महात्मा गांधी के नाम की राजनीति अब बंद करे कांग्रेस सरकार : राजीव कुमार जायसवाल

राष्ट्रपिता महात्मा गांधी के अंतिम शब्द थे हे राम 

शब्दवाणी समाचार, वीरवार 28 दिसंबर 2s023, संपादकीय व्हाट्सएप 08803818844, नई दिल्ली।जाने माने युवा नेता एवम नेशनल पीपल्स पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव राजीव कुमार जायसवाल अपने जारी बयान में कहते है की वर्षों से गुलामी की जंजीर में तड़प रहे भारत माता के आजादी के संघर्ष में अग्रणी भूमिका निभाने वाले महान महापुरुष महात्मा गांधी के देश में उनके इष्टदेव का आजादी के सात दशक बाद अर्से से बहुप्रतीक्षित अयोध्या मंदिर में प्राण प्रतिष्ठा होने जा रहा है। अगर गांधीजी भगवान राम को इतना मानते थे तो निश्चित रूप से भगवान राम पर उन्होंने विशिष्ट चिंतन किया होगा और आज वर्षों बाद गांधीवादी विचारधारा में आस्था रखने वाले लोगों को गांधीजी के इष्टदेव के प्राण प्रतिष्ठा उत्सव में भाग लेने का परम सौभाग्य प्राप्त हुआ है।

राम सिर्फ एक शब्द नहीं बल्कि पुरषोत्तम राम इस संसार में कितने लाचार, मजबूर और असहाय लोगों के जिंदगी की डूबती नैया के खेवनहार हैं। शायद इसलिए यह महात्मा गांधी के सर्वप्रिय इष्टदेव थे। यह देश जब तक रहेगा गांधी और गांधीवाद हमेशा अमर रहेगा ... लेकिन कांग्रेस ने गांधी के नाम पर। एक अधिपत्य से बना लिया है जो की गलत है गांधी सबके है गांधी देश के है और सभी राजनीतिक पार्टी के लिए आदरणीय है।श्री जायसवाल बताते है की अपने जीवन के अंतिम क्षण में भी गांधी जी के अंतिम शब्द श्री राम नाम था जिससे उनके इष्टदेव बने राम ।  कांग्रेस को अब अपनी वोट की राजनीति बंद करके महान शौर्य के प्रतीक आदरणीय  महात्मा गांधी के इष्टदेव भगवान राम की महिमा का पूरे देश को अनुसरण करने देना चाहिए। राम सबके है राम सबमें है । जय हो दशरथ नंदन की।

Comments

Popular posts from this blog

सिंधी काउंसिल ऑफ इंडिया, दिल्ली एनसीआर रीजन ने किया लेडीज विंग की घोसणा

पूर्व राष्ट्रपति रामनाथ गोविंद जी द्वारा हार्ट एवं कैंसर हॉस्पिटल का शिलान्यास होगा

झूठ बोलकर न्यायालय को गुमराह करने के मामले में रिपब्लिक चैनल के एंकर सैयद सोहेल के विरुद्ध याचिका दायर