भारत में प्रतिवर्ष वीजा के नाम पर तकरीबन ढाई लाख लोग ठगी का शिकार होते : कवीश कपूर

◆ वीजा के नाम पर ठगी से बचाने के उपायों पर कार्यशाला

शब्दवाणी समाचार, मंगलवार 6 जून 2023, (ऐ के लाल) सम्पादकीय व्हाट्सप्प 8803818844, गौतम बुध नगर।  भारत में प्रतिवर्ष वीजा के नाम पर तकरीबन ढाई लाख लोग ठगी का शिकार होते हैं। जानकारी के आभाव में अक्सर वीजा दिलाने का झांसा देकर एजेंट लोगों को टैग ठगी का शिकार बना लेते हैं। लोगों को इसी ठगी से बचाने के लिए ए वीजा एक्सपर्ट्स ने जन जागरूकता मुहिम चलाई है। यह जानकारी दी ए वीजा एक्सपर्ट्स के सीईओ कविश कपूर ने वह नोएडा सेक्टर 02 में वीजा की बारीकियों को समझाने के लिए बतौर मोटिवेशनल स्पीकर एक कार्यशाला को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि ए विजा एक्सपर्ट पिछले 5 महीने में 300 से अधिक लोगों को विजा दिलवा चुकी है। 

उन्होंने कहा कि ए वीजा एक्सपर्ट वीजा दिलाने के नाम पर लोगों को निशुल्क सलाह देती है। उनसे एक भी पैसा चार्ज नहीं करती है। उन्होंने कहा कि यदि आपके पास सभी डॉक्यूमेंट सही है तो कभी भी ठगी का शिकार नहीं होंगे। उन्होंने कहा कि एजेंट से बात करने से पहले देख ले कि वह एजेंट आईआरसीसी में रजिस्टर्ड है या नहीं। सिर्फ आईआरसीसी के रजिस्टर्ड एजेंट ही सही होते हैं। उन्होंने कहा कि यदि लोग थोड़ा सा जागरूक हो जाएं तो वीजा के नाम पर ठगी से बच सकते हैं। रविवार को आयोजित मोटिवेशनल कार्यशाला के दौरान 600 से अधिक वीजा की इच्छुक लोगों ने भाग लिया। कवीश कपूर ने लोगों को जागरूक करते हुए बताया कि विदेश जाने की जल्दबाजी में लोग ऐजेंटों के जाल में फंस जाते हैं। जबकि उन ऐजेंटों की किसी भी देश की एंबेंसी में कोई जान पहचान नहीं होती लेकिन वे लोगों को गैर जरूरी कागजातों और कई तरह की परमिशन मुहैया कराने के नाम पर लाखों का चूना लगा देते है। जबकि वीजा के लिए सिर्फ जरूरी पांच या छह दस्वेजों की आवश्यकता होती है। साथ सॉलिसिटर की फीस के अलावा अन्य कोई खार्चा नहीं होता है। जबकि ज्यादातर एजेंट लोगों को बेवकूफ बनाने के लिए उनकी जमीन जायदात तक के पेपर उनसे ले लेते है। और लोग भी विदेश जाने की जल्दबाजी के चलते दर्जनों पेपर उनको मुहैया करा देते है। जिससे वे ठगी का शिकार हो जाते है। कवीश कपूर ने कहा भारत में सबसे ज्यादा ठगी के शिकार पंजाब राज्य के लोग होते हैं। 

जिन्हे एजेंट कनाडा या अन्य किसी देश के लिए वर्क वीजा, पीआर वीजा तथा अन्य लुभावने वादे कर ठगी का शिकार बना लेते हैं, ऐसे उन सभी लोगों को सलाह देते हुए श्री कपूर ने कहा कि सबसे पहले जिस देश का वीजा चाहिए उस देश की नियम व शर्तों के बारे सही से जानकारी हांसिल कर वहां के वीजा की सही फीस के बारे में जानकारी कर लेनी चाहिए। उसके बाद स्वंय एंबेसी जाकर या स्थाई वीजा कंपनी से वीजा एप्लाई कराना चाहिए। उन्होने कहा कि विदेशों में जो भी नोकरी के लिए अपनी जीवन भर की कमाई लुटा रहे हैं, उनकी सहायता के लिए ए वीजा एक्सपर्ट की टीम निशुल्क सलाह व मदद मुहैया कराती है। पिछले दो वर्षों में कंपनी द्वारा सैंकडों लोगों के वीजा निर्धारित शुल्क पर बनवाए हैं। और वे लोग आराम से विदेशों की सैर और वहां कार्य कर रहे हैं। उन्होने लोगों से अपील की कि एजेंटो के बहकावे में न आकर खुद जागरूक बनें और ठगी से बचें। श्री कपूर ने कहा कि आगामी समय में भी ए वीजा एक्सपर्ट कंपनी द्वारा लोगों को जागरूक करने के लिए इस तरह के सेमिनार आयोजित करते रहेंगे।

Comments

Popular posts from this blog

सिंधी काउंसिल ऑफ इंडिया, दिल्ली एनसीआर रीजन ने किया लेडीज विंग की घोसणा

पूर्व राष्ट्रपति रामनाथ गोविंद जी द्वारा हार्ट एवं कैंसर हॉस्पिटल का शिलान्यास होगा

झूठ बोलकर न्यायालय को गुमराह करने के मामले में रिपब्लिक चैनल के एंकर सैयद सोहेल के विरुद्ध याचिका दायर