मेलबर्न विश्वविद्यालय बना क्यूएस रैंकिंग में दुनिया का 13वां सर्वश्रेष्ठ विश्वविद्यालय

शब्दवाणी समाचार, वीरवार 13 जून 2024, सम्पादकीय व्हाट्सप्प 8803818844, नई दिल्ली।ऑस्ट्रेलिया का मेलबर्न विश्वविद्यालय आज जारी नवीनतम क्वाक्वेरेली साइमंड्स (क्यूएस) [Quacquarelli Symonds (QS) ] विश्व विश्वविद्यालय रैंकिंग में एक बार फिर आगे बढ़कर विश्व में 13वें स्थान पर पहुँच गया है। मेलबर्न विश्वविद्यालय एक विश्व स्तर पर मान्यता प्राप्त और जुड़ा हुआ विश्वविद्यालय है, और तीनों प्रमुख वैश्विक रैंकिंग - क्यूएस (13), टाइम्स हायर एजुकेशन (37) और अकादमिक रैंकिंग ऑफ वर्ल्ड यूनिवर्सिटीज़ (35) के अनुसार ऑस्ट्रेलिया में अग्रणी विश्वविद्यालय है। भारत के प्रतिष्ठित संस्थान अनुसंधान, शिक्षा, छात्र और स्टाफ एक्सचेंज़ कार्यक्रमों, मेलबर्न इंडिया पोस्टग्रेजुएट अकादमी के माध्यम से संयुक्त पीएचडी कार्यक्रमों पर मेलबर्न विश्वविद्यालय के साथ साझेदारी करते हैं, और अब विज्ञान स्नातक की दोहरी डिग्री (बैचुलर ऑफ साइंस डुअल डिग्री) कार्यक्रम भी प्रदान करते हैं। ऑस्ट्रेलिया-भारत संबंध मेलबर्न विश्वविद्यालय के लिए सबसे महत्वपूर्ण अंतर्राष्ट्रीय संबंधों में से एक है, जो कर्मचारियों, छात्रों, पूर्व छात्रों और व्यापक समाज को सम्मिलित करते हुए पारस्परिक रूप से लाभकारी और निरंतर सहयोग के लिए महत्वपूर्ण अवसर प्रदान करता है।

मेलबर्न विश्वविद्यालय 16 वर्षों से शिक्षा और अनुसंधान पर भारत के साथ साझेदारी कर रहा है, तथा इसकी व्यापक सरकारी और संस्थागत साझेदारियां दीर्घकालिक क्षमता निर्माण पर केंद्रित हैं, ताकि शिक्षण चक्र के सभी चरणों में प्रभाव के लिए यथासंभव अधिक से अधिक छात्रों के साथ संपर्क स्थापित किया जा सके। मेलबर्न विश्वविद्यालय के वाईस-चांसलर प्रोफेसर डंकन मास्केल ने कहा कि उन्हें विश्वविद्यालय की वैश्विक रैंकिंग में निरंतर वृद्धि देखकर गर्व है। प्रोफेसर मास्केल ने कहा यह देखना बहुत अच्छा लगता है कि मेलबर्न विश्वविद्यालय निरंतर बेहतर हो रहा है तथा अपनी उच्च गुणवत्ता वाली  शिक्षा और अनुसंधान के लिए विश्व स्तर पर मान्यता प्राप्त कर रहा है। मेलबर्न विश्वविद्यालय एक विश्व-अग्रणी और वैश्विक रूप से जुड़ा हुआ ऑस्ट्रेलियाई विश्वविद्यालय बनने की आकांक्षा रखता है। हमारे पास वास्तव में वैश्विक और विविध छात्र एवं कर्मचारी समुदाय है, जिनमें से अधिकांश अंतर्राष्ट्रीय छात्र भारत चीन, इंडोनेशिया, और मलेशिया से आते हैं।

भारतीय समुदाय ऑस्ट्रेलिया का दूसरा सबसे बड़ा और सबसे तेजी से बढ़ने वाला विदेशी समुदाय है। पिछले वर्ष 33 से 14 तक की छलांग के बाद, मेलबर्न विश्वविद्यालय फिर से रैंकिंग में आगे बढ़कर 13वें स्थान पर पहुँच गया है, जिसे स्थिरता और रोजगार परिणामों के साथ-साथ शैक्षणिक प्रतिष्ठा, नियोक्ता प्रतिष्ठा और अंतर्राष्ट्रीय अनुसंधान नेटवर्क के स्कोर में तीव्र वृद्धि से बल मिला है। प्रोफेसर मास्केल ने कहा मेलबर्न विश्वविद्यालय से स्नातकों को अपने क्षेत्रों में वैश्विक नेता बनने के लिए तैयार किया जाता है और उन्हें विश्व स्तरीय शिक्षा प्राप्त करनेके रूप में मान्यता दी जाती है - यह नियोक्ता प्रतिष्ठा में हमारे बढ़ते स्कोर और दुनिया भर में स्नातक रोजगार योग्यता द्वारा समर्थित है। भारत में मेलबोर्न विश्वविद्यालय के 1400 पूर्व छात्र रहते हैं, जो कार्यक्रमों में भागीदारी, स्वयंसेवा और लोक-कल्याण के माध्यम से विश्वविद्यालय के साथ सक्रिय रूप से जुड़े हुए हैं।

 मेलबर्न विश्वविद्यालय के लिए एक बड़े वर्ष के परिणाम स्वरूप रैंकिंग में यह वृद्धि हुई है। केवल 2023 में ही, विश्वविद्यालय ने भारत में अग्रणी संस्थानों के साथ विज्ञान स्नातक की दोहरी डिग्री की शुरूआत की, मेलबर्न में मेलबर्न इंडिया पोस्टग्रेजुएट अकाडेमी सम्मेलन आयोजित किया, भारत में मेलबर्न ग्लोबल एम्बेसडर प्रोग्राम शुरू किया, जिसमें दिल्ली, मुंबई, बेंगलुरु और चेन्नई में 14 राजदूतों की नियुक्ति की गई, और 2024 के अंत तक 50,000 छात्रों को लक्षित करने के लिए 100 से अधिक स्कूलों में कम प्रतिनिधित्व वाले छात्रों का समर्थन करते हुए अपने भारतीय स्कूल सहभागिता कार्यक्रम का विस्तार किया। इस वर्ष के आरंभ में, विषय के आधार पर क्यूएस विश्व विश्वविद्यालय रैंकिंग ने मेलबर्न विश्वविद्यालय की सर्वोच्च रैंकिंग वाले ऑस्ट्रेलियाई संस्थान के रूप में पुन:पुष्टि की, जिसमें विश्लेषण किए गए सभी 53 विषय विश्व में शीर्ष 100 में शामिल थे, जो किसी भी ऑस्ट्रेलियाई विश्वविद्यालय के लिए सर्वाधिक थे, तथा इसके 20 विषय शीर्ष 25 में स्थान पाने में सफल रहे। 

Comments

Popular posts from this blog

पूर्व राष्ट्रपति रामनाथ गोविंद जी द्वारा हार्ट एवं कैंसर हॉस्पिटल का शिलान्यास होगा

22 वें ऑल इंडिया होम्योपैथिक कांग्रेस का हुआ आयोजन

सेंट पीटर्स कॉन्वेंट विद्यालय ने अपना वार्षिकोत्सव मनाया