मायडिजिरिकॉर्ड्स ने महत्‍वपूर्ण, व्‍यापक हेल्‍थकेयर सॉल्‍यूशन किया पेश

◆ इसका मकसद आसानी से सुलभ स्‍वास्‍थ्‍य आंकडों और समझदारी से निर्णय लेने के जरिए बेहतर गुणवत्‍ता की देखभाल प्रदान करना है

◆ इस ऐप में कई खूबियाँ होंगी, जैसे कि सेंट्रलाइज्‍ड हेल्‍थ रिकॉर्ड मैनेजमेंट, दवाओं का प्रबंधन, स्‍वास्‍थ्‍य प्रणालियों के साथ एकीकरण, टीकाकरण पर नजर रखना, आदि

शब्दवाणी समाचार, शुक्रवार 25 अगस्त 2023, सम्पादकीय व्हाट्सप्प 8803818844, नई दिल्ली।मायडिजिरिकॉर्ड्स (एमडीआर) ने आज एक भव्‍य आयोजन में अपने महत्‍वपूर्ण और व्‍यापक हेल्‍थकेयर सॉल्‍यूशन को लॉन्‍च किया है। इस प्‍लेटफॉर्म को आधिकारिक रूप से मायडिजिरिकॉर्ड्स की संस्‍थापक एवं सीईओ डॉ. सरोज गुप्‍ता और मायडिजिरिकॉर्ड्स के चीफ मार्केटिंग ऑफीसर क्रिस हम्‍फ्रीज़ ने लॉन्‍च किया। लॉन्‍च इवेंट में जेई डुन के भूतपूर्व सीईओ और मायडिजिरिकॉर्ड्स के निवेशक टेरी डुन, मायडिजिरिकॉर्ड्स के सीटीओ शेखर गुप्‍ता और मायडिजिरिकॉर्ड्स के चीफ ऑपरेटिंग ऑफीसर वीरेन अग्रवाल जैसे पदाधिकारी मौजूद थे। एमडीआर लोगों को अपना हेल्‍थ डेटा मैनेज करने और उसे व्‍यवस्थित रखने में समर्थ बनाने वाला और हेल्‍थ रिकॉर्ड्स के संपूर्ण डिजिटाइजेशन के कार्यान्‍वयन में सरकार की सहायता कर रहा ब्रैंड है। अपने नवाचार से, एमडीआर को मरीज की मेडिकल हिस्‍ट्री, जाँच के परिणाम और टीकाकरण के रिकॉर्ड्स आसानी से उपलब्‍ध कराकर तथा उनका प्रबंधन कर भारत में स्‍वास्‍थ्‍यरक्षा के परितंत्र को बदलने के लिए तत्‍पर है। एक मानकीकृत एवं अंत:प्रचालनीय प्‍लेटफॉर्म होने के कारण यह कागजी रिकॉर्ड्स की चूकों और इलेक्‍ट्रॉनिक प्रणालियों की अव्‍यवस्‍था को दूर करते हुए रिकॉर्ड रखने में होने वाली सभी चुनौतियाँ हल करने का एक सुविधाजनक समाधान भी दे रहा है। इस सक्षम और मरीज-केन्द्रित सिस्‍टम से मरीज की देखभाल को भी बढ़ावा मिलेगा, क्‍योंकि यह समझदारी से फैसले लेने में सहायक होगा।

नई अत्‍याधुनिक मायडिजिरिकॉर्ड्स ऐप में कई बेहतरीन खूबियाँ हैं, जो किसी के हेल्‍थ डेटा को मैनेज करना आसान बनाएंगी। यूजर्स मेडिकल हिस्‍ट्री, टीकाकरण, दवाओं के पर्चे, आदि सहित अपने मेडिकल रिकॉर्ड्स स्‍टोर और मैनेज कर सकेंगे, और यह सभी एक सुरक्षित जगह पर होंगे। इसके अलावा, यह प्‍लेटफॉर्म आयुष्‍मान भारत डिजिटल मिशन (एबीडीएम) के साथ प्रामाणिक रूप से एकीकृत भी है। ऐप टीकाकरण के रिकॉर्ड्स को ऑटोमेटिक तरीके से स्‍वास्‍थ्‍यरक्षा प्रदाताओं के साथ सिंक करेगा (वैक्‍सीन पोर्टल के माध्‍यम से) और इस प्रकार निरंतरता एवं रियल-टाइम में अपडेट्स सुनिश्चित होंगे। यह टीकाकरण के पूरे डेटा पर नजर भी रखेगा और टीकाकरण के अनुशंसित दिशा-निर्देशों के आधार पर नोटिफिकेशंस देगा। सभी दवाओं पर उसकी व्‍यापक सूचना होगी और यूजर्स रिमाइंडर्स को सेट कर सकेंगे और उन्‍हें दवाओं के बीच संभावित अंत:क्रियाओं की सूचना मिलेगी। डेटा के अत्‍याधुनिक विश्‍लेषण और जानकारियों के साथ यह ऐप समय-समय पर स्‍वास्‍थ्‍य के रुझानों के विश्‍लेषण की योग्‍यता देता है, आपके स्‍वास्‍थ्‍य की गहन समझ प्रदान करता है और हेल्‍थकेयर के लिये पूर्वसक्रिय फैसलों को बढ़ावा देता है। डेटा सुरक्षा के मजबूत उपाय और निजता के कठोर विनियमनों का अनुपालन करने से यूजर्स की गोपनीयता और हेल्‍थकेयर रिकॉर्ड्स की अखंडता भी बरकरार रहेगी।

