ज़ोमैटो ने ज़ोमैटोज़ ईक्विटेबल एक्शन फॉर लिवलिहुड किया पेश

◆ डिलीवरी पार्टनर्स को इसकी रेस्ट पॉईंट्स व्हीलचेयर पाना आसान बना देगा

◆ दिल्ली और बैंगलोर में व्हीलचेयर यूज़र्स के लिए दो रेस्ट पॉईंट्स को बैरियर-फ्री बनाकर इंटरनेशनल डे ऑफ पर्संस विद डिसएबिलिटीज़ मनाया

शब्दवाणी समाचार, सोमवार  11 दिसम्बर 2023, सम्पादकीय व्हाट्सप्प 8803818844, नई दिल्ली। सभी को एक समान अवसर प्रदान करने के अपने प्रयास के अंतर्गत, भारत के अग्रणी फूड ऑर्डरिंग एवं डिलीवरी प्लेटफॉर्म, ज़ोमैटो मेट्रो शहरों में अपने रेस्ट पॉईंट्स ऐसे बना रहा है, जहाँ व्हीलचेयर से जाना आसान हो। यह पहल व्हीलचेयर पर चलने वाले इसके डिलीवरी पार्टनर्स को सुगम आवाजाही प्रदान करने के लिए शुरू की गई है। इसकी शुरुआत ज़ोमैटो में अपने दो शेल्टर पॉईंट्स, एक दिल्ली में और दूसरे बैंगलोर में, को व्हील चेयर पर चलने वाले डिलीवरी पार्टनर्स के लिए सुगम आवाजाही वाले स्थानों में तब्दील करके की। ऐसे प्रयासों की मदद से ज़ोमैटो अपनी वैल्यू चेन में समावेशिता लाने और एक सुविधाजनक इन्फ्रास्ट्रक्चर एवं वातावरण का विकास करने के लिए प्रतिबद्ध है।

डिसएबिलिटीज़ से पीड़ित लोगों की क्षमताओं को पहचान देते हुए ज़ोमैटो ने सभी के लिए एक समग्र और समावेशितापूर्ण वातावरण स्थापित करने की ओर एक सक्रिय पहल ही है। इस फर्म में वर्तमान में ज़ोमैटो के फ्लैगशिप प्रोजेक्ट ज़ील (ज़ोमैटोज़ ईक्विटेबल एक्शन फॉर लिवलिहुड) के अंतर्गत काम करने वाले 300 डिलीवरी पार्टनर लोकोमोटर डिसएबिलिटी से पीड़ित हैं। इस साल लॉन्च किए गए ये रेस्ट पॉईंट ज़ोमैटो के ‘शेल्टर प्रोजेक्ट’ का हिस्सा हैं, जो विभिन्न कंपनियों में काम करने वाले डिलीवरी पार्टनर्स के लिए ज्यादा सहयोगपूर्ण गिग वातावरण का निर्माण करने पर केंद्रित अभियान है। इन हवादार स्थानों पर आरामदायक सीटिंग, चार्जिंग प्वाईंट्स, वॉशरूम, हाई-स्पीड इंटरनेट, हेल्पडेस्क, फर्स्ट-एड सपोर्ट, फ्री वाई-फाई, और भोजन के विकल्पों की उपलब्धता होती है। इस स्थानों का डिज़ाईन डिलीवरी पार्टनर्स को आराम करने और तरोताजा होने की एक समर्पित जगह प्रदान करता है, ताकि वो शारीरिक और मानसिक रूप से स्वस्थ रहते हुए डिलीवरी कर सकें।

इस बारे में ज़ोमैटो की चीफ सस्टेनेबिलिटी ऑफिसर, अंजलि रवि कुमार ने कहा ज़ोमैटो में हम लगातार सभी अंशधारकों के लिए एक सुरक्षित और समावेशी काम का वातावरण विकसित करने के लिए काम कर रहे हैं। इन रेस्ट पॉईंट्स तक व्हील चेयर से जाना संभव बनाकर हम विभिन्न क्षमताओं वाले अपने डिलीवरी पार्टनर्स को सशक्त बनाने पर केंद्रित हैं। हम तेजस्वी सूर्या और हिंदुस्तान पेट्रोलियम कॉर्पोरेशन लिमिटेड के साथ अपने गठबंधन के लिए आभारी हैं, जिन्होंने क्रमशः बैंगलोर और नई दिल्ली में इन शेल्टर्स का नवोद्धार करने में मदद की। हमारे विकास के साथ-साथ हम इस अभियान का भी विस्तार करते जाएंगे, और डिलीवरी पार्टनर्स की विभिन्न जरूरतों को पूरा करने का प्रयास करेंगे।

Comments

Popular posts from this blog

सिंधी काउंसिल ऑफ इंडिया, दिल्ली एनसीआर रीजन ने किया लेडीज विंग की घोसणा

पूर्व राष्ट्रपति रामनाथ गोविंद जी द्वारा हार्ट एवं कैंसर हॉस्पिटल का शिलान्यास होगा

झूठ बोलकर न्यायालय को गुमराह करने के मामले में रिपब्लिक चैनल के एंकर सैयद सोहेल के विरुद्ध याचिका दायर