बीएलएस इंटरनेशनल ने दूसरी तिमाही के वित्तीय परिणाम किए घोषित

शब्दवाणी समाचार, मंगलवार, शुक्रवार 14 नवम्बर 2023, सम्पादकीय व्हाट्सप्प 8803818844, नई दिल्ली। विभिन्न देशों की सरकारों और नागरिकों के भरोसेमंद तकनीकी सहयोगी बीएलएस इंटरनेशनल ने 30 सितंबर 2023 को समाप्त अपने अनंकेक्षित (अनऑडिटेड) तिमाही और छमाही वित्तीय परिणामों की घोषणा की है। बीएलएस इंटरनेशनल के संयुक्त प्रबंध निदेशक (ज्वाइंट एमडी) ने कहा, ”मुझे यह बताते हुए खुशी हो रही है कि हमने दूसरी तिमाही में प्रगति का सिलसिला जारी रखा है। कंपनी का कामकाज उम्मीद के मुताबिक रहा है। तिमाही में साल दर साल देखें तो आय में 14.3 फीसदी की वृद्धि हुई है। साथ ही ईबीआईटीडीए 52.7 फीसदी बढ़ा। पीएटी 60.8 फीसदी बढ़ा। सही व्यावसायिक मिश्रण के कारण ईबीआईटीडीए मार्जिन में वृद्धि दिखाई दी है, जो इस तिमाही में भी 20 फीसदी पर बनी रही. चूंकि अब हमारे प्रमुख बाजार खुल रहे हैं, इसलिए पूरी उम्मीद है कि वीजा आवेदनों में इजाफा होगा। कंपनी ने लगातार अच्छे वित्तीय नतीजों का सिलसिला जारी रखा है। 30 सितंबर 2023 को समाप्त तिमाही ईबीआईटीडीए 52.4 फीसदी बढ़कर 86.7 करोड़ हो गया। कंपनी का परिचालन  ईबीआईटीडीए मार्जिन 20 प्रतिशत से ज्यादा बना हुआ है, जो वास्तव में व्यवसाय के सही मिश्रण, खासकर वीजा और कांसुलर सेवाओं के कारण संभव हुआ है। कंपनी के खातों का प्रबंधन मुख्य रूप से मुनाफे और नकदी निर्माण पर केंद्रित है। साथ ही यह 687 करोड़ रुपए की नकदी (बुक्स) के साथ ऋण मुक्त कंपनी बनी हुई है।

इस व्यवसाय में परिसंपत्तियों की प्रकृति हल्की रहती है. इसे देखते हुए, कंपनी अपने शेयरधारकों के लिए महत्वपूर्ण रिटर्न उत्पन्न कर पाई है। उसका पूंजी पर प्रतिफल 35.5 फीसदी और निवेश पर लाभ 34.6 फीसदी (पहली छमाही, वित्त वर्ष 24 के वार्षिक वित्तीय नतीजों के आधार पर) रहा है। कंपनी दुनिया की शीर्ष 3 वीजा और कांसुलर सेवा प्रदाताओं में से एक बनी हुई है। वह स्पेन, इटली, पुर्तगाल, जर्मनी, थाईलैंड, हंगरी, मोरक्को, भारत, वियतनाम, मलेशिया और स्लोवाकिया के लिए वीजा आवेदन की प्रक्रिया संचालित करती है।  कंपनी के विकास में मुख्य रूप से यात्रा और पर्यटन के लिए प्रमुख पर्यटन स्थलों का खोला जाना,  नए अनुबंधों के साथ ही निविदा की प्रक्रिया में चल रहे अनुबंधों को भी हासिल करना, वैल्यू एडेड (मूल्य संवर्धित सेवाओं) की मांग में वृद्धि और वीजा और कांसुलर व डिजिटल सेवा के दोनों क्षेत्रों में संभावित ऑर्गेनिक अवसरों की उपलब्धता आदि कारक शामिल हैं।

Comments

Popular posts from this blog

सिंधी काउंसिल ऑफ इंडिया, दिल्ली एनसीआर रीजन ने किया लेडीज विंग की घोसणा

पूर्व राष्ट्रपति रामनाथ गोविंद जी द्वारा हार्ट एवं कैंसर हॉस्पिटल का शिलान्यास होगा

झूठ बोलकर न्यायालय को गुमराह करने के मामले में रिपब्लिक चैनल के एंकर सैयद सोहेल के विरुद्ध याचिका दायर