रजत जयंती समारोह का उद्घाटन पूर्व राष्ट्रपति श्री रामनाथ कोविंद ने किया

◆  महाराजा अग्रसेन टेक्निकल एजुकेशन सोसाइटी 

शब्दवाणी समाचार, बुधवार 16 अगस्त 2023, सम्पादकीय व्हाट्सप्प 8803818844, नई दिल्ली।स्वतंत्रता दिवस की पूर्व संध्या पर महाराजा अग्रसेन टेक्निकल एजुकेशन सोसाइटी (मेट्स) के रजत जयंती समारोह का शुभारम्भ पूर्व राष्ट्रपति श्री राम नाथ कोविंद के कर-कमलों से हुआ | वैदिक यज्ञ, मंत्रोच्चार और ध्वजारोहण के साथ महाराजा अग्रसेन बिज़नस स्कूल के शैक्षणिक सत्र का भी प्रारंभ हुआ। देश के 14वें राष्ट्रपति माननीय श्री रामनाथ कोविंद ने अपने भाषण में कहा कि राष्ट्र निर्माण में शिक्षा का महत्वपूर्ण योगदान है और इसके लिए हमें संकल्प साधने होते हैं | जब हम संकल्प को सिद्धि मान लेते हैँ तो रास्ते आसान हो जाते हैँ । उन्होंने कहा कि आज के छात्रों को अच्छी शिक्षा और उच्च संस्कार मिल जाएँ तो वे अपने जीवन में कुछ भी प्राप्त कर सकते हैँ। उन्होंने कहा कि अच्छी शिक्षा वही है जो छात्रों को ऐसे संस्कार दे जिससे वे गुरु दक्षिणा के रूप में समाज और राष्ट्र के विकास में अपना योगदान दें | महाराजा अग्रसेन के समाजवाद और लोकहित के सिद्धांत भारत को विश्वगुरु के पद तक पहुँचा सकते हैं |

डॉ. नंद किशोर गर्ग ने अपने उद्घाटन भाषण में कहा कि मेट्स के प्रथम संस्थान महाराजा अग्रसेन इंस्टिट्यूट ऑफ़ टेक्नोलॉजी के 25 वर्षों की यात्रा के साथ साथ , महाराजा अग्रसेन इंस्टिट्यूट ऑफ़ मैनेजमेंट स्टडीज और महाराजा अग्रसेन विश्विद्यालय और महारजा अग्रसेन बिज़नस स्कूल तक की यात्रा आसान नहीं थी। उन्होंने 25 वर्षों की यात्रा का सार संक्षेप प्रस्तुत करते हुए राष्ट्र प्रथम का सन्देश दिया | उन्होंने कहा कि आज जब भारत विजय पथ पर अग्रसर है तब हमारे शिक्षण संस्थानों को विश्व मानव  का निर्माण करना होगा जो विश्व के कल्याण हेतु सोचे और कार्य करे। इंद्रप्रस्थ विश्विविद्यालय के उपकुलपति डॉ. महेश वर्मा ने कहा कि मेट्स की यह विकास यात्रा   उच्च शिक्षा के माध्यम से व्यक्तित्व निर्माण कर राष्ट्र के प्रति समर्पण की यात्रा है। अगले पच्चीस वर्षों में हम विकसित देश बनने की दिशा में बढ़ रहे हैँ और मेट्स के संस्थान इसमें अपना विशेष योगदान देंगे।

दिल्ली विश्वविद्यालय के उपकुलपति प्रोफेसर योगेश सिंह ने इस अवसर पर कहा कि यह दौर नई शिक्षा का है। और ये नीति तभी फलीभूत होगी जब महाराजा अग्रसेन जैसे संस्थान अपना योगदान देते रहेंगे। उन्होंने कहा कि आने वाले वर्षों में देश दुनिया की तीसरी बड़ी अर्थव्यवस्था बनेगा और यह तभी संभव होगा जब हमारी आर्थिक वृद्धि दर 9 प्रतिशत तक  रहे | ये स्वप्न तभी संभव होगा जब महाराजा अग्रसेन जैसे संस्थानों से निकलने वाले छात्र स्टार्ट-अप, यूनिकॉर्न  और नवाचार की दिशा में तेज़ी से काम करें | प्रोफेसर योगेश सिंह ने महाराजा अग्रसेन इंस्टिट्यूट ऑफ़ मैनेजमेंट स्टडीज को NAAC में A++ ग्रेड मिलने पर सभी को बधाई दी| इस अवसर पर 25 वर्षों की यात्रा को रेखांकित करने वाली स्मारिका ‘अग्रणी संकल्प’ का लोकार्पण भी अतिथियों के कर-कमलों द्वारा हुआ और मेधावी छात्रों को लैपटॉप वितरित किये गए | अंत में ट्रस्ट के अध्यक्ष श्री विनीत कुमार लोहिया ने सभी का धन्यवाद ज्ञापन किया |

इस अवसर पर विशिष्ट अतिथि के रूप में डॉ. बजरंग लाल गुप्त, श्रीमती अवधेश कुमारी लोहिया और श्रीमती सुशीला देवी गोयल उपस्थित थे। कार्यक्रम में विशेष रूप से ट्रस्ट के कार्यकरी अध्यक्ष श्री एस. पी. अग्रवाल, वरिष्ठ उपाध्यक्ष सुंदर लाल गोयल, उपाध्यक्ष सर्वश्री जगदीश मित्तल, ज्ञान अग्रवाल, उमेश गुप्ता, प्रोफेसर एम. एल. गोयल, महासचिव टी. आर. गर्ग, संयुक्त महासचिव मोहन कुमार गर्ग, कोषाध्यक्ष आनंद गुप्ता और सह-कोषाध्यक्ष विवेक गर्ग, सचिव श्री राजनीश गुप्ता, महानिदेशक प्रोफेसर एस. के. गर्ग, प्रोफेसर नीलम शर्मा (निदेशक मेट), प्रोफेसर रजनी मल्होत्रा ढींगरा (निदेशक मेम्स) आदि भी उपस्थित थे। 

Comments

Popular posts from this blog

सिंधी काउंसिल ऑफ इंडिया, दिल्ली एनसीआर रीजन ने किया लेडीज विंग की घोसणा

पूर्व राष्ट्रपति रामनाथ गोविंद जी द्वारा हार्ट एवं कैंसर हॉस्पिटल का शिलान्यास होगा

झूठ बोलकर न्यायालय को गुमराह करने के मामले में रिपब्लिक चैनल के एंकर सैयद सोहेल के विरुद्ध याचिका दायर