इस अवसर पर बात करते हुए, मायडिजिरिकॉर्ड्स की संस्‍थापक एवं सीईओ डॉ. सरोज गुप्‍ता ने कहा, “हमने अपना नया ऐप्‍लीकेशन पेश किया है, हम एक महत्‍वपूर्ण समाधान पेश करके उत्‍साहित हैं, जोकि हेल्‍थकेयर प्रबंधन में बड़ा बदलाव लेकर आएगा। हमारा प्‍लेटफॉर्म लोगों को केन्‍द्रीयकृत तरीके से रिकॉर्ड रखने, टीकाकरण पर नजर रखने और दवाओं के प्रबंधन द्वारा अपने सेहत के सफर पर नियंत्रण रखने के लिये सशक्‍त करता है। हम सिर्फ एक ऐप लॉन्‍च नहीं कर रहे हैं; हम भारत में हेल्‍थकेयर के डिजिटाइजेशन के एक नये युग की पहल कर रहे हैं। मायडिजिरिकॉर्ड्स हेल्‍थकेयर से जुड़े पूर्वसक्रिय फैसलों को बढ़ावा देने के लिये प्रतिबद्ध बना रहेगा, जिससे आखिरकार सभी के जीवन की गुणवत्‍ता बेहतर होगी। मायडिजिरिकॉर्ड्स के मुख्‍य विपणन अधिकारी क्रिस हम्‍फ्रीज़ ने कहा, “हम सरकार की विभिन्‍न योजनाओं से जुड़ने और संभवत: स्‍वास्‍थ्‍य प्राधिकरणों के साथ मिलकर काम करने की उम्‍मीद करते हैं, ताकि एमडीआर को स्‍वास्‍थ्‍यरक्षा की राष्‍ट्रीय रणनीतियों से जोड़ा जा सके। इसके अलावा, भारत में अपने अनुभव का फायदा उठाते हुए हम दूसरे बाजारों में भी विस्‍तार करने और विभिन्‍न विनियामक वातावरणों तथा स्‍वास्‍थ्‍यरक्षा प्रणालियों के लिये जरूरी प्‍लेटफॉर्म को अपनाने की योजना में हैं। हमने शोध एवं विकास में भी निवेश की योजना बनाई है, जिससे यह प्‍लेटफॉर्म लगातार बेहतर होगा और हम लगातार नये फीचर्स को भी जोड़ेंगे जोकि स्‍वास्‍थ्‍यरक्षा की उभरती चुनौतियों और अवसरों पर काम करेंगे। उपभोक्‍ता के सारे हेल्‍थ रिकॉर्ड्स को एक ही जगह पर लाने और डिजिटल स्‍वास्‍थ्‍यरक्षा के व्‍यापक प्रबंधन पर पूरे ध्‍यान के साथ यह ब्राण्‍ड लोगों के जन्‍म से लेकर आगामी वर्षों तक उनके हेल्‍थ रिकॉर्ड्स के हर पहलू के प्रबंधन में उन्‍हें सक्षम बनाने के लिये प्रतिबद्ध है।


Comments

Popular posts from this blog

सिंधी काउंसिल ऑफ इंडिया, दिल्ली एनसीआर रीजन ने किया लेडीज विंग की घोसणा

पूर्व राष्ट्रपति रामनाथ गोविंद जी द्वारा हार्ट एवं कैंसर हॉस्पिटल का शिलान्यास होगा

झूठ बोलकर न्यायालय को गुमराह करने के मामले में रिपब्लिक चैनल के एंकर सैयद सोहेल के विरुद्ध याचिका दायर