिंधी काउंसिल ऑफ इंडिया, दिल्ली एनसीआर रीजन ने किया लेडीज विंग की घोसणा

पूर्व राष्ट्रपति रामनाथ गोविंद जी द्वारा हार्ट एवं कैंसर हॉस्पिटल का शिलान्यास होगा

बबीता फोगट WFI के खिलाफ आरोपों की जांच के लिए गठित ओवरसाइट कमेटी पैनल में शामिल