ताइवान एक्सपो 2024 से ताइवान-भारत में सहयोग बढ़ेगा

शब्दवाणी समाचार, मंगलवार 9 जुलाई 2024, सम्पादकीय व्हाट्सप्प 8803818844, नई दिल्ली। ताइवान और भारत के बीच आर्थिक और सांस्कृतिक आदान-प्रदान का प्रमुख मंच, "ताइवान एक्सपो इन इंडिया 2024", पांच साल के अंतराल के बाद, भारत की राजधानी नई दिल्ली में फिर से हो रहा है। प्रदर्शनियों और नेटवर्किंग कार्यक्रमों के इस अग्रणी मंच (ताइवान एक्सपो इंडिया 2024) के 7वें संस्करण का उद्घाटन सोमवार, 8 जुलाई, 2024 को अंतर्राष्ट्रीय व्यापार प्रशासन (टी.आई.टी.ए.) के महानिदेशक सिंथिया किआंग (Cynthia Kiang) और ताइवान बाह्य व्यापार विकास परिषद (टैट्रा) के अध्यक्ष जेम्स हुआंग (James Huang) के नेतृत्व में हुआ। नई दिल्ली के प्रगति मैदान के भारत मंडपम, हॉल नंबर 2 में हो रहे इस एक्सपो में 120 ताइवानी कंपनियां प्रदर्शक के रुप में हिस्सा ले रही हैं। उद्घाटन समारोह में भारत के पूर्वोत्तर राज्य मिजोरम के मुख्यमंत्री श्री लालदुहावमा (Lalduhawma); मिज़ोरम से सांसद श्री रिचर्ड वानलालहमंगइहा (Richard Vanlalhmangaiha); फेडरेशन ऑफ इंडियन चैंबर्स ऑफ कॉमर्स एंड इंडस्ट्री (फिक्की) की इलेक्ट्रॉनिक्स विनिर्माण और ऊर्जा भंडारण समिति (the Electronics Manufacturing & Energy Storage Committee) के अध्यक्ष श्री मनीष शर्मा; इलेक्ट्रॉनिक इंडस्ट्रीज एसोसिएशन ऑफ इंडिया (ELCINA) के महासचिव श्री राजू गोयल, भारत में ताइपे आर्थिक और सांस्कृतिक केंद्र (टी.ई.सी.सी.) के प्रतिनिधि बाउ शॉन गेर (Bau Shuan Ger) और प्रमुख ताइवानी व्यापारिक नेताओं ने विशिष्ट अतिथियों के रुप में भाग लिया। इस कार्यक्रम में 150 से अधिक अतिथि और मीडिया कर्मी शामिल हुए।

भारत में हो रहे ताइवान एक्सपो 2024 के उद्घाटन समारोह को सम्बोधित करते हुए टेट्रा (TAITRA) के अध्यक्ष जेम्स हुआंग ने कहा कि भारत 2018 से वैश्विक विनिर्माण क्षेत्र में लगातार आगे बढ़ा है और अंतरराष्ट्रीय रुझानों के अनुरूप उत्कृष्ट सेवाएं प्रदान कर रहा है। साथ ही यह एक लोकप्रिय क्षेत्रीय विनिर्माण केंद्र के रूप में भी उभरा है। चिप निर्माण में एक मजबूत खिलाड़ी के रूप में ताइवान का लक्ष्य आपूर्ति श्रृंखला के सहनशीलता को मजबूत करना है। साथ ही जेम्स हुआंग ने आगे कहा कि ताइवान "मेक इन इंडिया" पहल के साथ पूरी तरह से समन्वय बनाते हुए एक वेफर फैब स्थापित करने के लिए भारत के साथ सहयोग करने जा रहा है। जेम्स हुआंग ने कहा कि ताइवान की ए.आई. क्षमता के साथ जुड़कर "डिजिटल इंडिया" और "स्मार्ट सिटीज" पहल ताइवान और भारत को वैश्विक प्रौद्योगिकी विनिर्माण उद्योग में नए मील के पत्थर स्थापित करने के लिए प्रेरित करेगा।

इस अवसर पर बोलते हुए टीआईटीए के महानिदेशक सिंथिया कियांग ने बताया कि भारत वर्तमान में जूते और वस्त्रों का दुनिया का दूसरा सबसे बड़ा निर्माता है। वैश्विक ब्रांडों की "चीन+1" रणनीति के प्रभावी होने के बाद, भारत आपूर्ति श्रृंखला स्थानांतरण के लिए उत्पादन आधार बनकर उभरा है। इस साल TITA ने संयुक्त विपणन प्रोत्साहन के लिए पेट्रोकेमिकल, मशीनरी और कपड़ा उद्योगों को एकीकृत करते हुए "क्रॉस-इंडस्ट्री एलायंस" का एक अभिनव दृष्टिकोण पेश किया है। इस एक्सपो में TAITRA और ताइवान टेक्सटाइल फेडरेशन ने "स्मार्ट मैन्युफैक्चरिंग पवेलियन" और "सस्टेनेबल एंड इनोवेशन टेक्सटाइल पवेलियन" की स्थापना की है, और ताइवान की औद्योगिक ऊर्जा को प्रदर्शित करने और भारत में मौजूद विशाल व्यवसाय अवसरों पर कब्जा करने के लिए पेट्रोकेमिकल, जूता विनिर्माण और कपड़ा प्रसंस्करण में ताइवान के बुद्धिमत्तापूर्ण और कुशल समाधानों का प्रदर्शन कर रहे हैं।

