आईआईटी मद्रास ने इलेक्ट्रॉनिक सिस्टम्स में अपनी पहली बीएस डिग्री के लिए किया आवेदन आमंत्रित

◆ आवेदन करने की अंतिम तिथि 25 जून, 2023 है

◆ फिज़िक्स और मैथमैटिक्स से कक्षा 12 (या समकक्ष) उत्तीर्ण कर चुके विद्यार्थी इसके लिए आवेदन कर सकते हैं

शब्दवाणी समाचार, शनिवार 10 जून 2023, सम्पादकीय व्हाट्सप्प 8803818844, नई दिल्ली। शिक्षा एवं शोध में उत्कृष्टता के लिए मशहूर, इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नॉलॉजी मद्रास (आईआईटी मद्रास) हाल में लॉन्च किए गए इलेक्ट्रॉनिक सिस्टम्स में अपने पहले ऑफ-कैंपस बीएस डिग्री प्रोग्राम के लिए आवेदन आमंत्रित कर रहा है। इलेक्ट्रॉनिक्स, एम्बेडेड प्रोग्रामिंग, डिजिटल सिस्टम्स, और कंट्रोल इंजीनियरिंग पर बल देते हुए यह प्रोग्राम विद्यार्थियों को सीखे गए इंजीनियरिंग सिद्धांतों और ज्ञान का उपयोग एप्लीकेशंस के लिए प्रणालियों और प्रक्रियाओं में सुधार लाने के लिए करने में समर्थ बनाएगा। इस प्रोग्राम के लिए आवेदन करने की अंतिम तिथि 25 जून, 2023 है।

यह प्रोग्राम आईआईटी मद्रास का दूसरा बीएस डिग्री कार्यक्रम है, जो देश के सेमीकंडक्टर मिशन के अनुरूप है। उद्योग के नेतृत्वकर्ताओं के परामर्श से तैयार किया गया यह प्रोग्राम पूरा करने के बाद विद्यार्थियों को सिद्धांतों की गहरी समझ और उद्योग के लिए उपयोगी कौशल प्राप्त होता, जिससे नौकरी के लिए उनकी उपयोगिता बढ़ेगी। इस प्रोग्राम में विद्यार्थियों को आईआईटी मद्रास की प्रयोगशाला में प्रशिक्षण दिया जाएगा ताकि उन्हें प्रायोगिक प्रशिक्षण प्राप्त होकर इलेक्ट्रॉनिक सिस्टम्स के बारे में उनका ज्ञान बढ़ सके। यह प्रोग्राम पूरा करने के बाद विद्यार्थियों को इंडस्ट्री-रेडी कौशल मिलेगा ताकि वो ऑटोमोटिव, सेमीकंडक्टर और रक्षा उद्योगों जैसे विभिन्न क्षेत्रों में इलेक्ट्रॉनिक सिस्टम डिज़ाईनर, एम्बेडेड सिस्टम डेवलपर, इलेक्ट्रॉनिक हार्डवेयर स्पेशलिस्ट, सिस्टम टेस्टिंग इंजीनियर, और इलेक्ट्रॉनिक्स रिसर्च इंजीनियर जैसे विभिन्न पदों पर काम कर सकें।

