जापानी विशेषज्ञों ने ऑर्किड्स स्कूल के स्टूडेंट्स को एआई तथा इंडस्ट्रियल रोबोटिक्स टेक्‍नोलॉजी में दिया ट्रेनिंग

शब्दवाणी समाचार, रविवार 18 फरवरी 2024, सम्पादकीय व्हाट्सप्प 8803818844, गुरुग्राम। ऑर्किड्स द इंटरनेशनल स्कूल, गुरुग्राम के स्टूडेंट्स एक अद्भत लर्निंग अनुभव ले रहे हैं। इन्होंने केटीसी (नॉलेज ट्रेनिंग कलेक्ट्रल) जापान के जाने-माने अधिकारियों से सुधा राजमोहन-वीपी एकेडमिक्स, रेणु सिंह, प्रिंसिपल, ऑर्किड्स द इंटरनेशनल स्कूल की उपस्थिति में स्टूडेंट्स ने स्टेम एक्स द्वारा आयोजित एआई और इंडस्ट्रिलय रोबोटिक्स ट्रेनिंग सेशन में हिस्सा लिया। तेत्सुजी माएदा-केटीसी ग्रुप के प्रेसिडेंट, ताकेशी ओगुरा-महाप्रबंधक एशिया डिवीजन, केटीसी होल्डिंग्स जापान, और अनिल बसोत्रा-निदेशक, केटीसी होल्डिंग्स इंडिया प्राइवेट लिमिटेड, ने स्टूडेंट्स से बात की और जापानी स्टूडेंट्स के अनुभव साझा किए। साथ ही फास्ट बुलेट ट्रेनों, दुनिया की प्रमुख मशीनरी, भूकंप-मुक्त घरों के निर्माण के अनूठे तरीके और 6-7 दिनों की समयसीमा में बड़े ब्रिजों के निर्माण में इस्तेमाल होने वाली तकनीकों के बारे में बात की। 

स्टूडेंट्स के लिए यह कार्यक्रम एक नया अनुभव था क्योंकि विशेषज्ञों ने एआई की शिक्षा के महत्व के बारे में बताया। इसका मकसद एआई के कॉन्सेप्ट और इंडस्ट्रियल रोबोटिक्स तकनीक के बारे में उन स्टूडेंट्स को जल्द से जल्द जानकारी उपलब्ध कराना था। यह ट्रेनिंग एआई समर्थित ह्यूमनॉयड, स्पीडी हेक्सापॉड, इंडस्ट्रियल रोबोटिक्स आर्म, इलेक्ट्रॉनिक्स और आईओटी प्रोजेक्ट, लीगो रोबोटिक्स पर दी गई। इस अवसर पर सुधा राजमोहन, वीपी एकेडमिक्स, ऑर्किड्स इंटरनेशनल स्कूल, गुरुग्राम ने स्टूडेंट्स को अलग-अलग तरह की लर्निंग उपलब्ध कराने की अपनी उत्सुकता जाहिर की। स्टूडेंट्स को तकनीक और एआई के बारे में अपडेट रहना सुनिश्चित किया। सुधा ने कहा, हमने जागरूक रहने के लिए सत्रों में सक्रिय रूप से हिस्सा लिया और स्टूडेंट्स को उनकी रुचि तथा शौक के आधार पर अपना कॅरियर चुनने में उनका मार्गदर्शन किया। 

विभिन्न क्षेत्रों के लीडर्स तथा विशेषज्ञों के साथ चर्चा करने से स्टूडेंट्स को अलग-अलग विषयों के बारे में सही जानकारी तथा मार्गदर्शन मिला।सुधा आगे कहती हैं रोबोटिक्स गतिविधियों के लिए स्टूडेंट्स को समस्याओं का आकलन करने की जरूरत होती है, उन्हें छोटे-छोटे हिस्सों में बांटना और हल निकालना होता है। ऐसी ट्रेनिंग स्टूडेंट्स को अपनी कल्पनाओं का इस्तेमाल करने का एक मंच देती है। वे कुछ अलग हटकर सोच पाते हैं और समस्याओं के कुछ अलग अनूठे समाधान सामने लाते हैं।केटीसी समूह के प्रेसिडेंट- तेत्सुजी माएदा, ने कहा ऑर्किड्स इंटरनेशनल स्कूल के उत्साही स्टूडेंट्स के साथ एक बेहतरीन सेशन था। स्कूलों के इस तरह की पहल से स्टूडेंट्स के संपूर्ण विकास में काफी मदद मिलती है। हमारा यह मानना है कि एआई और रोबोटिक्स टेक्नोलॉजी, विकास तथा नवाचार के सिरमौर हैं। उनकी ताकत का इस्तेमाल करने से उनकी क्षमता और उत्पादकता में सुधार होगा। साथ ही सुरक्षित और ज्यादा स्‍थायी संचालन का मार्ग प्रशस्त हो पाएगा।

Comments

Popular posts from this blog

सिंधी काउंसिल ऑफ इंडिया, दिल्ली एनसीआर रीजन ने किया लेडीज विंग की घोसणा

पूर्व राष्ट्रपति रामनाथ गोविंद जी द्वारा हार्ट एवं कैंसर हॉस्पिटल का शिलान्यास होगा

झूठ बोलकर न्यायालय को गुमराह करने के मामले में रिपब्लिक चैनल के एंकर सैयद सोहेल के विरुद्ध याचिका दायर