उद्घाटन समारोह में बोलते हूए भारत में ताइपे आर्थिक और सांस्कृतिक केंद्र (टी.ई.सी.सी.) के प्रतिनिधि बाउ शुआन गेर ने विश्वास व्यक्त किया कि ताइवान और भारत के बीच लंबे समय से चली आ रही साझेदारी लगातार जारी रहेगी और यह गतिशील वैश्विक बाजार को और प्रभावित करेगी। उद्घाटन समारोह में शामिल हुए मिजोरम के मुख्यमंत्री श्री लालदुहावमा ने एक महत्वपूर्ण वैश्विक औद्योगिक केंद्र के रूप में ताइवान की भूमिका पर प्रकाश डाला और दोनों देशों के बीच भविष्य के द्विपक्षीय सहयोग की असीमित क्षमता को रेखांकित किया।

न्यू ताइपे सिटी के कम्पनियों को भारतीय बाजार में विस्तार करने में मदद करने के लिए न्यू ताइपे सिटी सरकार के उप महापौर चू, तिह-जू (Chu, Tih-Ju) और न्यू ताइपे सिटी सरकार के आर्थिक विकास विभाग के आयुक्त एमी हो (Amy Ho) ने भारत में हो रहे ताइवान एक्सपो 2024 में "न्यू ताइपे सिटी पवेलियन" की स्थापना करने में 20 प्रसिद्ध कम्पनियों का नेतृत्व किया। स्मार्ट शहरों, इलेक्ट्रॉनिक्स और मशीनरी विनिर्माण, स्मार्ट हेल्थकेयर और ई-स्पोर्ट्स पर केंद्रित, यह न्यू ताइपे सिटी पवेलियन भारत की औद्योगिक जरूरतों और हरित रुपांतरण के अवसरों पर लक्षित है।

एक्सपो के पहले दिन दोपहर में TAITRA ने "ताइवान-जापान बिजनेस कोऑपरेशन सेमिनार और भारत में मैचमेकिंग" आयोजित किया। इस कार्यक्रम में भाग लेते हुए जापान एक्सटर्नल ट्रेड ऑर्गनाइजेशन (JETRO) के नई दिल्ली कार्यालय, प्रमुख जापानी व्यापारिक कंपनियों सुमितोमो और मारुबेनी, जापानी कंपनियों पैनासोनिक, डेल्टा इलेक्ट्रॉनिक्स और अहमानी के प्रतिनिधियों ने भारतीय बाजार के अपने अपने अनुभव को साझा किया। इसके बाद हुई व्यावसायिक बैठक में इलेक्ट्रॉनिक्स, स्मार्ट मोबिलिटी और स्मार्ट विनिर्माण उद्योगों पर ध्यान केंद्रित किया गया, जिसमें ताइवान, जापान और भारत के बीच त्रिपक्षीय सहयोग के अवसरों की तलाश की गई। इस कार्यक्रम को भारत में टी.ई.सी.सी. (TECC) के उप प्रतिनिधि रॉबर्ट हसिह और जापान के दूतावास के मंत्री (आर्थिक और विकास) क्योको होकुगो ने सम्बोधित किया।

नई दिल्ली के प्रगति मैदान में 8 से 10 जुलाई तक हो रही भारत केंद्रित ताइवान एक्सपो 2024, ताइवान की कंपनियों को नई दिल्ली में अपने अग्रणी उत्पादों को प्रदर्शित करने का एक प्रमुख अवसर प्रदान करती है। इस वर्ष के एक्सपो में इलेक्ट्रॉनिक्स विनिर्माण, चिकित्सा और जैव प्रौद्योगिकी, स्मार्ट जीवन शैली और स्मार्ट विनिर्माण जैसे प्रमुख आर्थिक क्षेत्रों से 12 मंडप शामिल हैं, जो अपने विविध उत्पादों के साथ विजिटर्स को इंटरैक्टिव अनुभव प्रदान करते हैं। इस आयोजन का आकार पिछले साल मुंबई में हुए आयोजन की तुलना में 1.6 गुना बड़ा है, और इसमें उद्यमों और व्यवसायों की भागीदारी लगभग कोरोना महामारी के पूर्व के स्तर पर पहुंच गई है। एक्सपो में ताइवान के केंद्रीय मंत्रालयों, स्थानीय सरकारों और उद्योग संघों द्वारा आयोजित हाइलाइट मंडप, भारतीय बाजार के महत्व को रेखांकित करते हैं। एक्सपो के पवेलियनों में पर्यटन को बढ़ावा देने वाले ताइवान विजिटर्स एसोसिएशन और हाई-टेक स्मार्ट समाधान और अलोट (AloT) उत्पादों को प्रदर्शित करने वाले ताइपे कंप्यूटर एसोसिएशन का इनोवेशन पवेलियन उल्लेखनीय उदाहरण हैं।

Comments

Popular posts from this blog

पूर्व राष्ट्रपति रामनाथ गोविंद जी द्वारा हार्ट एवं कैंसर हॉस्पिटल का शिलान्यास होगा

22 वें ऑल इंडिया होम्योपैथिक कांग्रेस का हुआ आयोजन

सेंट पीटर्स कॉन्वेंट विद्यालय ने अपना वार्षिकोत्सव मनाया