डा. व्‍यंकटेश ने संभाला शिव नादर यूनिवर्सिटी में स्‍कूल ऑफ मैनेजमेंट एंड एंट्रप्रेन्‍योरशिप के डीन का पद

  

शब्दवाणी समाचार, सोमवार  11 दिसम्बर 2023, सम्पादकीय व्हाट्सप्प 8803818844, ग्रेटर नोएडा। भारत के सबसे युवा उत्‍कृष्‍ट संस्‍थान (IoE), शिव नादर यूनिवर्सिटी, ने डा. सुंदरवर्धन व्‍यंकटेश को स्‍कूल ऑफ मैनेजमेंट एंड एंट्रप्रेन्‍योरशिप के डीन के रूप में पदोन्‍नत किया है। डा. व्‍यंकटेश की नई नियुक्ति 20 नवंबर, 2023 से प्रभावी है। डा. व्‍यंकटेश, डा. अन्‍नया मुखर्जी, कुलपति, व नादर यूनिवर्सिटी को रिपोर्ट करेंगे। डा. व्‍यंकटेश, डा. बिबेक बनर्जी का स्‍थान लेंगे, जिन्‍होंने तीन साल तक स्‍कूल ऑफ मैनेजमेंट एंड एंट्रप्रेन्‍योरशिप के डीन के रूप में अपनी सेवाएं प्रदान की।  

डा. व्‍यंकटेश के पास इस भूमिका को निभाने के लिए बेहतर अनुभव और विशेषज्ञता है, उन्‍होंने ऑडिट और मैन्‍यूफैक्‍चरिंग इंडस्‍ट्रीज में बड़े पैमाने पर काम किया है। वह कई शिक्षण संस्थाओं से भी जुड़े रहे हैं, उन्‍होंने भारतीय प्रबंधन संस्‍थान बेंगलोर (आठ साल तक जुड़े रहे) और एशियन इंस्‍टीट्यूट ऑफ टेक्‍नोलॉजी, थाईलैंड (18 साल) में लैक्‍चर दिए हैं। वह फ्रांस, भारत, वियतनाम, नेपाल और थाईलैंड में उच्‍च शिक्षा के प्रमुख संस्‍थानों में विजिटिंग फैकल्‍टी भी रहे हैं।  अपने पूरे करियर के दौरान, डा. व्‍यंकटेश ने शिक्षा के क्षेत्र में उत्‍कृष्‍टता के लिए प्रतिबद्धता, इनोवेशन को प्रोत्‍साहन देने के लिए जुनून और उद्यमशीलता को बढ़ावा देने के लिए समर्पण का प्रदर्शन किया है। एक अच्‍छे ट्रैक रिकॉर्ड के साथ, डा. व्‍यंकटेश एक प्रतिष्ठित विद्वान हैं और उन्‍होंने प्रभावशाली अनुसंधान प्रयासों और शिक्षण गतिव‍िधियों के माध्‍यम से मैनेजमेंट एजुकेशन, एंट्रप्रेन्‍योरशिप और अकाउंटिंग में महत्‍वपूर्ण योगदान दिया है। उन्‍होंने जानेमाने एकेडमिक जर्नल्‍स में 25 लेख प्रकाशित किए हैं, जिनमें वित्‍तीय विश्‍लेषण, कॉरपोरेट फाइनेंस, रणनीतिक प्रबंधन और नियंत्रण एवं लीडरशिप में महत्‍वपूर्ण मुद्दों को उठाया है।

डा. व्‍यंकटेश के पास एग्‍जीक्‍यूटिव और मैनेजमेंट डेवलपमेंट प्रोग्राम को डिजाइन और डिलीवरी करने का अंतरराष्‍ट्रीय अनुभव है और वह कॉरपोरेट जगत में कई वरिष्‍ठ प्रबंधकों के संरक्षक भी हैं। उन्‍होंने दो दशकों से अधिक समय तक उच्‍च प्रभाव वाले एग्‍जीक्‍यूटिव डेवलपमेंट प्रोग्राम को डिजाइन, उनकी मार्केटिंग और डिलीवरी की है। अनुसंधान के लिए उनके पसंदीदा क्षेत्रों में, उभरते बाजारों, विशेषकर गैर-औपचारिक सेटिंग्‍स में मैनेजरियल और पर्सनल निर्णय लेने में फाइनेंस एंड अकाउंटिंग सिद्धांतों और संबंधित कॉन्‍सेप्‍ट का उपयोग करना, सर्वे करना और केस स्‍टडी मेथड शामिल है। डीन के रूप में पदभार ग्रहण करते हुए, डा. व्‍यंकटेश ने कहा, “शिव नादर यूनिवर्सिटी का हिस्‍सा बनकर और स्‍कूल ऑफ मैनेजमेंट एंड एंट्रप्रेन्‍योरशिप का नेतृत्‍व कर मैं अपने आपको गौरवान्वित महसूस कर रहा हूं। मैं स्‍कूल की प्रतिष्‍ठा को बढ़ाने और इसकी सफलता में अपना योगदान देने के लिए प्रतिभाशाली फैकल्‍टी, स्‍टाफ और छात्रों के साथ काम करने के लिए उत्‍साहित हूं। 

Comments

Popular posts from this blog

सिंधी काउंसिल ऑफ इंडिया, दिल्ली एनसीआर रीजन ने किया लेडीज विंग की घोसणा

पूर्व राष्ट्रपति रामनाथ गोविंद जी द्वारा हार्ट एवं कैंसर हॉस्पिटल का शिलान्यास होगा

झूठ बोलकर न्यायालय को गुमराह करने के मामले में रिपब्लिक चैनल के एंकर सैयद सोहेल के विरुद्ध याचिका दायर