आईपी यूनिवर्सिटी में सभी प्रोग्राम के लिए एक फरवरी से ऑनलाइन दाख़िला आरम्भ

शब्दवाणी समाचार, मंगलवार 30 जनवरी 2024, सम्पादकीय व्हाट्सप्प 8803818844, नई दिल्ली। आईपी यूनिवर्सिटी में सभी प्रोग्राम के लिए एक फरवरी से  ऑनलाइन दाख़िला प्रक्रिया शुरू हों जाएगी। यूनिवर्सिटी ने नये सत्र के लिए दाख़िला पुस्तिका यूनिवर्सिटी के कुलपति पद्मश्री प्रो. डॉक्टर महेश वर्मा ने यूजी, पीजी एवं पीएचडी प्रोग्राम के लिए अलग-अलग तीन दाख़िला पुस्तिकाएं जारी किया। इस अवसर पर उन्होंने बताया कि समस्त प्रोग्राम के लिये ऑनलाइन आवेदन एक फरवरी से शुरू हो जाएँगे। यूनिवर्सिटी कुछ नए प्रोग्राम भी शुरू कर रही है।उसके लिए आवेदन 7 फरवरी से शुरू होंगे। आवेदन शुल्क पिछले साल की ही तरह ही इस साल भी पंद्रह सौ रुपए रखा गया है। उन्होंने बताया कि आवेदकों की सहूलियत के लिए ऑनलाइन फ़ॉर्म भरने की प्रक्रिया को भी आसान बनाया गया है।अब फ़ॉर्म मोबाइल फ़ोन पर भी भरा जा सकता है। उन्होंने बताया कि पिछले दो वर्षों में 57 नए प्रोग्राम शुरू किए गए हैं। दूरस्थ एवं ऑनलाइन का एक सेंटर भी खोला गया है। विदेशी छात्र अब पीएचडी प्रोग्राम में भी दाख़िला ले सकते हैं। गर्ल्स एवं स्पोर्ट्स के लिए भी दाख़िले में अलग से कोटा निर्धारित करने पर यूनिवर्सिटी विचार कर रही है।

नरेला में प्रस्तावित तीसरे कैम्पस के बारे में कुलपति ने बताया कि हमें तक़रीबन 22 एकड़ ज़मीन और 160 फ़्लैट्स के लिए अस्थाई आवंटन पत्र मिल गया है।वहाँ हम मेडिकल साइयन्स, आयुष, नवीनतम तकनीक , शोध एवं विकास, कृषिकी, फ़िल्म निर्माण, एचआरडी, अंतरष्ट्रिय व्यापार एवं कूटनीति, सीएसआर, सतत विकास इत्यादि के सेंटर खोलने पर विचार कर रहे हैं। यूनिवर्सिटी 37 यूजी प्रोग्राम, 44 पीजी प्रोग्राम एवं 35 पीएचडी प्रोग्राम के साथ अपने दो कैम्पस एवं तक़रीबन 115 संबद्ध इन्स्टिटूट्स में उपलब्ध क़रीब चालीस हज़ार सीटों पर नए सत्र के लिए दाख़िले की प्रक्रिया शुरू कर रही है। यूनिवर्सिटी अपने कैम्पस स्कूल में तक़रीबन ग्यारह सौ सीटों का इज़ाफ़ा नए सत्र से करने जा रही है।नई शिक्षा नीति के आलोक में यूजी के ग़ैर- तकनीकी प्रोग्राम चार साल के किए जा रहे हैं। ये प्रोग्राम हैं- बीए(अर्थशास्त्र), बीए बीएड, बीएससी(पर्यावरण विज्ञान), गणित, रसायन शास्त्र एवम् भौतिक विज्ञान में बीएससी एवं एमएससी, बी॰ टेक( एनर्जी इंजीनियरिंग), बी॰ टेक सीएसई( डेटा साइयन्स), बी॰ टेक सीएसई( आर्टिफ़िशल इंटेलिजेन्स) और बी॰ टेक( फ़ूड प्रॉसेसिंग टेक्नालोजी)।

यूनिवर्सिटी अर्बन ग्रीन स्पेस मनेजमेंट, इंडियन हेरिटेज एण्ड इन्वायरॉन्मेंटल ससटेनेबिलिटी बायओडिवर्सिटी, अप्लाइड इकॉलजी एंड कॉन्सर्वेशन में सर्टिफ़िकेट कोर्सेज़ भी शुरू करने जा रही है। नए सत्र से पीएचडी मेडिसिन, इंडस्ट्रीयल आईओटी, ऑटमेशन एंड रोबोटिक्स, एआई एंड डीएस, एआई एंड एमएल, डिज़ाइन एंड इनोवेशन में हो सकेगा। यूनिवर्सिटी से संबद्ध संस्थानों में एम॰ टेक ( आर्टिफ़िशल इंटेलिजेन्स एंड डेटा साइयन्स), बीएड स्पेशल एजुकेशन( मल्टिपल डिसबिलिटी) और बीएससी( पैकेजिंग टेक्नॉलोजी)  प्रोग्राम की शुरुआत नए सत्र से हो रही है। यूनिवर्सिटी कुछ अन्य प्रोग्राम भी कैम्पस स्कूल में शुरू करने की तैयारी में है। इसके लिए संबद्ध नियामक संस्थाओं से स्वीकृति की प्रक्रिया चल रही है। यें प्रोग्राम हैं- डी॰ फ़ार्मा, बी॰ फ़ार्मा, एम॰ फ़ार्मा, बीपीटी, बीएससी बीएड, बी॰ कॉम बीएड, बीए मस मीडिया, बीबीए, बी॰ कॉम और तीन वर्षीय एलएलबी। कैट और सीमेट के आधार पर एमबीए में दाख़िले और  क्लेट के आधार पर लॉ की काउंसिलिंग अप्रैल में शुरू हो जाएगी।  यूनिवर्सिटी द्वारा आयोजित समस्त प्रवेश परीक्षाएँ 27 अप्रैल से 12 मई तक  ओएमआर शीट पर ऑफ़लाइन मोड में आयोजित कर ली जाएँगी।काउंसिलिंग जून से शुरू कर जुलाई तक पूरी कर ली जाएगी। एक।अगस्त से नए सत्र की शुरुआत हों जाएगा।

Comments

Popular posts from this blog

सिंधी काउंसिल ऑफ इंडिया, दिल्ली एनसीआर रीजन ने किया लेडीज विंग की घोसणा

पूर्व राष्ट्रपति रामनाथ गोविंद जी द्वारा हार्ट एवं कैंसर हॉस्पिटल का शिलान्यास होगा

झूठ बोलकर न्यायालय को गुमराह करने के मामले में रिपब्लिक चैनल के एंकर सैयद सोहेल के विरुद्ध याचिका दायर