इस प्रोग्राम के महत्व और विभिन्न उद्योगों में बढ़ती मांग पर बल देते हुए प्रोफेसर वी कामकोटी, डायरेक्टर, आईआईटी मद्रास ने कहा, ‘‘हमें आईआईटी मद्रास में इलेक्ट्रॉनिक सिस्टम्स प्रोग्राम में बीएस डिग्री लॉन्च करने की खुशी है। हमारी यह नई पहल इस साल मार्च में शुरू हुई, जो इलेक्ट्रॉनिक्स की शिक्षा में क्रांति ला देगी। हमारी अत्याधुनिक प्रयोगशालाओं और विस्तृत पाठ्यक्रम के साथ हम विद्यार्थियों को ऑटोमोटिव, सेमीकंडक्टर, रक्षा आदि क्षेत्रों के भविष्य को आकार देने में समर्थ बनाएंगे। आवेदन की अंतिम तिथि नजदीक आ रही है, और हम विद्यार्थियों को इस बेहतरीन प्रोग्राम में शामिल होने के लिए आमंत्रित करते हैं। इस प्रोग्राम का विवरण देते हुए आईआईटी मद्रास में इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग विभाग के फैकल्टी सदस्य और नए लॉन्च किए गए प्रोग्राम के संयोजक, प्रोफेसर बॉबी जॉर्ज ने कहा, ‘‘इस प्रोग्राम द्वारा हमारा उद्देश्य लर्नर्स को विशाल अवसर प्रदान करना और उन्हें लगातार विकसित होते प्रोफेशनल परिदृश्य में आगे बढ़ने में समर्थ बनाना है। विस्तृत कौशल प्रदान करके हम सुनिश्चित कर रहे हैं कि हमारे ग्रेजुएट उद्योग की बदलती जरूरतों को पूरा करने के लिए पूरी तरह से तैयार रहें और टेक्नॉलॉजी की प्रगति करते रहें। आईआईटी मद्रास में हम अपने विद्यार्थियों को उनकी महत्वाकांक्षाओं की ओर बढ़ने और उपलब्धियों से भरा करियर प्राप्त करने में समर्थ बनाने में यकीन रखते हैं, जो उनकी रुचियों और आकांक्षाओं के अनुरूप हो।

परिवर्तनकारी अवसर और अध्ययन के बारे में आईआईटी मद्रास में इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग विभाग के फैकल्टी सदस्य और नए लॉन्च किए गए प्रोग्राम के संयोजक, प्रोफेसर संकरन अनिरुद्धन ने कहा, ‘‘शिक्षा एक उत्प्रेरक का काम करती है, जो लोगों को अपनी असली क्षमता के विकास में मदद करती है, और आईआईटी मद्रास से इलेक्ट्रॉनिक सिस्टम्स में बीएस डिग्री एक ऐसा परिवर्तनकारी अवसर है, जो उम्र की सीमाओं से परे है, और विभिन्न पृष्ठभूमियों के विद्यार्थियों को आमंत्रित कर उन्हें वृद्धि, ज्ञान और असीमित संभावनाओं के सफर की ओर बढ़ाता है। इस प्रोग्राम के लिए फिज़िक्स और मैथमैटिक्स में कक्षा 12 (या समकक्ष) उत्तीण कर चुके विद्यार्थी आवेदन करके अपने शैक्षणिक और व्यवसायिक विकास का एक सुनहरा अवसर प्राप्त कर सकते हैं।

पारंपरिक प्रोग्राम्स से अलग इस प्रोग्राम में शामिल होने के लिए उम्र की कोई सीमा नहीं है, इसलिए इस प्रोग्राम में हर वह विद्यार्थी शामिल हो सकता है, जो इलेक्ट्रॉनिक सिस्टम्स की डाईनैमिक दुनिया में नया कौशल प्राप्त करना चाहता है या फिर अपना कौशल बढ़ाना चाहता है। यह प्रोग्राम पूरा कर लेने के बाद विद्यार्थियों को आईआईटी मद्रास से प्रतिष्ठित डिग्री मिलेगी, जो इलेक्ट्रॉनिक सिस्टम्स में उनकी विशेषज्ञता का प्रमाण होगी और विस्तृत करियर के मार्ग पर बढ़ने के लिए उन्हें आवश्यक योग्यता प्रदान करेगी। यह संस्थान अनेक एग्ज़िट विकल्प प्रदान कर रहा है, जिससे विद्यार्थी अपने कोर्स के विभिन्न चरणों में सर्टिफिकेशन और डिप्लोमा प्राप्त करके इससे बाहर निकल सकेंगे। इसके अलावा, आईआईटी मद्रास इस प्रोग्राम के ग्रेजुएट्स के लिए प्लेसमेंट की सहायता भी प्रदान करेगा, ताकि वो सुगमता से उद्योग में प्रवेश कर सकें।

Comments

Popular posts from this blog

सिंधी काउंसिल ऑफ इंडिया, दिल्ली एनसीआर रीजन ने किया लेडीज विंग की घोसणा

पूर्व राष्ट्रपति रामनाथ गोविंद जी द्वारा हार्ट एवं कैंसर हॉस्पिटल का शिलान्यास होगा

झूठ बोलकर न्यायालय को गुमराह करने के मामले में रिपब्लिक चैनल के एंकर सैयद सोहेल के विरुद्ध याचिका दायर