आर्किड्स स्कूल ने साहित्य महोत्सव किया आयोजित

 

शब्दवाणी समाचार, शुक्रवार 22 सितम्बर 2023, गुरुग्राम। शैक्षणिक उत्कृष्टता और छात्रों में रचनात्मक विकास के लिए  आर्किड्स द इंटरनैशनल स्कूल ने आज अपने बहु-प्रतीक्षित ‘साहित्य महोत्सव का शुभारम्भ किया। महोत्सव का मूल उद्देश्य रचनात्मकता, भाषा और कल्पना-शक्ति  नई खोज और कलात्मक अभिव्यक्तियों को बढ़ावा देना है। स्टूडेंट्स को अपनी रचनात्मकता को उन्मुक्त करने के लिए प्रोत्साहित किया जाता है, जिसे वे जैसा चाहें लिखित शब्दों, मौखिक शब्दों या साहित्यिक कला के किसी दूसरे रूप में प्रदर्शित कर सकते हैं। यह महोत्सव अंग्रेजी, हिंदी, संस्कृत, और फ़्रांसिसी सहित विभिन्न भाषाओं में प्रतियोगिताओं के द्वारा भाषाई विविधता की शक्ति को प्रकट करता है।यह महोत्सव स्टूडेंट्स को अंतर-विद्यालय लेखन प्रतियोगिता में गुरुग्राम के प्रमुख स्कूलों के मित्र स्टूडेंट्स के साथ संपर्क और संवाद का अद्वितीय अवसर प्रदान करेगा।इस आयोजन में सम्‍मानित लेखिका तनु श्री सिंह ने अपनी उपस्थिति से युवा प्रतिभागियों को प्रेरित किया। उन्‍होंने कहा कि, “साहित्य में हमें अलग-अलग संसार में ले जाने, हमारी कल्पना को उद्दीप्त करने, और अपने विचारों तथा भावनाओं को अभिव्यक्त करने के लिए मंच प्रदान करने की शक्ति है।इस अवसर पर आर्किड्स द इंटरनैशनल स्कूल की वीपी एकैडमिक्‍स, सुधा राजमोहन ने कहा कि, मुझे आर्किड्स द इंटरनैशनल स्कूल के ‘साहित्य महोत्सव का उदघाटन करते हुए कहा, यह महोत्सव शैक्षणिक उत्कृष्टता और रचनात्मक विकास के प्रति हमारे समर्पण का प्रमाण है। यह हमारे स्टूडेंट्स को विभिन्न साहित्यिक कलाओं के माध्यम से अपनी रचनात्मकता अभिव्यक्त करने और भाषाई विविधता को अपनाने की शक्ति प्रदान करता है। 

जैसा कि हमारा साहित्य महोत्सव चल रहा है, मुझे यकीन है कि इससे स्कूलों के बीच उत्कृष्टता, सामूहिक कार्य और सहयोग को बढ़ावा मिलेगा। यह कहते हुए उन्होंने कहा पीएस को हमारे सभी डे केयर और 3 बोर्डिंग स्कूलों में भी बड़े पैमाने पर पढ़ाया जाता है।तनु श्री ने लेखकों के एक सफल कार्यशाला का भी नेतृत्व किया और ‘कैसे लिखें एवं क्या लिखें पर सुझाव” दिए। कार्यशाला अत्यंत सफल थी, जिसमें उत्सुक युवा लेखकों ने भाग लेकर आपकी कला को निखारने का प्रयास किया। साहित्य महोत्सव का प्रथम दिन न केवल प्रतियोगिता आयोजित की गई, बल्कि स्टूडेंट्स को सीखने, विकास करने और साहित्य जगत की तनु श्री सिंह एवं शिव अरूर जैसे लब्ध-प्रतिष्ठित लेखकों से प्रेरणा प्राप्त करने का अवसर भी मिला। इस आयोजन ने समग्र उत्कृष्टता को बढ़ा दिया और स्कूलों के बीच सामूहिक कार्य तथा सहयोग को प्रोत्साहित किया।



Comments

Popular posts from this blog

सिंधी काउंसिल ऑफ इंडिया, दिल्ली एनसीआर रीजन ने किया लेडीज विंग की घोसणा

पूर्व राष्ट्रपति रामनाथ गोविंद जी द्वारा हार्ट एवं कैंसर हॉस्पिटल का शिलान्यास होगा

झूठ बोलकर न्यायालय को गुमराह करने के मामले में रिपब्लिक चैनल के एंकर सैयद सोहेल के विरुद्ध याचिका दायर