रॉकवेल ऑटोमेशन वंचित छात्रों के लिए बने प्रायोजक

◆  वर्ल्ड रोबोट ओलंपियाड 2023 में भाग लेने के लिए प्रमुख शहरों के 12 स्कूलों को स्पांसर किया

शब्दवाणी समाचार, रविवार 24 सितम्बर 2023, सम्पादकीय व्हाट्सप्प 8803818844, नई दिल्ली। रॉकवेल ऑटोमेशन, इंक. (एनवाईएसई: आरओके), इंडस्ट्रियल ऑटोमेशन और डिजिटल ट्रांसफॉर्मेशन के लिए समर्पित दुनिया की सबसे बड़ी कंपनी,  इंडिया एसटीईएम फाउंडेशन (आईएसएफ) द्वारा आयोजित वर्ल्ड  रोबोट ओलंपियाड (डब्ल्यूआरओ) में भाग लेने के लिए भारत के प्रमुख शहरों में 12 स्कूलों को स्पांसर  कर रही है।  यह पहल वंचित छात्रों के लिए साइंस, टेक्नोलॉजी , इंजीनियरिंग, और मैथमेटिक्स (एसटीईएम) शिक्षा को बढ़ावा देने के रॉकवेल के बड़े कॉर्पोरेट सोशल  रिस्पांसिबिलिटी (सीएसआर) लक्ष्य का हिस्सा है - जो उन्हें भविष्य के लिए तैयार करने में मदद करता है। इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ़ साइंस एजुकेशन एंड रिसर्च  (आईआईएसईआर) पुणे के फाउंडिंग मेंबर एंड सीनियर साइंटिस्ट अरविंद नाटू डब्ल्यूआरओ कार्यक्रम में सम्मानित अतिथि थे। उन्होंने प्रतिभागियों के साथ बातचीत की और आईआईएसईआर के माध्यम से एसटीईएम गतिविधियों में अपने योगदान के बारे में बहुमूल्य अंतर्दृष्टि साझा की।

पहल के बारे में बोलते हुए रॉकवेल ऑटोमेशन इंडिया के मैनेजिंग डायरेक्टर दिलीप साहनी ने कहा रॉकवेल कम्युनिटीज का समर्थन करने और हम जो कुछ भी करते हैं उसमें सकारात्मक प्रभाव लाने के लिए प्रतिबद्ध है। हम भारत के भविष्य को आकार देने में एसटीईएम शिक्षा के महत्व को पहचानते हैं और हम छात्रों को व्यावहारिक ज्ञान के साथ तैयार करने में मदद करना चाहते हैं जो उन्हें भविष्य की चुनौतियों से निपटने के लिए सशक्त बनाएगा।

मुझे इस असाधारण पहल को मजबूत करने में मदद करने के लिए हमारे वैल्यूड पार्टनर , इंडिया एसटीईएम फाउंडेशन के साथ सहयोग करने में खुशी हो रही है। हम स्मार्ट और साम्यिक भारत के अपने साझा दृष्टिकोण को आगे बढ़ाने के लिए कई और सहयोगों की आशा करते हैं। प्रत्येक डब्ल्यूआरओ कार्यक्रम में 30 से 35 स्कूलों की 38 टीमों ने भाग लिया। रॉकवेल ऑटोमेशन स्पोंसर्ड  दो टीमों ने जूनियर और सीनियर श्रेणियों में अपने रीजनल राउंड जीते। इन टीमों ने सितंबर 2023 में होने वाली नेशनल चैंपियनशिप के लिए अपनी सीट पक्की कर ली है। 

प्रतिभागियों में ज्ञानगंगा इंग्लिश मीडियम स्कूल - पुणे, एयर फोर्स स्कूल, विमान नगर - पुणे, लायन एम. पी. भूटा सायन सार्वजनिक स्कूल - मुंबई, शेठ चुन्नीलाल दामोदरदास बर्फीवाला हाई स्कूल अंधेरी - मुंबई, स्वामी विवेकानंद विद्या केंद्र - बेंगलुरु, राजकीय प्रतिभा विकास विद्यालय - दिल्ली, डीटीईए स्कूल - दिल्ली, केन्द्रीय विद्यालय फोर्ट विलियम - कोलकाता, और केन्द्रीय विद्यालय बालीगंज - कोलकाता के छात्र शामिल हैं। वर्ष 2023 भारत में रॉकवेल ऑटोमेशन के 40 वर्षों के निरंतर संचालन का भी प्रतीक है। 1983 से, कंपनी ने इंडस्ट्रियल ऑटोमेशन  एंड  डिजिटल  ट्रांसफॉर्मेशन  सोलूशन्स प्रदान करके ग्राहकों और भागीदारों को रेसिलिएंट, एजाइल, एंड  सस्टेनेबल बनने में मदद की है। 

Comments

Popular posts from this blog

सिंधी काउंसिल ऑफ इंडिया, दिल्ली एनसीआर रीजन ने किया लेडीज विंग की घोसणा

पूर्व राष्ट्रपति रामनाथ गोविंद जी द्वारा हार्ट एवं कैंसर हॉस्पिटल का शिलान्यास होगा

झूठ बोलकर न्यायालय को गुमराह करने के मामले में रिपब्लिक चैनल के एंकर सैयद सोहेल के विरुद्ध याचिका दायर