ग्रीनसेल मोबिलिटी ने इलेक्ट्रिक बसों के लिए सुमितोमो मित्सुई बैंकिंग कॉरपोरेशन से 3 अरब रुपये की लिया

 

• यह भारत में इलेक्ट्रिक मोबिलिटी के क्षेत्र में जापानी बैंक द्वारा वित्तपोषित होने वाली पहली परियोजना है

• यह एशिया-प्रशांत में ई-मोबिलिटी के क्षेत्र में सुमितोमो मित्सुई बैंकिंग कॉर्पोरेशन की पहली परियोजना है

शब्दवाणी समाचार, बुधवार 15 मई 2024, सम्पादकीय व्हाट्सप्प 8803818844, मुंबई। इलेक्ट्रिक मास मोबिलिटी सेक्टर की प्रमुख कंपनी, ग्रीनसेल मोबिलिटी ने उत्तर प्रदेश में अपनी इलेक्ट्रिक बस परियोजना के लिए जापान के जाने-माने वित्तीय संस्थान सुमितोमो मित्सुई बैंकिंग कॉर्पोरेशन (SMBC) से ग्रीन फाइनेंसिंग हासिल की है। यह सौदा न केवल भारत में इलेक्ट्रिक मोबिलिटी के क्षेत्र में किसी जापानी बैंक द्वारा पहला प्रोजेक्ट फाइनेंस है, बल्कि एशिया प्रशांत में ई-मोबिलिटी में SMBC का पहला प्रोजेक्ट फाइनेंसिंग लेनदेन भी है। इस अनुबंध की शर्तों के मुताबिक, SMBC ने उत्तर प्रदेश में  350 इलेक्ट्रिक बसों के प्रोजेक्ट के लिए ग्रीनसेल मोबिलिटी को लॉन्ग टर्म प्रोजेक्ट फाइनेंसिंग सुविधा प्रदान की है। यह 3.07 अरब रुपये की प्रोजेक्ट फाइनेंसिंग सुविधा भारत में लो कार्बन परिवहन और फाइनेंशियल इनोवेशन दोनों मामलों में एक बड़ा कदम है। इस प्रोजेक्ट के तहत उत्तर प्रदेश के 8 शहरों में 9 मीटर लंबी एसी इलेक्ट्रिक बसों चलाई जाएंगी। इस प्रोजेक्ट से इसकी पूरी अनुबंध अवधि में कुल लगभग 2.35 लाख टन CO2 उत्सर्जन कम करने में मदद मिलने की उम्मीद है।  

इस मौके पर ग्रीनसेल मोबिलिटी के एमडी और सीईओ देवेन्द्र चावला ने कहा सुमितोमो मित्सुई बैंकिंग कॉर्पोरेशन के साथ हमारी ऐतिहासिक साझेदारी पर्यावरण की रक्षा करने वाले सार्वजनिक परिवहन के प्रति ग्रीनसेल मोबिलिटी के अटूट समर्पण का प्रमाण है। ग्रीन फाइनेंसिंग भारत के इलेक्ट्रिक परिवहन इकोसिस्टम को बदलने की दिशा में हमारे प्रयासों को तेज करने के लिए एक बड़ा मील का पत्थर है। ग्रीनसेल मोबिलिटी वैश्विक बैंकों, स्टैंडर्ड चार्टर्ड और सुमितोमो मित्सुई बैंकिंग कॉर्पोरेशन से ग्रीन फाइनेंसिंग हासिल करने वाली पहली भारतीय कंपनी बन गई है। यह प्रोजेक्ट फाइनेंस सुविधा FAME II योजना के तहत इलेक्ट्रिक बसों की खरीद, संचालन और रखरखाव में मदद करेगी जिसे उत्तर प्रदेश सरकार के शहरी परिवहन निदेशालय द्वारा प्रशासित किया जाता है। 10-वर्षीय रियायती अनुबंध के तहत संचालित यह प्रोजेक्ट एक निश्चित प्रति किलोमीटर शुल्क की गारंटी देता है, ट्रैफिक जोखिम को कम करता है और एन्‍युटी की तरह निरंतर आय की सुविधा देता है। सुमितोमो मित्सुई बैंकिंग कॉरपोरेशन में स्ट्रक्चर्ड फाइनेंस एशिया पैसिफिक के को-जनरल मैनेजर, टोमोफुमी वतनबे और लुका टोनेलो ने कहा, "हमें ग्रीनसेल मोबिलिटी के साथ इस असाधारण फाइनेंसिंग अनुबंध पर गर्व महसूस हो रहा है, जो भारत और एशिया प्रशांत क्षेत्र में सस्टेनेबल इनिशिएटिव को आगे बढ़ाने के लिए हमारी प्रतिबद्धता को और मजबूत करता है। इस अनुबंध को ग्रीन लोन सिद्धांतों के साथ जोड़कर, हम जिम्मेदार फाइनेंसिंग और पर्यावरणीय प्रबंधन के लिए नए मानक स्थापित कर रहे हैं। 

इस अनुबंध पर टिप्पणी करते हुए, SMBC इंडिया के कंट्री हेड, श्री हिरोयुकी मेसाकी ने कहा हम ग्रीनसेल मोबिलिटी के साथ अपने सहयोग के जरिए भारत के ई-मोबिलिटी क्षेत्र में अपनी यात्रा शुरू करने को लेकर उत्साहित हैं। यह अनुबंध स्‍थायी प्रथाओं को बढ़ावा देने के लिए हमारे समर्पण का उदाहरण है और हमारी प्रतिबद्धता को स्पष्ट करता है जिससे हमारे पर्यावरण पर सकारात्मक असर पड़ता है। हमारा लक्ष्य अपनी वित्तीय विशेषज्ञता और दुनिया भर में मौजूद नेटवर्क का फायदा उठाते हुए क्लीन ट्रांसपोर्ट सॉल्यूशंस को बढ़ावा देना और पर्यावरण के ज्यादा अनुकूल भविष्य का मार्ग प्रशस्त करना है।

Comments

Popular posts from this blog

पूर्व राष्ट्रपति रामनाथ गोविंद जी द्वारा हार्ट एवं कैंसर हॉस्पिटल का शिलान्यास होगा

झूठ बोलकर न्यायालय को गुमराह करने के मामले में रिपब्लिक चैनल के एंकर सैयद सोहेल के विरुद्ध याचिका दायर

22 वें ऑल इंडिया होम्योपैथिक कांग्रेस का हुआ आयोजन