कबूतरबाजी में उस्ताद चौहान बने हिंद केसरी


कय्यूम मिर्जा को भी हिंद केसरी का खिताब

शब्दवाणी समाचार, मंगलवार 2 जनवरी 2024, संपादकीय व्हाट्सएप 08803818844, नई दिल्ली। कबूतरबाजी का 14वां ऑल इंडिया टूर्नामेंट 26 नवंबर को हुआ, जिसमें देश के कई राज्यों से अपने कबूतरों के साथ कबूतरबाजों ने हिस्सा लिया। इसमें कम और अधिक उंचाई वाले उड़ानों में उस्ताद चौहान और कय्यूम मिर्जा बने 'हिंद केसरी'। इंडियन पिजंस एसोसिएशन के चेयरमैन श्री चौहान ने बताया कि इस टूर्नामेंट में प्रत्येक टीम से 23 कबूतरों को उड़ाया गया,जिसमें कुल 20 कबूतरों का टाइम नोट किया गया। इसके लिए दो कैटेगरी रखी गई थी। इनमें कम ऊंचाई पर उड़ने वाले मद्रासी और पंजाबी कबूतर एवं ऊंची उड़ान भरने वाले देसी कबूतर शामिल थे। 

आईपीए—14 वें आल इंडिया टूर्नामेंट में अधिक उंचाई वाले यानी हाई फ्लायर श्रेणी की उड़ान में लखनऊ के प्रकाश गुप्ता को प्रथम, कय्यूम मिर्जा को द्वितीय और संभल, यूपी के मोहम्मद अल्ताफ हुसैन को तृतीय पुरस्कार से नवाजा गया। इसी श्रेणी में मुरादाबाद के मोहम्मद नसीम चौथे और रामपुर के इमरान खान पांचवें स्थान पर रहे। जबकि पहला सुपर इंडिया टूर्नामेंट में कम उंचाई वाले यानी लो फ्लायर श्रेणी में पश्चिम बंगाल के सोमनाथ हैदर को प्रथम, दिल्ली के टाइगर बिल्ला को द्वितीय और दिल्ली के ही पवन तैमूर नागर को तृतीय पुरस्कार मिला। जबकि इसी श्रेणी में मध्य प्रदेश इंदौर के मोनू राहिंज चौथे और दिल्ली के लाला बिधूड़ी पांचवें स्थान पर रहा।

खास बात यह रही कि प्रथम सुपर इंडिया टूर्नामेंट जो कि क्वालीफाइंग राउंड था। उसके लिए कोई एंट्री फीस नहीं रखी गई थी। इसमें हाई फ्लायर कैटिगरी के लिए अधिकतम उड़ान की सीमा 12 घंटे तय की गई, जबकि लो फ्लायर कैटेगरी के लिए कोई समय सीमा तय नहीं रखी गई। जिसके फलस्वरुप 18 घंटे की एवरेज से कबूतर उड़े तथा जिसमें देश के सर्वश्रेष्ठ पांच-पांच विजेता खिलाड़ियों के नाम इस प्रकार दर्ज किए गए।

इस अखिल भारतीय स्तर की प्रतियोगिता में हिस्सा लेने वाले विजेताओं को क्रमशः प्रथम 51 हजार रुपये, द्वितीय 31000 रुपए, तृतीय 21000 रुपए, चतुर्थ 7100 और पंचम पुरस्कार 5100 प्रदान किए जाएंगे। उन्होंने बताया कि इसके बाद 3 दिसंबर 2023 को एसोसिएशन का पहला 'सुपर इंडिया टूर्नामेंट' हुआ। जिसमें चांदी की शील्ड और सर्टिफिकेट प्रदान किए जाएंगे। पुरस्कारों में चांदी की आकर्षक बड़ी प्लेट और सर्टिफिकेट के साथ सिल्वर की ट्रॉफी प्रदान की जाएगी।

इस टूर्नामेंट के समापन के बाद उस्ताद चौहान ने उस्ताद नीटा भाई, उस्ताद अजय चौधरी, उस्ताद निरंजन शर्मा, उस्ताद संजय दुबे, उस्ताद सरफराज भाई, उस्ताद कम्मन चौधरी, उस्ताद मुर्तुजा, उस्ताद शौभे चौधरी, उस्ताद अनुराग सैनी, उस्ताद विजय सागर, शाहनवाज एडवोकेट, तल्मिज अहमद और स्टेट नाजिम उस्ताद राजीव रॉबिंसन बंटी, कय्यूम मिर्जा, आरिफ अजीज, उस्ताद इसरार खान, उस्ताद राजेश चांगरें, उस्ताद सलीम कुरैशी, मोनू रहीम, उल्लास मंडल, प्रीतम डार, आफताब आलम, उस्ताद युवराज सोलंकी को विशेष धन्यवाद ज्ञापन किया और इस टूर्नामेंट के सभी प्रतियोगियों का आभार प्रकट किया।

Comments

Popular posts from this blog

सिंधी काउंसिल ऑफ इंडिया, दिल्ली एनसीआर रीजन ने किया लेडीज विंग की घोसणा

पूर्व राष्ट्रपति रामनाथ गोविंद जी द्वारा हार्ट एवं कैंसर हॉस्पिटल का शिलान्यास होगा

झूठ बोलकर न्यायालय को गुमराह करने के मामले में रिपब्लिक चैनल के एंकर सैयद सोहेल के विरुद्ध याचिका दायर